मुख्य समाचार:

SBI और LIC बनेंगे YES बैंक के संकटमोचक! 490 करोड़ में खरीद सकते हैं हिस्सेदारी

Yes Bank Rescue Plan: SBI और LIC यस बैंक में 49 फीसदी हिस्सेदारी खरीद सकते हैं.

March 5, 2020 6:57 PM
SBI may buy stake in Yes Bank, yes bank rescue plan, SBI, yes bank stock rose, SBI stock tank. capital crisis in yes bank, यस बैंक, स्टेट बैंक आफ इंडियाSBI और LIC यस बैंक में 49 फीसदी हिस्सेदारी खरीद सकते हैं.

Yes Bank Rescue Plan: SBI और LIC यस बैंक में 49 फीसदी हिस्सेदारी खरीद सकते हैं. ET NOW की रिपोर्ट के मुताबिक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया और जीवन बीमा निगम यस बैंक में यह हिस्सेदारी प्रिफ्रेंशियल शेयर के जरिए 2 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से कुल 490 करोड़ रुपये में खरीदेंगे. SEBI ने इस संबंध में SBI को खुला ऑफर देने के लिए भी मंजूरी दे दी है. इससे पहले सरकार ने एसबीआई और दूसरे सरकारी समर्थित वित्तीय संस्थानों को कैपिटल के संकट से जूझ रहे यस बैंक का टेकओवर करने की मंजूरी दी थी.

बता दें कि कैपिटल के संकट से जूझ रहे यस बैंक के भविष्य पर तमाम तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं. इस संकट के चलते प्राइवेट बैंक ने अपने दिसंबर 2019 के तिमाही नतीजों को भी टाल दिया है. सरकार की मंजूरी देने की रिपोर्ट्स के बाद एसबीआई के शेयर में 1.05 फीसदी की तेजी देखी गई.

यस बैंक ने शेयर बाजार को दिए अपने स्पष्टीकरण में कहा कि वे सेबी की रेगुलेशन के मुताबिक जरूरत पड़ने पर खुलासा करेंगे.

एसबीआई ने पहले भी दिए थे संकेत

इस साल जनवरी महीने में यस बैंक को लेकर सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक आफ इंडिया (SBI) के चेयरमैन रजनीश कुमार का बड़ा बयान आया था. उन्होंने कहा है कि यस बैंक को लेकर जल्द ही कोई समाधान निकाला जा सकता है. रजनीश कुमार का कहना था कि यस बैंक मार्केट का बड़ा खिलाड़ी है. मुझे ऐसा लगता है कि बैंक को डूबने नहीं दिया जाएगा. हालांकि पिछले साल रजनीश कुमार ने ही कहा था कि यस बैंक खरीदने के लिए हमारे पास पर्याप्त पूंजी नहीं है.

यस बैंक में 29 फीसदी तेजी

यस बैंक के रेसक्यू प्लान मंजूर होने की खबरों के बीच आज बैंक के शेयरों में तेजी है. यस बैंक का शेयर आज करीब 29 फीसदी की तेजी है और यह 37.85 रुपये के भाव पर पहुंच गया. बुधवार को शेयर 29.30 रुपये के भाव पर बंद हुआ था. यस बैंक का 52 हफ्तों का लो 28.05 रुपये है जो 5 मार्च को ही देखा गया. वहीं 52 हफ्तों का हाई 285.90 रुपये है जो 3 अप्रैल 2019 को बना था.

फंड जुटाने के प्लान पर सवालिया निशान

कैपिटल की कमी से जूझ रहे यस बैंक ने इससे उबरने के लिए फंड जुटाने का प्लान बनाया था, जिस पर सवालिया निशान लगे हुए हैं. इस बारे में अबतक स्थिति साफ नहीं हो पाई है. यस बैंक की बैलेंसशीट अभी भी बेहतर स्थिति में है. वहीं इसका मार्केट कैप 8,467.57 करोड़ रुपये रह गया है. कासा 30.2 फीसदी है तो नेट इंटरेस्ट मार्जिन 2.8 फीसदी है. देशभर में बैंक की करीब 1000 शाखाएं और 1800 के करीब एटीएम हैं.

1 साल में यस बैंक का शेयर 88% टूटा

लगातार निगेटिव खबरों के बीच रहे यस बैंक के शेयरों में पिछले 1 साल में अच्छी खासी गिरावट आ चुकी है. इस दौरान यह 88 फीसदी टूट गया है. 6 मार्च 2019 को शेयर का भाव 237 रुपये था, जो 4 मार्च 2020 को 29 रुपये पर बंद हुआ. पूंजी संकट से लेकर मैनेजमेंट तक काक लेकर यस बेंक की निगेटिव खबरें लगातार आती रही हैं. इस दौरान बैंक की एसेट क्वालिटी को लेकर लगातार चिंताएं बढ़ती गई हैं. वहीं, फंड रेजिंग को लेकर भी अनिश्चितता बनी हुई है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. SBI और LIC बनेंगे YES बैंक के संकटमोचक! 490 करोड़ में खरीद सकते हैं हिस्सेदारी

Go to Top