मुख्य समाचार:

दिसंबर में सर्विस सेक्टर की रफ्तार क्यों पड़ी सुस्त? लेकिन नई नौकरियों में आई तेजी

निक्केई इंडिया सर्विसेज व्यापार गतिविधि सूचकांक गिरकर दिसंबर में 53.2 पर आ गया.

January 4, 2019 3:03 PM
India's services sector activity, services PMI in december 2018, Nikkei India Services Business Activity Index, PMI, manufacturing PMI, new business, Jobs in india, Jobs, business sentimentsनिक्केई इंडिया सर्विसेज व्यापार गतिविधि सूचकांक गिरकर दिसंबर में 53.2 पर आ गया.

Service PMI in December 2019 : देश की सर्विस सेक्टर की गतिविधियों में दिसंबर में थोड़ी गिरावट आई है. नए कारोबारी ऑर्डर की संख्या घटने और कारोबारी गतिविधियों में सुस्ती इसकी वजह रही. हालांकि, इस दौरान रोजगार सृजन में महत्वपूर्ण तेजी दर्ज की गई है. एक मासिक सर्वे में शुक्रवार को यह बात कही गई है.

निक्केई इंडिया सर्विसेज व्यापार गतिविधि सूचकांक गिरकर दिसंबर में 53.2 पर आ गया. नवंबर में यह 53.7 पर था. गतिविधियों में मामूली सुस्ती के बावजूद सर्विस सेक्टर के पीएमआई ने लगातार सातवें महीने विस्तार दर्शाया. पीएमआई के तहत 50 से अधिक का मतलब विस्तार और उससे कम अंक सुस्ती को बताता है.

आईएचएस मार्किट की प्रिंसिपल इकोनॉमिस्ट और रिपोर्ट की लेखिका पॉलीयाना डी लीमा ने कहा, “नए बिजनेस और रोजगार में वृद्धि से भारत के सर्विस सेक्टर में दिसंबर में कारोबारी गतिविधियां सकारात्मक स्तर पर बनी रहीं. हालांकि, 2018 के अंत में नए नौकरियों को छोड़कर अन्य क्षेत्रों में विस्तार की गति थोड़ी धीमी रही.”

सर्वे में कहा गया है कि बिजनेस सेंटीमेंट बढ़कर दिसंबर में तीन महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है.

लीमा ने कहा, “बिजनेस सेंटीमेंट में लगातार दूसरे महीने सुधार के चलते सर्विस सेक्टर 2019 में भी वृद्धि के लिए तैयार है. हालांकि, चुनावों से पहले इसमें कुछ गिरावट की आशंका जताई गई है.”

इस बीच, निक्केई इंडिया कंपोजिट पीएमआई उत्पादन सूचकांक नवंबर में 54.5 से गिरकर दिसंबर में 53.6 पर आ गया. नवंबर में यह 25 महीने के उच्चतम स्तर पर था. यह सूचकांक मैन्युफैक्चरिंग और सर्विस सेक्टर दोनों की गतिविधियों को दर्शाता है. प्राइस के मोर्चे पर इसमें कहा गया है कि सर्विस प्रोवाइडर्स की लागत आधारित महंगाई दर लगातार तीसरे महीने कमजोर रही.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. दिसंबर में सर्विस सेक्टर की रफ्तार क्यों पड़ी सुस्त? लेकिन नई नौकरियों में आई तेजी

Go to Top