मुख्य समाचार:

RIL ने रचा इतिहास: 9 लाख करोड़ का मार्केट कैप हासिल करने वाली पहली भारतीय कंपनी

मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज शुक्रवार को 9 लाख करोड़ मार्केट कैप वाली पहली भारतीय कंपनी बन गई है.

October 18, 2019 2:26 PM
RIL Market Cap, reliance industries, रिलायंस इंडस्ट्रीज, RIL most valuable company in india, RIL Vs TCS, mukesh ambani RIL, reliance jio, RIL Q2 result todayमुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज शुक्रवार को 9 लाख करोड़ मार्केट कैप वाली पहली भारतीय कंपनी बन गई है.

मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) शुक्रवार को 9 लाख करोड़ मार्केट कैप वाली पहली भारतीय कंपनी बन गई है. नतीजों के पहले आज आरआईएल के शेयरों में शानदार तेजी देखी जा रही है. कारोबार में आरआईएल का शेयर करीब 2 फीसदी चढ़कर 1422 रुपये के भाव पर पहुंच गया है. इस तेजी के साथ ही कंपनी का मार्केट कैप भी 9 लाख करोड़ रुपये के पार चला गया. बता दें कि भारतीय शेयर बाजार में लिस्टेड किसी भी कंपनी का मार्केट कैप अभी तक 9 लाख करोड़ नहीं पहुंचा है.

शेयर में शानदार तेजी

आज आरआईएल के नतीजे आने हैं, जिसके पहले आज कंपनी के शेयर में अच्छी तेजी देखी जा रही है. आरआईएल का शेयर आज करीब 2 फीसदी की तेजी के साथ 1428 रुपये के भाव पर पहुंच गया. शेयर गुरूवार को 1396.15 रुपये पर बंद हुआ था. यह आज 1403 रुपये के भाव पर खुला और कुछ देर में ही 1428 रुपये तक पहुंच गया. असल में एक्सपर्ट इस बार आईएल से बेहतर तिमाही नतीजों की उम्मीद लगाए बैठे हैं. ऐसी रिपोर्ट के बाद शेयरों में खरीददारी देखी जा रही है.

दूसरे नंबर पर TCS

आरआईएल के बाद मार्केट कैप के मामले में टीसीएस दूसरी सबसे बड़ी कंपनी है. टीसीएस का मार्केट कैप शुक्रवार को सुबी 10:50 के करीब 7,67,625.34 करोड़ रुपये था. हालांकि इसके पहले कई बार दोनों कंपनियां मार्केट कैप के मामले में एक दूसरे से आगे पीछे होती रही है.
HDFC बैंक, एचयूएल, HDFC, इंफोसिस, कोटक महिंद्रा बैंक, ITC, ICICI बैंक, बजाज फाइनेंस और स्टेट बैंक आफ इंडिया भी टॉप मार्केट कैप वाली कंपनियों में शामिल हैं.

कैसे रहे थे पहली तिमाही के नतीजे

मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) का 30 जून को समाप्त तिमाही में कंसॉलिडेटेड नेट प्रॉफिट 6.82 फीसदी बढ़कर 10,104 करोड़ रुपये हो गया था. पिछले साल की इसी तिमाही में कंपनी को 9,459 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था. रिलायंस इंडस्ट्रीज का 30 जून को समाप्त तिमाही में रेवेन्यू 21.25 फीसदी बढ़कर 1.61 लाख करोड़ रुपये हो गया था. जो एक साल पहले इसी अवधि में 1.33 लाख करोड़ रुपये दर्ज किया गया था.

पेट्रोकेमिकल बिजनेस से कमाई घटी थी

आरआईएल का Q1FY20 में कंसोलिडेटेड पेट्रोकेमिकल EBIT 7508 करोड़ रुपये रहा था, जोकि Q1FY1 में 7,857 करोड़ रुपये रहा था. वहीं, समीक्षाधीन तिमाही में आरआईएल का रिफाइनिंग और रिटेल EBIT क्रमश: 4508 करोड़ रुपये और 1,777 करोड़ रुपये रहा था. पिछले साल की इसी अवधि में यह आंकड़ा क्रमश: 5315 करोड़ और 1069 करोड़ रुपये रहा था. कंपनी का जून तिमाही में ग्रॉस रिफाइनिंग मार्जिन (GRM) 8.1 डॉलर प्रति बैरल रहा. पिछले साल इसी तिमाही में जीएमआर 10.5 डॉलर प्रति बैरल था.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. RIL ने रचा इतिहास: 9 लाख करोड़ का मार्केट कैप हासिल करने वाली पहली भारतीय कंपनी

Go to Top