मुख्य समाचार:
  1. Reliance Jio का मुनाफा 46% बढ़कर 891 करोड़ हुआ, ARPU घटकर 122 रुपये

Reliance Jio का मुनाफा 46% बढ़कर 891 करोड़ हुआ, ARPU घटकर 122 रुपये

Jio का मुनाफा सालाना आधार पर 46 फीसदी बढ़कर 891 करोड़ रुपये हो गया है.

July 19, 2019 8:08 PM
Reliance Jio Q1, Jio का मुनाफा, Jio ARPU, Jio Profit, Jio revenue, Reliance Jio Subscribers, Jio EBIDTA, रिलांयस जियोरिलांयस जियो का मुनाफा 46 फीसदी बढ़कर 891 करोड़ रुपये हो गया है.

रिलांयस जियो के लिए वित्त वर्ष 2020 की पहली तिमाही बेहतर रही है. इस दौरान कंपनी का मुनाफा सालाना आधार पर 46 फीसदी बढ़कर 891 करोड़ रुपये हो गया है. एक साल पहले की समान अवधि में जियो का मुनाफा 612 करोड़ रुपये रहा था. वहीं तिमाही आधार पर मुनाफे में 6.1 फीसदी बढ़त रही है. बीती मार्च तिमाही में कंपनी का मुनाफा 840 करोड़ रुपये रहा था.

सब्सक्राइबर बेस 33.13 करोड़

जून तिमाही में जियो का सब्सक्राइबर बेस 33.13 करोड़ हो गया है. हालांकि मार्च तिमाही में यह 33.25 करोड़ रहा था.

रेवेन्यू 44 फीसदी बढ़ा

जियो का रेवेन्यू सालाना आधार पर 44 फीसदी बढ़कर 11,679 करोड़ रुपये हो गया है. यह एक साल पहले की समान अवधि में 8109 करोड़ था. हालांकि तिमाही आधार पर इसमें 5.2 फीसदी ग्रोथ रही. मार्च तिमाही में यह 11106 करोड़ था.

ARPU में आई कमी

जून तिमाही में जियो का ARPU घटकर 122 रुपया रह गया है. एक साल पहले की समान अवधि में यह 134.5 रुपये था. जबकि बीती मार्च तिमाही में 126.2 रुपये था.

EBITDA मार्जिन 40.1 फीसदी

जून तिमाही में जियो का EBITDA मार्जिन सालाना आधार पर 130 बेसिस प्वॉइंट बढ़कर 40.1 फीसदी हो गया है. एक साल पहले की समान तिमाही में यह 38.8 फीसदी था. जबकि मार्च तिमाही में यह 39 फीसदी था.

RIL को 10,104 करोड़ का मुनाफा

मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) के चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही के नतीजे बाजार के अनुमान से बेहतर रहे हैं. रिलायंस इंडस्ट्रीज का 30 जून को समाप्त तिमाही कंसॉलिडेटेड नेट प्रॉफिट 6.82 फीसदी बढ़कर 10,104 करोड़ रुपये हो गया. पिछले साल की इसी तिमाही में कंपनी को 9,459 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था.

तेल से टेलिकॉम बिजनेस में भारी भरकम बाजार हिस्सेदारी रखने वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज का 30 जून को समाप्त तिमाही में रेवेन्यू 21.25 फीसदी बढ़कर 1.61 लाख करोड़ रुपये हो गया. जो एक साल पहले इसी अवधि में 1.33 लाख करोड़ रुपये दर्ज किया गया था.

Go to Top