सर्वाधिक पढ़ी गईं

SBI ने ओवरसीज बांड से जुटाए 4391 करोड़ रुपये, दुनियाभर से मिला अच्छा रिस्पांस

SBI International Public Bond: एसबीआई ने अपने लंदन ब्रांच के जरिए 1.8 फीसदी कूपन रेट पर रेगुलेशन एस बांड से 60 करोड़ डॉलर (4,391 करोड़ रुपये) जुटाए हैं.

January 7, 2021 2:46 PM
SBI International Public Bond raises 4391 crore of regulation s bonds through sbi london branchएसबीआई के बांड ऑफर को दुनिया भर से बेहतर रिस्पांस मिला है.

SBI International Public Bond: भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने अपने लंदन ब्रांच के जरिए 1.8 फीसदी कूपन रेट पर रेगुलेशन एस बांड से 60 करोड़ डॉलर (4,391 करोड़ रुपये) जुटाए हैं. बांड को 5 साल के ट्रेजरी बांड के अगेन्स्ट बेंचमार्क किया गया है और इसकी प्राइस 1.40 फीसदी के स्प्रेड पर निर्धारित की गई है. यह बांड एसजीएक्स-एसटी (सिंगापुर एक्सचेंज- सिक्योरिटी ट्रेडिंग) और इंडिया आईएनएक्स (इंडिया इंटरनेशनल एक्सचेंज) पर लिस्टेड किया जाएगा. एसबीआई ने इसके जरिए करीब दो साल के बाद इंटरनेशनल पब्लिक बांड मार्केट्स में वापसी की है. कोरोना महामारी की शुरुआत के बाद से किसी भारतीय शेड्यूल्ड कॉमर्शियल बैंक द्वारा यह पहला पब्लिक यूएसडी बांड इश्यू किया गया है.

दुनिया भर से मिला बेहतर रिस्पांस

एसबीआई के इस ऑफर को दुनिया भर से बेहतर रिस्पांस मिला. इसकी मांग इतनी रही कि 210 करोड़ डॉलर (15.4 हजार करोड़) के ऑर्डर बुक हुए. इस मांग के कारण इसकी प्राइस में 35 बीपीएस की कमी, टी+175 बीपीएस से टी+बीपीएस, की गई यानी कि किसी भारतीय इशूअर के द्वारा 5.5 साल के लिए यह सबसे कम कूपन पर इशू करने की उपलब्धि एसबीआई को मिली. अनुमान लगाया जा रहा है मूडीज से इसे बीएएए3, स्टैंडर्ड एंड पुअर्स (S&P) से बीबीबी माइनस और फिच से बीबीबी माइनस की रेटिंग मिल सकती है. एसबीआई के डिप्टी एमडी (इंटरनेशनल बैंकिंग ग्रुप) सी वेंकट नागेश्वर ने कहा कि हाई वोलैटिलिटी के इस माहौल में भी दुनिया भर के फिक्स्ड इनकम वाले निवेशकों से फंड जुटाए हैं जिससे भारतीय बैंकिंग सेक्टर में वैश्विक निवेशकों का भरोसा साबित होता है. नागेश्वर के मुताबिक इससे वैश्विक निवेशकों का भरोसा एसबीआई में दिखता है.

यह भी पढ़ें- 5 साल में बिटक्वॉइन ने 1 लाख को बनाया 93 लाख

देश का सबसे बड़ा कॉमर्शियल बैंक

एसेट्स, डिपॉजिट्स, ब्रांचेज, कस्टमर्स और एंप्लाईज के मामले में एसबीआई देश का सबसे बड़ा कॉमर्शियल बैंक है. इसके अलावा यह देश का सबसे बड़ा मॉर्टेगेज लेंडर है. 30 सितंबर 2020 तक बैंक के पास 34 लाख करोड़ का डिपॉजिट बेस था जिसका सीएएसओ रेशियो 45 फीसदी से अधिक था और 24 लाख करोड़ रुपये से अधिक एडवांस था. सीएएसओ रेशियो चालू खाते व बचत खाते में जमा रकम और कुल जमा का अनुपात है और इससे बैंक की प्रॉफिटेबिलिटी पता चलती है. होम लोन की बात करें तो इसमें एसबीआई का मार्केट शेयर 34 फीसदी है और ऑटो लोन सेग्मेंट में एसबीआई की हिस्सेदारी 32 फीसदी है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. SBI ने ओवरसीज बांड से जुटाए 4391 करोड़ रुपये, दुनियाभर से मिला अच्छा रिस्पांस
Tags:SBI

Go to Top