मुख्य समाचार:

डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट्स, स्टॉक ब्रोकर्स को राहत; डीमैट रिक्वेस्ट, KYC प्रोसेसिंग के नियमों में SEBI ने दी ढील

सेबी ने डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट्स, स्टॉक ब्रोकर्स और शेयर ट्रांसफर एजेंट्स के लिए डीमैट रिक्वेस्ट व केवाईसी एप्लीकेशन से जुड़े अनुपालन नियमों में ढील दी है.

April 16, 2020 7:33 PM
Sebi eases compliance rules for processing of demat request, KYC applicationImage: Reuters

बाजार नियामक सेबी ने डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट्स, स्टॉक ब्रोकर्स और शेयर ट्रांसफर एजेंट्स के लिए डीमैट रिक्वेस्ट व केवाईसी एप्लीकेशन से जुड़े अनुपालन नियमों में ढील दी है. सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (Sebi) ने एक सर्कुलर में कहा है कि यह ढील 3 मई 2020 तक के लिए है. अनुपालन में ढील इश्युअर या रजिस्ट्रार ऑफ शेयर ट्रांसफर एजेंट (RTA) और डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट्स द्वारा डीमैट रिक्वेस्ट फॉर्म की प्रोसेसिंग से जुड़ी है.

नियमों के तहत इश्युअर या RTA द्वारा डीमैट रिक्वेस्ट फॉर्म की प्रोसेसिंग 15 दिनों के अंदर पूरी करने की जरूरत होती है. वहीं डिपॉजटरी पार्टिसिपेंट्स द्वारा यह प्रोसेस 7 दिनों में पूरी होने की जरूरत होती है. सेबी ने कहा है कि 23 मार्च से 17 मई तक की अवधि को अनुपालन की मौजूदा समयावधि की गणना से बाहर रखा जाएगा. इसके आगे रजिस्टर्ड इंटरमीडियरीज को बैकलॉग क्लियर करने के लिए 17 मई के बाद 15 दिन की समयावधि दी जाएगी.

कोरोना संकट में भी RIL भरेगा निवेशकों की जेब: टॉप ब्रोकरेज ने कहा- शेयर में आउटपरफॉर्म करने की पूरी क्षमता

KYC एप्लीकेशन के मामले में यह छूट

इसके अलावा सेबी ने क्लाइंट के केवाईसी एप्लीकेशन फॉर्म और सपोर्टिंग डॉक्युमेंट्स के लिए दिशानिर्देशों में भी ढील दी है. केवाईसी फॉर्म और सपोर्टिंग डॉक्युमेंट्स को केवाईसी रजिस्ट्रेशन एजेंसी के सिस्टम पर 10 ​कामकाजी दिनों के अंदर अपलोड होने की जरूरत होती है. सेबी ने यह फैसला कोविड19 की वजह से उपजे हालात, लॉकडाउन के आगे बढ़ने और डिपॉजिटर्स की ओर से मिले रिप्रेजेंटेशंस के आधार पर लिया है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट्स, स्टॉक ब्रोकर्स को राहत; डीमैट रिक्वेस्ट, KYC प्रोसेसिंग के नियमों में SEBI ने दी ढील
Tags:Sebi

Go to Top