मुख्य समाचार:

COVID-19 Vaccine: सीरम इंस्टीट्यूट का मेगा प्लान, वैक्सीन के हर मिनट 500 डोज बनाने की तैयारी

एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन तैयार होने पर उसका उत्पादन भारत की सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) करेगी.

Updated: Aug 02, 2020 8:38 PM
Serum Institute of india announced a plan to make hundreds of millions of doses of covid19 vaccine, serum's assembly lines are being readied to crank out 500 doses of corona vaccine each minuteवैक्सीन की रेस में सबसे आगे एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित की जा रही वैक्सीन है.

COVID-19 Vaccine Updates: कोरोनावायरस की वैक्सीन बनाने की रेस में भारत समेत दुनियाभर की कई कंपनियां लगी हुई हैं. कुछ वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल्स अंतिम चरण में हैं, तो कई ने अभी इन ट्रायल्स को शुरू ही किया है. वैक्सीन की रेस में सबसे आगे एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित की जा रही वैक्सीन है, जो ह्यूमन ट्रायल्स के तीसरे चरण में है. एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन तैयार होने पर उसका उत्पादन भारत की सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) करेगी. पुणे स्थित सीरम वैक्सीन बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी क्ंपनी है. सीरम के सीईओ अदार पूनावाला ने वैक्सीन के फाइनल स्टेज के रिजल्ट आने से पहले ही दावा कर दिया है कि वैक्सीन के सैकड़ों करोड़ डोज करेगी.

सीरम इंस्टीट्यूट ने अप्रैल में ही वैक्सीन के मास प्रॉडक्शन का दावा कर दिया था. अब कंपनी अपनी असेंबली लाइन को प्रति मिनट 500 डोज का उत्पादन करने के लिए तैयार कर रही है.सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को उम्मीद है कि इस साल अक्टूबर/नवंबर तक कोविड-19 की वैक्सीन बन जाएगी. पूनावाला ने एक इंटरव्यू में कहा था कि एस्ट्रोजेनेका की वैक्सीन तैयार होने पर दिसंबर तक वैक्सीन के 30-40 करोड़ डोज बना लिए जाएंगे. उन्होंने यह भी कहा था कि सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा वैक्सीन के कुल प्रॉडक्शन में से 50 फीसदी भारत के लिए होगा और बाकी 50 फीसदी अन्य देशों के लिए.

COVID-19: गृह मंत्री ​अमित शाह को हुआ कोरोना, अस्पताल में होंगे भर्ती

अभी से आने लगे हैं देश-विदेश से फोन

अगर एस्ट्राजेनेका वैक्सीन कामयाब रहती है तो अदार पूनावाला को पूरी दुनिया से कितने लोग कॉन्टैक्ट करेंगे, इसका अंदाजा लगाना भी मुश्किल है. उनके हाथ में वह चीज होगी, जिसकी पूरी दुनिया की जरूरत है. पूनावाला को अभी से कई लोगों के फोन आने लगे हैं. उनका कहना है कि वैक्सीन की पहली खेप के लिए मेरे पास देश विदेश से स्वास्थ्य मंत्रियों, प्रधानमंत्रियों व अन्य स्टेट हेड्स और ऐसे दोस्तों के फोन आ रहे हैं, जिनका सालों से उनसे कोई कॉन्टैक्ट नहीं था. पूनावाला के मुताबिक, मुझे मुझे समझाना पड़ता है कि मैं ऐसे ही आपको वैक्सीन नहीं दे सकता हूं.

भारत में 1000 रु के आसपास रह सकती है कीमत

पूनावाला ने कहा था कि वैक्सीन की कीमत कम से कम रखी जाएगी और इस पर शुरुआत में प्रॉफिट नहीं लिया जाएगा. भारत में इसकी कीमत 1000 रुपये के आसपास या इससे कम हो सकती है. पूनावाला के मुताबिक, वैक्सीन की अधिकतर खरीद सरकारों द्वारा होगी, लिहाजा उम्मीद है कि लोगों को यह इम्यूनाइजेशन प्रोग्राम के जरिए फ्री में मिलेगी.

Source: New York Times

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. COVID-19 Vaccine: सीरम इंस्टीट्यूट का मेगा प्लान, वैक्सीन के हर मिनट 500 डोज बनाने की तैयारी

Go to Top