मुख्य समाचार:

मुकेश अंबानी की RIL ने बनाया रिकॉर्ड, 150 अरब डॉलर के m-cap लेवल पर पहुंचने वाली पहली भारतीय कंपनी बनी

कारोबार की समाप्ति पर कंपनी का बाजार पूंजीकरण कम होकर 11,07,620.56 करोड़ रुपये यानी 145.68 अरब डॉलर रह गया.

Updated: Jun 22, 2020 8:24 PM
Reliance Industries becomes first Indian firm to hit USD 150 billion market cap, RILBSE पर रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर मूल्य शुरुआती दौर में 2.53 फीसदी बढ़कर 1,804.10 रुपये की रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया. (Image: Reuters)

रिलायंस इंडस्टूीज लिमिटेड (RIL) सोमवार को शेयर बाजार में 150 अरब डॉलर का बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) हासिल करने वाले पहली भारतीय कंपनी बन गई. हालांकि, कारोबार की समाप्ति तक वह इस स्तर को बरकरार नहीं रख सकी और डॉलर में पूंजीकरण घटकर 145.68 अरब डॉलर रह गया. बंबई शेयर बाजार में सोमवार को कारोबार की शुरुआत तेजी के साथ होने पर रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार पूंजीकरण 28,248.97 करोड़ रुपये बढ़कर 11,43,667 करोड़ रुपये (150 अरब डॉलर) पर पहुंच गया. हालांकि, यह सिलसिला पूरे दिन बरकरार नहीं रह पाया और कारोबार की समाप्ति पर कंपनी का बाजार पूंजीकरण कम होकर 11,07,620.56 करोड़ रुपये यानी 145.68 अरब डॉलर रह गया.

BSE पर रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर मूल्य शुरुआती दौर में 2.53 फीसदी बढ़कर 1,804.10 रुपये की रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया. वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में भी यह 2.54 फीसदी बढ़कर 1,804.20 रुपये पर अब तक के सर्वोच्च स्तर को छू गया. लेकिन बाद में बाजार में बिकवाली के जोर पकड़ने पर यह 0.39 फीसदी घटकर 1,752.50 रुपये पर बंद हुआ. वहीं BSE में यह 0.70 फीसदी घटकर 1,747.20 रुपये पर बंद हुआ.

शुक्रवार को छुआ था 11 लाख करोड़ का लेवल

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड इससे पहले शुक्रवार को 11 लाख करोड़ रुपये का बाजार पूंजीकरण का आंकड़ा पार करने वाली पहली भारतीय कंपनी बन गई थी. सोमवार को यह आंकड़ा 11,07,620.56 करोड़ रुपये पर रहा. मुकेश अंबानी की तेल से लेकर दूरसंचार क्षेत्र में कारोबार करने वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज के पूरी तरह से कर्ज मुक्त बन जाने की घोषणा के बाद बाजार में कंपनी का शेयर छह फीसदी से अधिक चढ़ गया और उसका मार्केट कैप 11 लाख करोड़ रुपये के आंकड़े को पार कर गया.

लॉकडाउन: RIL में पैसा लगाने वालों की दोगुनी हो गई दौलत, 3 महीने में 108% मिला रिटर्न

इस साल अब तक 15.39 फीसदी से अधिक चढ़ा शेयर

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड पर 31 मार्च 2020 को समाप्त वित्त वर्ष में 1,61,035 करोड़ रुपये का शुद्ध कर्ज बाकी था. मुकेश अंबानी ने कहा कि राइट इश्यू के जरिए और प्रमुख वैश्विक निवेशकों को आंशिक हिस्सेदारी की बिक्री कर कंपनी ने पिछले दो माह के दौरान 1.69 लाख करोड़ रुपये जुटाए हैं, जिसके बाद कंपनी शुद्ध रूप से कर्ज मुक्त हो गई. कंपनी ने एक चौथाई से भी कम हिस्सेदारी विभिन्न वैश्विक निवेशकों को बेचकर 1.15 लाख करोड़ रुपये और राइट इश्यू के जरिए 53,124.20 करोड़ रुपये जुटाकर कुल 1.69 लाख करोड़ रुपये की पूंजी जुटा ली है. कंपनी का शेयर इस साल अब तक 15.39 फीसदी से अधिक चढ़ चुका है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. मुकेश अंबानी की RIL ने बनाया रिकॉर्ड, 150 अरब डॉलर के m-cap लेवल पर पहुंचने वाली पहली भारतीय कंपनी बनी

Go to Top