सर्वाधिक पढ़ी गईं

मुनाफा 129% बढ़ने के बाद भी टूटा RIL का शेयर, क्या करना चाहिए निवेश? ये है ब्रोकरेज की राय

Should You Buy RIL: मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) के शेयरों में तिमाही नतीजों के बाद आज 3 मई को गिरावट देखने को मिल रही है.

May 3, 2021 10:43 AM
RIL StocksRIL Stocks: मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) के शेयरों में तिमाही नतीजों के बाद आज 3 मई को बड़ी गिरावट देखने को मिल रही है.

Should You Buy RIL: मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) के शेयरों में तिमाही नतीजों के बाद आज 3 मई को बड़ी गिरावट देखने को मिल रही है. RIL का शेयर 2 फीसदी से ज्यादा कमजोर होकर 1943 रुपये तक कमजोर हुआ है, जबकि शुक्रवार को यह 1995 रुपये पर बंद हुआ था. शुक्रवार को RIL ने अपने तिमाही नतीजे जारी किए थे, जिसमें कंपनी का मुनाफा दोगुना से ज्यादा बढ़कर 14,995 करोड़ रुपये रहा है. हालांकि मुनाफा डबल होने के बाद भी शेयर में आज कमजोरी आई है. फिलहाल नतीजों के बाद क्या आपको RIL के शेयरों में निवेश करना चाहिए. जानते हैं ब्रोकरेज हाउस इस पर क्या कह रहे हैं.

मुनाफा 129 फीसदी बढ़ा

रिलायंस इंडस्ट्रीज का मुनाफा चौथी तिमाही में सालाना आधार पर 129 फीसदी बढ़कर 14,995 करोड़ रुपये रहा है. कंपनी को लो बेस के चलते फायदा हुआ है. एक साल पहले की समान तिमाही में लॉकडाउन के चलते कंपनी के एनर्जी बिजनेस पर निगेटिव असर हुआ था. वहीं चौथी तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज का रेवेन्यू 26 फीसदी से ज्यादा बढ़कर 1.49 लाख करोड़ रुपये रहा है. RIL की टेलीकॉम इकाई जियो का चौथी तिमाही में मुनाफा 47.5 फीसदी बढ़कर 3508 करोड़ रुपए रहा. रिटेल बिजनेस का नेट रेवेन्यू सालाना आधार पर 21 फीसदी बढ़कर 41300 करोड़ रुपये रहा है.

EBITDA में आई गिरावट

RIL का चौथी तिमाही में EBITDA सालाना आधार पर घटा है, जबकि जियो का EBITDA सालाना आधार पर 6 फीसदी बढ़ा है. रिटेल बिजनेस EBITDA सालाना आधार पर 42 फीसदी बढ़ गया है. जियो के रेवेन्यू में 6 फीसदी कमी आई है. वहीं IUC चार्ज हटाने से ARPU में भी 9 फीसदी कमी आई है और यह 138.2 रुपए प्रति माह रहा है. वित्त वर्ष 2021 की चौथी तिमाही में कंपनी के पास 42.6 करोड़ ग्राहक थे. इस अवधि में कंपनी के साथ 3.1 करोड़ नए ग्राहक जुड़े हैं.

नतीजों के बाद ब्रोकरेज हाउस की सलाह

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में निवेश की सलाह दी है और शेयर का लक्ष्य 2195 रुपये रखा है. जबकि ब्रोकरेज हाउस मॉर्गन स्टैनले ने RIL पर ओवरवेट रेटिंग दी है और शेयर का लक्ष्य 2262 रुपये तय किया है. ब्रोकरेज हाउस का कहना है कि रिफाइनिंग और पेटकेम में अपसाइकल से निवेशकों का भरोसा बढ़ेगा. FY20-23 में मुनाफे में 23 फीसदी का CAGR ग्रोथ दिख सकता है. ब्रोकरेज हाउस जेफरीज ने भी RIL में खरीद की सलाह देते हुए शेयर का लक्ष्य 2580 रुपये तय किया है.

हालांकि जेपी मॉर्गन ने RIL पर न्यूट्रल रेटिंग दी है और शेयर का लक्ष्य 2055 रुपये तय किया है. वहीं क्रेडिट सूईस ने भी RIL पर न्यूट्रल रेटिंग दी है और शेयर का लक्ष्य 1930 रुपये तय किया है. हालांकि रिपोर्ट में कहा गया है कि आरआईएल के रिटेल और O2C में मजबूत रिकवरी दिखाई दी है.

(नोट: हमने यहां रिलायंस इंडस्ट्रीज के तिमाही नतीजों और ब्रोकरेज हाउस की रिपोर्ट के आधार पर जानकारी दी है. बाजार के जोखिम को देखते हुए निवेश के पहले एक्सपर्ट की राय लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. मुनाफा 129% बढ़ने के बाद भी टूटा RIL का शेयर, क्या करना चाहिए निवेश? ये है ब्रोकरेज की राय

Go to Top