मुख्य समाचार:

RIL की एक और बड़ी डील! सऊदी वेल्थ फंड 11300 करोड़ में खरीद सकती है Jio की 2.33% हिस्सेदारी

महज 8 हफ्ते में अलग-अलग कंपनियों से ताबड़तोड़ डील कर 1.04 लाख करोड़ जुटाने वाले मुकेश अंबानी एक और बड़ी डील कर सकते हैं.

Published: June 16, 2020 9:00 AM
RIL, Mukesh Ambani, saudi wealth fund, PIF, saudi wealth fund set to invest in jio, RIL to be debt free, facebook, KKR, general atlantic, silver lake, VISTA, TPG, mubadala, जियो, आरआईएल, मुकेश अंबानी, जियो प्लेटफॉर्ममहज 8 हफ्ते में अलग अलग कंपनियों से ताबड़तोड़ डील कर 1.04 लाख करोड़ जुटाने वाले मुकेश अंबानी एक और बड़ी डील कर सकते हैं.

महज 8 हफ्ते में अलग अलग कंपनियों से ताबड़तोड़ डील कर 1.04 लाख करोड़ जुटाने वाले मुकेश अंबानी एक और बड़ी डील कर सकते हैं. गल्फ न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार सऊदी अरब की वेल्थ फंड पब्लिक इन्वेस्टमेंट फंड (PIF) जल्द ही जियो प्लेटफॉर्म (Reliance Jio) में 2.33 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने का एलान कर सकती है. इसके एवज में सऊदी वेल्थ फंड जियो में 150 करोड़ डॉलर यानी करीब 11300 करोड़ रुपये का निवेया कर सकती है. गल्फ न्यूज में सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी गई है.

अगर सऊदी अरब की वेल्थ फंड पब्लिक इन्वेस्टमेंट फंड आगे जियो में 2.33 फीसदी हिस्सेदारी खरीदती है तो जियो में विदेशी कंपनियों की हिस्सेदारी बढ़कर 25 फीसदी हो जाएगी. इसके पहले आरआईएल ने अपने डिजिटल विंग जियो के लिए 8 हफ्ते के अंदर 9 कंपनियों के साथ 10 बड़ी डील कर 1.04 लाख करोड़ में 22.23 फीसदी हिस्सेदारी बेच दी है.

फेसबुक के साथ हुई थी शुरूआत

सबसे पहले 22 अप्रैल को फेसबुक ने जियो में 10 फीसदी की हिस्सेदारी खरीदी थी. जिसके बाद से कुल 9 कंपनियों के साथ 10 डील हुई और इन डील के जरिए करीब 8 हफ्ते में आरआईएल ने कुल 1,04,326.9 करोड़ रुपये जुटा लिए हैं. पिछले हफ्ते ही आरआईएल ने जियो प्लेटफॉर्म में 6,441.3 करोड़ रुपये में 1.32 फीसदी हिस्सेदारी टीपीजी और एल कैटरटॉन को बेची है. शनिवार को थोड़े समय के अंतराल में इन दोनों ही सौदों का एलान किया गया. मुकेश अंबानी रिलायंस इंडस्ट्रीज को कर्ज मुक्त कंपनी बनाने और जियो को दुनिया की शीर्ष डिजिटल कंपनियों में शामिल करने की दिशा में ताबड़तोड़ डील कर रहे हैं.

Jio में किस कंपनी ने कब-कितना किया निवेश?

कंपनीतारीखहिस्सेदारी (% में)
निवेश (करोड़ रुपये में)
फेसबुक22 अप्रैल9.9943,574
सिल्वर लेक3 मई1.155,665.75
विस्टा इक्विटी पार्टनर्स8 मई2.3211,367
जनरल अटलांटिक17 मई1.346,598.38
केकेआर22 मई2.3211,367
मुबाडला5 जून1.859,093.60
सिल्वरलेक5 जून0.934,546.80
अबु धाबी निवेश प्राधिकरण7 जून1.165,683.50
टीपीजी13 जून0.934,546.80
एल कैटरटॉन13 जून0.391,894.50

RIL दिसंबर तक हो जाएगी कर्जमुक्त!

रिलायंस जियो इंफोकॉम लिमिटेड, जिसके पास 38.8 करोड़ मोबाइल ग्राहक हैं. वह जियो प्लेटफार्म्स की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी बनी रहेगी. भारत के सबसे अमीर कारोबारी मुकेश अंबानी (63) ने अपनी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज को मार्च 2021 से पहले कर्जमुक्त बनाने का पिछले साल अगस्त में लक्ष्य तय किया था. जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश के इन सौदों तथा 53,125 करोड़ रुपये के राइट इश्यू के कारण अंबानी का लक्ष्य समय से काफी पहले ही पूरा होता दिख रहा है.

ऐसा अनुमान है कि इस साल दिसंबर तक रिलायंस इंडस्ट्रीज कर्जमुक्त हो जाएगी. मार्च तिमाही के अंत तक रिलायंस इंडस्ट्रीज के ऊपर 3,36,294 करोड़ रुपये के बकाये थे, जबकि उसके पास 1,75,259 करोड़ रुपये की नकदी मौजूद थी. इस तरह कंपनी का शुद्ध उधार 1,61,035 करोड़ रुपये हुआ.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. RIL की एक और बड़ी डील! सऊदी वेल्थ फंड 11300 करोड़ में खरीद सकती है Jio की 2.33% हिस्सेदारी

Go to Top