सर्वाधिक पढ़ी गईं

Sapphire Foods का IPO दूसरे दिन अब तक 56 फीसदी सब्सक्राइब, जानें निवेश को लेकर क्या है एक्सपर्ट्स की राय

इश्यू को दूसरे दिन अब तक 96.63 लाख शेयरों के ऑफर साइज के मुकाबले 54.56 लाख इक्विटी शेयरों के लिए बोलियां मिलीं है.

Updated: Nov 10, 2021 12:39 PM
Sapphire Foods IPO: KFC, Pizza Hut operator subscribed 54% so far on day 2Sapphire Foods India के आईपीओ को बोली प्रक्रिया के दूसरे दिन अब तक 56 फीसदी सब्सक्रिप्शन मिल चुका है.

Sapphire Foods IPO: केएफसी (KFC) और पिज्जा हट (Pizza Hut) चलाने वाली कंपनी सफायर फूड्स इंडिया (Sapphire Foods India) के आईपीओ को बोली प्रक्रिया के दूसरे दिन अब तक 56 फीसदी सब्सक्रिप्शन मिल चुका है. इश्यू को अब तक 96.63 लाख शेयरों के ऑफर साइज के मुकाबले 54.56 लाख इक्विटी शेयरों के लिए बोलियां मिलीं है. रिटेल इन्वेस्टर्स के लिए आरक्षित हिस्से में 2.97 गुना सब्सक्रिप्शन देखा गया, जबकि नॉन-इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स के आरक्षित हिस्से को सिर्फ 6 फीसदी सब्सक्राइब किया गया. क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स (QIB) ने अपने लिए आरक्षित 52.70 लाख शेयरों के मुकाबले 82,728 शेयरों के लिए बोली लगाई, यानी यह दो फीसदी सब्सक्राइब हुआ.

Sapphire Foods एक ओमनी चैनल (omni-channel) रेस्तरां ऑपरेटर होने के साथ ही भारतीय उप महाद्वीप में यम ब्रांड्स की सबसे बड़ी फ्रेंचाइजी कंपनी है. यह देश में केएफसी, पिज्जा हट और टैको बेल जैसे ब्रांड्स के रेस्तरां चलाती है. 31 मार्च, 2021 तक उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक इसके पास भारत और मालदीव में 204 केएफसी रेस्तरां हैं. भारत श्रीलंका और मालदीव में इसके पास 231 पिज्जा हट हैं. श्रीलंका में इसके पास दो Taco Bell रेस्तरां हैं. श्रीलंका में यह सबसे बड़ी इंटरनेशनल क्यूएसआर (क्विस सर्विस रेस्टोरेंट) चेन है. भारतीय उपमहाद्वीप में सफायर फूड्स के रेस्तरां की संक्या 2019 में 376 से बढ़कर 2021 में 437 हो गई.

एक्सपर्ट्स की राय

  • आईसीआईसीआई डायरेक्ट रिसर्च के रिसर्च एनालिस्ट संजय मन्याल और हितेश टौंक ने आईपीओ को ‘Unrated’ रेटिंग दी है. सफायर फूड्स के पास रेस्तरां चालने के अपने पोर्टफोलियो में लीडिंग QSR ब्रांड हैं.
  • यह सोफिस्टिकेटेड गेस्ट एक्सपीरियंस सर्वे (GES) सिस्टम के ज़रिए इस बात की निगरानी करता है कि रेस्तरां को लेकर उनके ग्राहकों का एक्सपीरियंस कैसा है. GES सिस्टम कस्टमर सैटिस्फैक्शन को मापने के लिए दुनिया भर में उपयोग किया जाने वाला एक थर्ड पार्टी टूल है. रिसर्च फर्म ने कहा कि जंक फूड का नकारात्मक प्रचार, नॉन-एक्सक्लूसिव फ्रैंचाइज एग्रीमेंट व टर्मिनेशन की संभावना, और क्यूएसआर सेगमेंट में हाई कंपटीशन इस आईपीओ के लिए जोखिम और चिंता की बात है.
  • मारवाड़ी फाइनेंशियल सर्विसेज के विश्लेषकों ने इश्यू को ‘सब्सक्राइब’ रेटिंग दी है क्योंकि कंपनी एक प्रमुख क्यूएसआर ब्रांड है जिसकी बाजार में पर्याप्त उपस्थिति है और विस्तार के लिए एक न्यू रेस्टोरेंट इकनॉमिक मॉडल है. इसके अलावा, यह अपने पियर्स कंपनियों की तुलना में उचित वैल्यूएशन पर उपलब्ध है.
  • रिसर्च फर्म ने कहा कि TTM (जून 2021) को इश्यू के बाद के आधार पर 1,823.74 रुपये के EBITDA को एडजस्ट करने पर विचार करते हुए, कंपनी 41.38 के EV/EBITDA पर 74,980 मिलियन रुपये के मार्केट कैप के साथ लिस्ट होने जा रही है. वहीं इसकी पियर्स कंपनी Jubilant Foodworks और Westlife Development क्रमशः 49.26 और 73.55 के EV/EBITDA पर कारोबार कर रहे हैं.

(आर्टिकल: सुरभि जैन)
(स्टोरी में दिए गए स्टॉक रिकमंडेशन संबंधित रिसर्च एनालिस्ट व ब्रोकरेज फर्म के हैं. फाइनेंशियल एक्सप्रेस ऑनलाइन इनकी कोई जिम्मेदारी नहीं लेता. पूंजी बाजार में निवेश जोखिमों के अधीन हैं. निवेश से पहले अपने सलाहकार से जरूर परामर्श कर लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Sapphire Foods का IPO दूसरे दिन अब तक 56 फीसदी सब्सक्राइब, जानें निवेश को लेकर क्या है एक्सपर्ट्स की राय
Tags:IPO

Go to Top