मुख्य समाचार:

3 कंपनियों ने किया ऐसा फैसला, एक झटके में 100 करोड़ से ज्यादा लोगों पर हुआ असर

टेलिकॉम सेक्टर की दो कंपनियों  वोडाफोन आइडिया (Vodafone Idea) और एयरटेल (Airtel) को वित्त वर्ष 2019-20 की जुलाई-सितंबर तिमाही में भारी घाटा हुआ है.

November 20, 2019 6:40 AM

vodafone idea and airtel to hike mobile service price from december 2019, more than 50 crore people impacted

वोडाफोन आइडिया (Vodafone Idea), एयरटेल (Airtel) और रिलायंस जियो (Reliance Jio) ने अपने प्लान्स के दाम बढ़ाने का एलान किया है. वोडाफोन आइडिया और एयरटेल ने अपने प्लान्स की कीमत दिसंबर से बढ़ाने की घोषणा की है. वहीं जियो की ओर से कहा गया है कि अगले कुछ सप्ताह में वह अपने टैरिफ की कीमत बढ़ाएगी.  वोडाफोन आइडिया और एयरटेल के इस कदम के पीछे वित्त वर्ष 2019-20 की दूसरी तिमाही जुलाई-सितंबर में हुआ तगड़ा मुनाफा है.

वोडाफोन आइडिया ने जुलाई-सितंबर में 50921 करोड़ रुपये का कंसोलिडेटेड घाटा दर्ज किया. यह किसी भी भारतीय कंपनी द्वारा एक तिमाही में दर्ज किया गया अभी तक का सर्वाधिक घाटा है. वहीं भारती एयरटेल ने सितंबर तिमाही में 23044 करोड़ रुपये का घाटा दर्ज किया है. दूसरी ओर जुलाई-सितंबर में जियो का मुनाफा 45.4 फीसदी बढ़कर 990 करोड़ हो गया.

तीनों टेलिकॉम कंपनियों के टैरिफ के दाम बढ़ाने के फैसले के चलते 100 करोड़ से ज्यादा कस्टमर्स प्रभावित होंगे. भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, भारती एयरटेल के उपभोक्ताओं की संख्या सितंबर 2019 में 23.8 लाख कम होकर 32.55 करोड़ पर आ गई. इसी तरह वोडाफोन आइडिया ने भी सितंबर में 25.7 लाख उपभोक्ता गंवाए और इसके उपभोक्ताओं की संख्या 37.24 करोड़ पर आ गई. हालांकि रिलायंस जियो के उपभोक्ताओं की संख्या 69.83 लाख बढ़कर 35.52 करोड़ पर पहुंच गई. इस तरह तीनों कंपनियों को मिलाकर कुल ​कस्टमर बेस सितंबर अंत ​तक 100 करोड़ से ज्यादा था.

आखिर भारी घाटे के पीछे क्या रही वजह

2 टेलिकॉम कंपनियों को हुए इस तगड़े घाटे के पीछे वजह सुप्रीम कोर्ट का एक आदेश है. दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने पिछले माह वोडाफोन आइडिया, भारती एयरटेल समेत टेलिकॉम कंपनियों को बकाया दूरसंचार विभाग को चुकाने का आदेश दिया है. वोडाफोन आइडिया का कहना है कि इस आदेश के बाद अब कंपनी की बिजनेस जारी रखने की क्षमता सरकार द्वारा राहत पैकेज दिए जाने और कंपनी के पास मौजूद कानूनी विकल्प के सकारात्मक रिजल्ट पर निर्भर करेगी.

दूरसंचार विभाग के ताजा अनुमान के मुताबिक, वोडाफोन आइडिया को कुल मिलाकर लगभग 54184 करोड़ रुपये का बकाया चुकाना है. वहीं भारती एयरटेल पर लगभग 62187 करोड़ रुपये का बकाया है. एयरटेल, वोडाफोन आइडिया व अन्य टेलिकॉम कंपनियों को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सरकार को 1.4 लाख करोड़ रुपये का बकाया देना है. बकाया चुकाने के लिए वोडाफोन आइडिया ने 25680 करोड़ रुपये और एयरटेल ने 28,450 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है.

3 दिन में वोडाफोन आइडिया में 110% तो एयरटेल में 23% तेजी, रिकॉर्ड घाटे के बाद भी निवेशक क्यों हुए लट्टू

सर्विस की क्वालिटी बरकरार रखने के लिए बढ़ा रहीं कीमत

Vodafone Idea ने बयान में कहा कि अपने कस्टमर्स को वर्ल्ड क्लास डिजिटल एक्सपीरियंस देना जारी रखने के लिए वोडाफोन आइडिया उचित मात्रा में अपने टैरिफ के दाम 1 दिसंबर 2019 से बढ़ाने वाली है. एयरटेल की ओर से बयान में कहा गया कि दूरसंचार क्षेत्र में तेजी से बदलती टेक्नोलॉजी के साथ काफी पूंजी की आवश्यकता होती है. इसमें लगातार निवेश की जरूरत होती है. इस कारण यह बहुत जरूरी है कि डिजिटल इंडिया के विचार का समर्थन करने के लिए उद्योग को व्यवहारिक बनाए रखा जाए. इसे देखते हुए एयरटेल दिसंबर महीने में उचित दाम बढ़ाएगी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. 3 कंपनियों ने किया ऐसा फैसला, एक झटके में 100 करोड़ से ज्यादा लोगों पर हुआ असर

Go to Top