सर्वाधिक पढ़ी गईं

GDP Growth Project: FY22 में कोरोना पूर्व की रीयल जीडीपी हो जाएगी पीछे, इन कारणों से एसबीआई ने बढ़ाया ग्रोथ अनुमान

GDP Growth Project: देश के सबसे बैंक SBI ने अपनी रिपोर्ट में अनुमान लगाया है कि चालू वित्त वर्ष 2021-22 में भारतीय जीडीपी 9.3-9.6 फीसदी की दर से बढ़ सकती है.

Updated: Nov 22, 2021 1:50 PM
SBI projects India GDP to grow in Q2 this financial year and real gdp of fy22 cross fy20 levelतीसरी तिमाही में आर्थिक गतिविधियों में तेजी के चलते एसबीआई की रिसर्च टीम ने ग्रोथ अनुमान में बढ़ोतरी की है. (File Photo- IE)

GDP Growth Project: देश के सबसे बैंक एसबीआई (SBI) की इकोनॉमिक रिसर्च टीम ने अपनी रिपोर्ट में अनुमान लगाया है कि चालू वित्त वर्ष 2021-22 में भारतीय जीडीपी 9.3-9.6 फीसदी की दर से बढ़ सकती है. इससे पहले बैंक का अनुमान 8.5-9 फीसदी ही था. इसके अलावा चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही सितंबर 2021 में 8.1 फीसदी से जीडीपी बढ़ने का अनुमान है.

एसबीआई के चीफ इकोनॉमीक एडवाइजर सौम्य कांति घोष द्वारा तैयार की गई इस रिपोर्ट के मुताबिक देश की वास्तविक जीडीपी चालू वित्त वर्ष में कोरोना से पहले के वित्त वर्ष 2019-20 की 145.69 लाख करोड़ रुपये से करीब 2.4 लाख करोड़ रुपये अधिक हो जाएगी. एसबीआई ने चालू वित्त वर्ष के लिए जीडीपी ग्रोथ का जो अनुमान लगाया है, वह आरबीआई के अनुमान के बराबर है. केंद्रीय बैंक आरबीआई ने अनुमान लगाया है कि वित्त वर्ष 2022 में देश की जीडीपी 9.5 फीसदी की दर से बढ़ सकती है.

BitCoin City: अल साल्वाडोर में बनेगी दुनिया की पहली ‘बिटक्वाइन सिटी’, ज्वालामुखी से इस शहर को होगी पॉवर सप्लाई

इस कारण बढ़ाया ग्रोथ अनुमान

रिपोर्ट के मुताबिक तीसरी तिमाही में आर्थिक गतिविधियों में तेजी के चलते एसबीआई की रिसर्च टीम ने ग्रोथ अनुमान में बढ़ोतरी की है. रिपोर्ट के मुताबिक आर्थिक गतिविधियां कोरोना महामारी से पहले के स्तर के करीब पहुंच चुकी है. इस वर्ष 2021 की तीसरी तिमाही जुलाई -सितंबर 2021 में वैश्विक स्तर पर कोरोना का खतरा एक बार फिर बढ़ा लेकिन भारत में इसका संक्रमण, सप्लाई चेन और महंगाई जैसे कारकों पर असर नहीं पड़ा. देश में कोरोना के एक्टिव मामलों का संख्या 1.24 लाख रह गई जो जून 2020 के बाद से सबसे कम है. देश में वैक्सीनेशन की स्थिति भी बेहतर है और 115 करोड़ डोज लगाई जा चुकी है. वैक्सीनेशन के लिए एलिजिबिल लोगों में 81 फीसदी को कम से कम एक डोज लग चुकी है जबकि 42 फीसदी को दोनों डोज. इन सबको देखते हुए एसबीआई की रिसर्च टीम ने जीडीपी ग्रोथ के अनुमान में बढ़ोतरी की है.

Zero Coupon Bonds: बिना ब्याज पाए भी निवेश पर शानदार रिटर्न, जानिए क्या होते हैं जीरो कूपन बॉन्ड्स?

वैश्विक स्तर पर क्या रही स्थिति

रिपोर्ट के मुताबिक कई देशों में कोरोना महामारी का खतरा फिर बढ़ने पर सप्लाई की दिक्कतें आई और उत्पादन पर भी असर पड़ा. जुलाई-सितंबर 2021 में अमेरिकी जीडीपी ग्रोथ सालाना आधार पर 12.2 फीसदी से गिरकर 4.9 फीसदी पर आ गई. चीन में भी स्थिति बेहतर नहीं रही और सितंबर तिमाही में जीडीपी ग्रोथ सालाना आधार पर उत्पादन प्रभावित होने के चलते 7.9 फीसदी से फिसलकर 4.9 फीसदी पर आ गई. एसबीआई की रिसर्च टीम ने भारत के अलावा अमेरिका, ब्रिटेन, चीन,रूस, जापान समेत 28 देशों के जीडीपी ग्रोथ का आकलन किया और इसके मुताबिक इन देशों की जीडीपी सालाना आधार पर जून तिमाही पर 12.1 फीसदी की दर से बढ़ी थी लेकिन सितंबर तिमाही में 4.5 फीसदी की दर से.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. GDP Growth Project: FY22 में कोरोना पूर्व की रीयल जीडीपी हो जाएगी पीछे, इन कारणों से एसबीआई ने बढ़ाया ग्रोथ अनुमान

Go to Top