सर्वाधिक पढ़ी गईं

महंगाई के आंकड़े और कंपनियों के तिमाही नतीजे तय करेंगे बाजार की चाल, रुपये और क्रूड की कीमतें भी रहेंगी अहम

अगले कारोबारी सप्ताह में बाजार की चाल रिलायंस इंड्स्ट्रीज और विप्रो समेत अन्य कंपनियों के तिमाही परिणाम की घोषणाओं से तय होगी. इसके अलावा रुपये के मूल्य, कच्चे तेल की कीमतों और विदेशी निवेशकों के निवेश का भी बाजार पर असर पडेंगा. इस सप्ताह खुदरा महंगाई इंडेक्स (सीपीआई) और थोक महंगाई सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) के आंकड़ों पर भी नजर रहेगी।

Updated: Jan 13, 2019 4:18 PM
Share Market Movement, CPI, WPI, Reliance Industries, Infosys, Wipro, Industrial Production, IIP, NSE, BSE, Sensex, Niftyखुदरा महंगाई और थोक महंगाई के आंकड़ों के अलावा इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन के आंकड़ों का भी बाजार पर प्रभाव पड़ेगा.

अगले कारोबारी सप्ताह में बाजार की चाल रिलायंस इंडस्ट्रीज और विप्रो समेत अन्य कंपनियों के तिमाही परिणाम से तय होगी. इसके अलावा रुपये के मूल्य, कच्चे तेल की कीमतों और विदेशी निवेशकों के निवेश का भी बाजार पर असर पडेंगा. जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध विभाग के प्रमुख विनोद नायर ने बताया कि इस सप्ताह खुदरा महंगाई इंडेक्स (CPI) और थोक महंगाई इंडेक्स (WPI) के आंकड़ों पर भी नजर रहेगी.

इन्फोसिस के नतीजे कारोबार को प्रभावित करेंगे

विशेषज्ञों का मानना है कि सोमवार को निवेशक इन्फोसिस की तीसरी तिमाही के नतीजों के मुताबिक कारोबार कर सकते हैं. वित्त वर्ष 2018-19 की दिसंबर तिमाही में इन्फोसिस के शुद्ध मुनाफे में गिरावट हुई है. इन्फोसिस का चालू वित्त वर्ष की दिसंबर तिमाही में शुद्ध लाभ करीब 30 प्रतिशत घटकर 3,610 करोड़ रुपये रह गया. वित्त वर्ष 2017-18 की समान तिमाही में उसे 5,129 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था. हालांकि कंपनी ने 8620 करोड़ रुपये के शेयर बायबैक की घोषणा की है. घोषणा के मुताबिक कंपनी 800 रुपये प्रति शेयर के भाव से शेयर बायबैक करेगी. शुक्रवार को इन्फोसिस का शेयर NSE पर 683.50 रुपये और BSE पर 683.70 रुपये प्रति शेयर के भाव पर बंद हुआ था.

IIP आंकड़ों का भी पड़ेगा असर 

सोमवार को बाजार में इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन के आकंड़ों का असर भी देखने को मिल सकता है. शुक्रवार को बाजार बंद होने के बाद जारी आंकड़ों के मुताबिक नवंबर माह में इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन की ग्रोथ रेट (IIP) घटकर पिछले 17 माह के निचले स्तर 0.5 फीसदी पर आ गई. आंकड़ों के मुताबिक मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर के अलावा कंज्युमर और कैपिटल गुड्स में उत्पादन घटने की वजह से यह गिरावट हुई.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. महंगाई के आंकड़े और कंपनियों के तिमाही नतीजे तय करेंगे बाजार की चाल, रुपये और क्रूड की कीमतें भी रहेंगी अहम

Go to Top