Reliance Retail ने रोबोटिक्स स्टार्टअप Addverb Tech में खरीदी 54% हिस्सेदारी, 983 करोड़ रुपये में सौदा हुआ

Addverb Tech के मुताबिक कंपनी रिलायंस से प्राप्त फंड का इस्तेमाल विदेश में कारोबार के विस्तार व नोएडा में एक बड़े रोबोट मैन्यूफैक्चरिंग प्लांट की स्थापना के लिए किया जाएगा.

Reliance Retail buys 54% stake in Indian robotics startup Addverb Tech for $132 million
Reliance Retail ने रोबोटिक्स स्टार्टअप Addverb Tech में 54% हिस्सेदारी खरीदी है.

मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस रिटेल (Reliance Retail) ने घरेलू रोबोटिक्स कंपनी एडवर्ब (Addverb) में 13.2 करोड़ अमेरिकी डॉलर (करीब 983 करोड़ रुपये) में 54 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी है. रोबोटिक फर्म के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी. एडवर्ब टेक्नोलॉजीज के को-फाउंडर और CEO संगीत कुमार ने बताया कि कंपनी स्वतंत्र रूप से काम करना जारी रखेगी और रिलायंस से प्राप्त फंड का इस्तेमाल विदेश में कारोबार के विस्तार व नोएडा में एक बड़े रोबोट मैन्यूफैक्चरिंग प्लांट की स्थापना के लिए किया जाएगा. कंपनी के पास पहले ही नोएडा में एक मैन्यूफैक्चरिंग प्लांट है, जहां हर साल लगभग 10,000 रोबोट बनाए जाते हैं.

राकेश झुनझुनवाला की फेवरिट Nazara Technologies का बड़ा एलान, ऐड टेक कंपनी Datawrkz में खरीदेगी 55% हिस्सेदारी

कंपनी का बयान

कुमार ने कहा, ‘‘इस निवेश के साथ रिलायंस के पास एडवर्ब में लगभग 54 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी. वे कंपनी में सबसे बड़े शेयरहोल्डर बन गए हैं. रिलायंस पहले ही हमारे सम्मानित क्लाइंट्स में से एक था, जिसके साथ मिलकर हमने उनके ग्रॉसरी बिजनेस जियो मार्ट के लिए उच्च क्षमता वाले स्वचालित गोदामों का निर्माण किया था. सहूलियत और भरोसा, जैसे कारक पहले से मौजूद थे, जिसके कारण यह जुड़ाव हुआ.’’ उन्होंने कहा कि रिलायंस रिटेल के साथ रणनीतिक साझेदारी से हमें नई ऊर्जा पहलों के जरिए 5जी, बैटरी टेक्नोलॉजी का फायदा उठाने में मदद मिलेगी.

2022 Yezdi Roadster की पांच ऐसी खूबियां, जो इस बाइक को बनाती हैं शानदार, जानें डिटेल

मैन्यूफैक्चरिंग प्लांट की स्थापना में होगा फंड का इस्तेमाल

उन्होंने कहा, ‘‘हम एक प्रॉफिटेबल कंपनी हैं. हम इस फंड का इस्तेमाल विदेश में विस्तार करने और मैन्यूफैक्चरिंग प्लांट्स की स्थापना में करेंगे.’’ कुमार ने कहा, ‘‘इस समय हमारी आय का 80 प्रतिशत हिस्सा भारत से आता है, लेकिन अगले 4-5 सालों में भारत और विदेश व्यापार के बीच 50-50 प्रतिशत की हिस्सेदारी होने की उम्मीद है. हमारी आय में सॉफ्टवेयर की कुल हिस्सेदारी 15 प्रतिशत है, जिसमें बढ़ोतरी का अनुमान है.’’ एडवर्ब की स्थापना 2016 में हुई थी और उसे चालू वित्त वर्ष के दौरान 400 करोड़ रुपये की आय की उम्मीद है, जो पिछले वित्त वर्ष के मुकाबले 100 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News