Route Mobile: ये स्टॉक 5 गुना कर चुका है पैसे, आगे भी 56% रिटर्न की उम्मीद, 16 महीने पहले शुरू हुई थी ट्रेडिंग

ब्रोकरेज हाउस एमके ग्लोबल ने Route Mobile के शेयर में 2330 रुपये के टारगेट के साथ निवेश की सलाह दी है. ब्रोकरेज का कहना है कि कंपनी का रेवेन्यू उम्मीद से बेहतर रहा है.

Route Mobile का शेयर निवेशकों के लिए मल्टीबैगर साबित हुआ है.

Route Mobile Stock: क्लाउंड कम्युनिकेशन सर्विसेज प्रोवाइडर रूट मोबाइल (Route Mobile) का शेयर निवेशकों के लिए मल्टीबैगर साबित हुआ है. यह शेयर अपने इश्यू प्राइस से करीब 380 फीसदी मजबूत हो चुका है. शेयर की लिस्टिंग साल 2020 में 21 सितंबर को यानी करीब 16 महीने पहले हुई थी. कम समय में शानदार रिटर्न देने के बाद भी इस शेयर में ब्रोकरेज हाउस को अभी दमदख नजर आ रहा है. ब्रोकरेज हाउस एमके ग्लोबल ने शेयर में 2330 रुपये के टारगेट के साथ निवेश की सलाह दी है. ब्रोकरेज का कहना है कि कंपनी का न्यू प्रोडक्ट से आने वाला रेवेन्यू उम्मीद से बेहतर रहा है. कंपनी ने न्यू प्रोडक्ट से आने वाले रेवेन्यू के लिए जो टारगेट बनाया था, उसके बेहद करीब है.

कितना मिल सकता है रिटर्न

ब्रोकरेज हाउस एमके ग्लोबल ने शेयर में 2330 रुपये का टारगेट दिया है. जबकि शेयर का करंट प्राइस 1496 रुपये है. इस लिहाज से प्रति शेयर 834 रुपये या करीब 56 फीसदी की ग्रोथ हासिल हो सकती है. ब्रोकरेज हाउस का कहना है कि कंपनी का न्यू प्रोडक्ट से आने वाला रेवेन्यू सालाना आधार पर 156 फीसदी और तिमाही आधार पर 67 फीसदी बढ़कर दिसंबर तिमाही के अंत में 27.7 करोड़ रुपये रहा है. यह कुल रेवेन्यू का करीब 4.9 फीसदी है. Route Mobile ने वित्त वर्ष 2022 के लिए न्यू प्रोडक्ट से आने वाले रेवेन्यू के लिए जो टारगेट रखा था, वह हासिल हो सकता है.

ओवरआल रेवेन्यू उम्मीद से बेहतर

ब्रोकरेज का कहना है कि कंपनी का ओवरआल रेवेन्यू भी उम्मीद से बेहतर रहा है. रेवेन्यू में सालाना आधार पर 46.2 फीसदी और तिमाही आधार पर 29.2 फीसदी की ग्रोथ देखने को मिली है. हालांकि मार्जिन उम्मीद से कुछ कमजोर रहा है. EBITDA मार्जिन 160bps घटकर 10.8 फीसदी रहा है. बाइलेबल ट्रांजेक्शन दिसंबर तिमाही में 1630 करोड़ रहा है, जो किसी भी तिमाही में सबसे ज्यादा है. कंपनी के आर्गेनिक वॉल्यूम में सालाना आधार पर 13 फीसदी ग्रोथ रही है.

इश्यू प्राइस से 380 फीसदी मजबूत

Route Mobile की शेयर बाजार में 21 सितंबर 2020 को लिस्टिंग हुई थी. आईपीओ के लिए इश्यू प्राइस 350 रुपये रखा गया था, जबकि शेयर की लिस्टिंग 708 रुपये पर हुई. वहीं लिस्टिंग वाले दिन यह इश्यू प्राइस से 86 फीसदी बढ़कर 651 रुपये पर बंद हुआ था. अब शेयर का भाव 1680 रुपये हो चुका है. यानी इश्यू प्राइस की तुलना में करीब 380 फीसदी ज्यादा. यानी जिन निवेशकों ने इश्यू में पैसा लगाया था, उनका पैसा 16 महीने में करीब 5 गुना बढ़ गया.

जानें कंपनी के बारे में

कंपनी की शुरूआत साल 2004 में हुई थी. कंपनी मुख्य रूप से ओटीटी और मोबाइल नेटवर्क ऑपरेटर (एमएनओ) के लिए ओमनीचैनल क्लाउड कम्युनिकेशन सर्विस का काम करती है. कंपनी के पास दुनिया के सबसे बड़े सोशल मीडिया कंपनियों, बैंकिंग और फायनेंशियल सर्विसेज, एविएशन, रिटेल, ई-कॉमर्स, लॉजिस्टिक, हेल्थ, हॉस्पिटैलिटी और टेलीकॉम सेक्टर सहित अन्य का बड़ा कस्टमर बेस है.

(Disclaimer: स्टॉक में निवेश की सलाह ब्रोकरेज हाउस के द्वारा दी गई है. यह फाइनेंशियल एक्सप्रेस के निजी विचार नहीं हैं. बाजार में जोखिम होते हैं, इसलिए निवेश के पहले एक्सपर्ट की राय लें.)  

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News