मुख्य समाचार:
  1. RIL को Q4 में 10362 करोड़ का मुनाफा, GRM 8.20 डॉलर/bbl

RIL को Q4 में 10362 करोड़ का मुनाफा, GRM 8.20 डॉलर/bbl

RIL के Q4 नतीजे बेहतर रहने की उम्मीद

April 18, 2019 10:24 PM
RIL, RIL Q4, Reliance Industries, रिलायंस इंडस्ट्रीज, आरआईएल, RIL Profit, Petrochemicals, Jio, Retail. Reliance Jio, GRM, Jio ARPURIL के Q4 नतीजे बेहतर रहने की उम्मीद

RIL Q4 Result 18 April 2019: फाइनेंशियल ईयर 2019 की चौथी तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) का मुनाफा 9.8 फीसदी बढ़ गया है. इस दौरान कंपनी को 10362 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है. RIL लगातार दूसरी बार 10000 करोड़ रुपये से ज्यादा का तिमाही मुनाफा कमाने वाली भारत की पहली प्राइवेट सेक्टर कंपनी बन गई. रिटेल, डिजिटल और टेलिकॉम कारोबार में ग्रोथ से आरआईएल को मुनाफा बढ़ाने में कामयाबी मिली है. पिछले ईयर की समान तिमाही में आरआईएल का मुनाफा 9438 करोड़ रुपये रहा था. हालांकि ऑयल रिफाइनिंग व पेट्रोकेमिकल सेगमेंट में कंपनी की आय कमजोर रही है.

1.54 लाख करोड़ रहा रेवेन्यू

रिलायंस इंडस्ट्रीज का Q4 में रेवेन्यू 19.4 फीसदी बढ़कर 1.54 लाख करोड़ रुपये रहा. कंपनी का EBITDA 20832 करोड़ रुपये और मार्जिन 15.02 फीसदी रहा. RIL का Q4 ग्रॉस रिफाइनिंग मार्जिन 8.20 डॉलर/bbl रहा.

पेट्रोकेमिकल रेवेन्यू

Q4 में पेट्रोकेमिकल रेवेन्यू 11.3 फीसदी बढ़कर 42,414 करोड़ रहा. इस सेग्मेंट से EBIT सालाना आधार पर 23.9 फीसदी बढ़कर 7,975 करोड़ रहा. पेट्रोकेमिकल सेग्मेंट से EBIT मार्जिन 18.8 फीसदी रहा.

रिटेल बिजनेस में ग्रोथ

Q4 में रिलायंस इंडस्ट्रीज का रिटेल बिजनेस से आने वाला रेवेन्यू सालाना आधार पर 51.6 फीसदी बढ़कर 36663 करोड़ रुपये रहा, जो एक साल पहले की समान तिमाही में 24183 करोड़ रुपये था.

इस दौरान रिटेल बिजनेस PBDIT 77.1 फीसदी बढ़कर 1923 करोड़ रहा. यह एक साल पहले की समान तिमाही में 1086 करोड़ रुपये था.

जियो का मुनाफा 1 साल में 300% बढ़ा

चौथी तिमाही रिलायंस जियो के लिए भी बेहतर रहे. सालाना आधार पर जियो का मुनाफा 64.7 फीसदी बढ़कर 840 करोड़ रुपये रहा. एक साल पहले की समान अवधि में जियो का मुनाफा 510 करोड़ रुपये रहा था. इस दौरान रेवेन्यू 55.8 फीसदी बढ़कर 11106 करोड़ रुपये रहा. जबकि एक साल पहले की समान तिमाही में रेवेन्यू 7128 करोड़ रहा था. FY19 में जियो का मुनाफा 309 फीसदी बढ़कर 2964 करोड़ रुपये रहा, जो FY18 में 723 करोड़ रुपये रहा था.

6.50 रु/शेयर डिविडेंड

रिलायंस इंडस्ट्रीज द्वारा जारी बयान में कहा गया कि कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की हुई मीटिंग में सिफारिश की गई है कि वित्त वर्ष 2018-19 के लिए 10 रुपये के प्रति इक्विटी शेयर पर 6.50 रुपये का डिविडेंड दिया जाए.

RIL को लेकर क्या है एक्सपर्ट की राय

इडेलवाइस सिक्युरिटीज
ब्रोकरेज हाउस इडेलवाइस सिक्युरिटीज ने आरआईएल के स्टॉक के लिए खरीद (buy) की रेटिंग मेनटेन रखा है. ब्रोकरेज ने आरआईएल का टारगेट प्राइस 1636 रुपये कर दिया है. रिपोर्ट में कहा गया है कि FY21 के लिए आरआईएल का GRM रिवाइज कर 13.1 डॉलर/bbl से 14.8 डॉलर/bbl कर दिया है. वहीं रिफाइनरी इंटरप्राइजेज वैल्यू भी रिवाइज कर 14 फीसदी कर दिया है. ब्रोकरेज ने मार्जिन एक्सपेशन की वजह से रिलायंस जियो के ARPU में भी सुधार की उम्मीद जताई है. ब्रोकरेज को सालाना आधार पर PAT में 2.8 फीसदी ग्रोथ की उम्मीद है.

मोतीलाल ओसवाल

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने आरआईएल के शेयर के लिए रेटिंग डाउनग्रेड कर बॉय से न्यूट्रल कर दिया है. ब्रोकरेज हाउस के अनुसार रिफाइननिंग और पेट्रोकेम में कमजोरी रहने से स्टॉक में ज्यादा अपसाइड मूवमेंट की उम्मीद नहीं है. ब्रोकरेज का कहना है कि पिछले दिनों आरआईएल में अच्छी तेजी आ चुकी है. स्टॉक अभी फेयर वैल्यू पर ट्रेड कर रहा है. हालांकि रिटेल और टेलि​कॉम बिजनेस से बेहतर उम्मीद है.

 

Go to Top