मुख्य समाचार:

क्वालकॉम 730 करोड़ में खरीदेगी Jio की 0.15% हिस्सेदारी, 13 निवेशकों से RIL ने जुटाए 1.18 करोड़

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) ने अपने टेलिकॉम आर्म जियो प्लेटफॉर्म्स के लिए एक और बड़ी डील की है.

Updated: Jul 13, 2020 9:03 AM
RIL big deal to Qualcomm Ventures, QUALCOMM VENTURES, INVESTMENT ARM OF QUALCOMM INCORPORATED, mukesh ambani, RIL digital platform, जियो प्लेटफॉर्म्स, आरआईएल, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेडरिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) ने अपने टेलिकॉम आर्म जियो प्लेटफॉर्म्स के लिए एक और बड़ी डील की है.

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) ने अपने टेलिकॉम आर्म जियो प्लेटफॉर्म्स के लिए एक और बड़ी डील की है. वायरलेस टेक्नोलॉजीज सेक्टर की दिग्गज कंपनी क्वालकॉम इनकॉरपोरेटेड की इनवेस्टमेंट कंपनी क्वालकॉम वेंचर्स ने जियो में 730 करोड़ रुपये निवेश करने का एलान किया है. इस डील के बदले क्वालकॉम वेंचर्स को जियो में 0.15 फीसदी हिस्सेदारी मिलेगी. डील के लिए जियो की इक्विटी वैल्यू 4.91 लाख करोड़ रुपये जबकि एंटरप्राइजेज वैल्यू 5.16 लाख करोड़ रुपये आंकी गई है. 12 हफ्ते के भीतर जियो प्लेटफार्मों में यह 13वां निवेश है.

बता दें कि जियो प्लेटफॉर्म्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की फुली ओन्ड सब्सिडियरी है. ये एक नेक्स्ट जनरेशन टेक्नॉलोजी कंपनी है जो भारत को एक डिजिटल सोसायटी बनाने के काम में मदद कर रही है. इसके लिए जियो के प्रमुख डिजिटल एप, डिजिटल ईकोसिस्टम और भारत के नंबर 1 हाइ-स्पीड कनेक्टिविटी प्लेटफॉर्म को एक-साथ लाने का काम कर रही है. रिलायंस जियो इंफोकॉम लिमिटेड, जिसके 38 करोड़ 80 लाख ग्राहक हैं.

13 निवेशकों से जुटाए 1.18 करोड़

क्वालकॉम के निवेश के साथ जियो अब तक 13 निवेशकों के जरिए 118,318.45 करोड़ रुपये जुटा चुकी है. जियो प्लेटफार्म में निवेश की शुरुआत फेसबुक ने की थी. फेसबुक ने करीब 44 हजार करोड़ रुपये का निवेश कर 9.99 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी थी. अब फेसबुक सहित जियो को 13 निवेशक मिल चुके हैं.

अबतक किन कंपनियों ने किया निवेश

फेसुबक के बाद सिल्वर लेक पार्टनर्स, विस्टा इक्विटी पार्टनर्स, जनरल अटलांटिक, केकेआर, मुबादला, एडीआईए, टीपीजी, एल कैटरटन, पीआईफ और इंटेल कैपिटल जियो में निवेश का एलान कर चुके हैं.

क्वाल कॉम के बारे में

क्वालकॉम दुनिया की लीडिंग वायरलेस टेक्नोलॉजी इनोवेटर है और 5जी के उेवलपमेंट, लॉन्च और एक्सपेंशन के लिए काम करती है. रिसर्च और डेवलपमेंट पर क्वालकॉम अब तक 6200 करोड़ डॉलर से अधिक खर्च कर चुकी है. पिछले 35 साल में क्वालकॉम के पास पेटेंट और पेटेंट एप्लीकेशन्स मिला कर 140,000 से अधिक इनोवेशन हैं. क्वालकॉम ने इनोवेशन को बढ़ावा देने और भारतीय प्रौद्योगिकी को आगे बढ़ाने के लिए अपनी प्रतिबद्धता दोहराई है. क्वालकॉम वेंचर्स एक वैश्विक कोष है जो 5जी, एआई, आईओटी, ऑटोमोटिव, नेटवर्किंग और एंटरप्राइज जैसे क्षेत्रों में वायरलेस इकोसिस्टम में निवेश करता है.

क्या कहा मुकेश अंबानी ने

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने जियो प्लेटफार्म में क्वालकॉम वेंचर्स के निवेश का स्वागत किया है. उन्होंने कहा कि क्वालकॉम कई सालों से एक महत्वपूर्ण भागीदार रहा है. वायरलेस प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में क्वालकॉम के पास गहरा अनुभव है. उन्होंने कहा कि हमारे पास एक मजबूत और सुरक्षित वायरलेस और डिजिटल नेटवर्क को खड़ा करने और भारत में हर किसी के लिए डिजिटल कनेक्टिविटी के लाभ का विस्तार करने का साझा दृष्टिकोण है. तकनीक ज्ञान है और जो हमें 5जी तकनीक में और भारत के डिजिटल ट्रांसफॉर्मेंशन में सहायक होगा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. क्वालकॉम 730 करोड़ में खरीदेगी Jio की 0.15% हिस्सेदारी, 13 निवेशकों से RIL ने जुटाए 1.18 करोड़

Go to Top