सर्वाधिक पढ़ी गईं

शेयर बाजार में SBI का दिखेगा दम! साल 2021 में निवेशकों को मिल सकता है 21% रिटर्न

SBI Stock Outlook: साल 2021 में किसी दमदार शेयर की तलाश में हैं तो एसबीआई आपके लिए बेहतर दांव हो सकता है.

January 5, 2021 8:37 AM
Narang said barring a few large entities, the cost of deposits for private banks is typically higher than that for public sector banks (PSBs).Narang said barring a few large entities, the cost of deposits for private banks is typically higher than that for public sector banks (PSBs).

SBI/Brokerage Favourite Stocks: साल 2021 में किसी दमदार शेयर की तलाश में हैं तो एसबीआई आपके लिए बेहतर दांव हो सकता है. साल 2020 में दबाव में रहे इस शेयर में इस साल 21 फीसदी रिटर्न मिल सकता है. ब्रोकरेज हाउस एमके ग्लोबल ने शेयर के लिए 2021 में 340 रुपये का लक्ष्य तय किया है. अभी शेयर का करंट प्राइस 280 रुपये के आस पास है. ब्रोकरेज हाउस का कहना है कि देश की अर्थव्यवस्था में रिकवरी होने से एसबीआई विनर हो सकता है. बैंक का मार्केट शेयर और बढ़ेगा. वह अपने क्षेत्र में दूसरे बैंकों से बेहतर पोजिशन पर है. साल 2018 से ही बैंक की एसेट क्वालिटी लगातार बेहतर हो रही है. वहीं कोविड 19 का दबाव अब बैंक से पूरी तरह से दूर होता दिख रहा है.

GNPA 2018 के बाद से लगातार कम

ब्रोकरेज हाउस एमके ग्लोबल के अनुसार SBI का GNPA 2018 के बाद से लगातार कम होकर 5.3% पर आ गया है. यह सरकारी बैंकों में सबसे कम है और निजी बैंकों की बात करें तो ICICI बैंक से बेहतर है. कोविड 19 के बाद से बैंक पर दबाव कम हुआ है. रिटेल बुक अब मजबूत हो रहा है. अच्छी बात है कि कॉरपोरेट एनपीए में भी सुधार हो रहा है. कोविड 19 प्रोविजनिंग बफर 7100 करोड़ का है जो कुल लोन का 0.31 फीसदी है.

दूसरे बैंकों से बेहतर प्रदर्शन

पिछले कई सालों से लगातार SBI ने क्रेडिट और डिपॉडिट के मामले में दूसरे सरकारी बैंको से बेहतर प्रदर्शन किया है. बेहतर मैनेडमेंट के साथ बिजनेस ऑर प्रॉफिट ड्राइवर्स पर रणनीति के साथ फोकस करने का फायदा बैंक को मिला है. ब्रोकरेज हाउस ने FY2022 और FY2023 के लिए SBI के क्रेडिट ग्रोथ के अनुमान को बढ़ाकर 10 फीसदी और 14 फीसदी कर दिया है जो पहले 8 फीसदी और और 12 फीसदी था.

रिटेल ग्रोथ प्री कोविड के लेवल पर

रिपोर्ट के अनुसार अब रिटेल ग्रोथ प्री कोविड के लेवल पर पहुंच रहा है. ऐसा होम लोन और आटो लोन में लीडरशिप पोजिशन की वजह से हुआ है. कॉरपोरेट क्रेडिट में भी सुधार होने की उम्मीद है. SBI की अच्छी साख के साथ बेहतर लोन बुक है. रिस्क एडजस्टेड रिटर्न में सुधार के साथ मार्केट में लाडरशिप पोजिशन को बनाए रखते हुए प्रॉफिट पर फोकस करने का फायदा मिलेगा.

दूसरी तिमाही में भी दमदार प्रदर्शन

दूसरी तिमाही में एडवांस में सालाना आधार पर 7 फीसदी की ग्रोथ रही है. रिटेल लोन सालाना आधार पर 14.5 फीसदी बढ़ा है. होम लोन में सालाना आधार पर 10 फीसदी ग्रोथ रही. SBI को वित्त वर्ष 2020-21 की सितंबर तिमाही में 4574 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है. ब्याज आय 28181 करोड़ रुपये रही है. बैंक ने मुनाफा, कैपिटल एडक्वेसी, प्रोविजन कवरेज रेशियो आदि में सुधार दर्ज किया है. दूसरी तिमाही में बैंक का नेट एनपीए रेशियो 1.59 फीसदी रहा, जो सालाना आधार पर 120 बीपीएस और तिमाही आधार पर 27 बीपीएस कम है. ग्रॉस एनपीए रेशियो 5.28 फीसदी रहा, जो सालाना आधार पर 191 बीपीएस और तिमाही आधार पर 16 बीपीएस कम है.

(नोट: हमने यहां जानकारी ब्रोकरेज हाउस की रिपोर्ट के आधार पर दी है. बाजार के जोखिम को देखते हुए निवेश के पहले एक्सपर्ट की राय लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. शेयर बाजार में SBI का दिखेगा दम! साल 2021 में निवेशकों को मिल सकता है 21% रिटर्न
Tags:SBI

Go to Top