मुख्य समाचार:

दिल्ली-NCR, मुंबई समेत 7 शहरों में नहीं बिक रहे घर; डिस्काउंट का सहारा लें बिल्डर: रिपोर्ट

Anarock के मुताबिक मार्च तिमाही के आखिर तक सात शहरों में 78,000 रेडी टू मूव इन फ्लैट थे जो नहीं बिके थे.

April 24, 2020 6:03 PM
ready to move in property in seven cities including delhi NCR mumbai chennai not selling says Anarock report advises builders to offer discountsAnarock के मुताबिक मार्च तिमाही के आखिर तक सात शहरों में 78,000 रेडी टू मूव इन फ्लैट थे जो नहीं बिके थे.

प्रॉपर्टी ब्रोकरेज फर्म एनरॉक ने शुक्रवार को कहा कि कैश की किल्लत से परेशान बिल्डरों के पास 66,000 करोड़ रुपये की रेडी टू मूव प्रॉपर्टी है और उन्हें कोरोना वायरस महामारी के दौरान इन घरों को बेचने के लिए डिस्काउंट पेश करने चाहिए. एनरॉक (Anarock) के मुताबिक मार्च तिमाही के आखिर तक सात शहरों में 78,000 रेडी टू मूव इन फ्लैट थे जो नहीं बिके थे. इन शहरों में दिल्ली-एनसीआर, मुंबई मेट्रोपोलियन रीजन (MMR), चैन्नई, कोलकाता, बेंगलुरू, हैदराबाद और पुणे शामिल है. इन यूनिट्स की कीमत 65,950 करोड़ रुपये की है.

डिस्काउंट के साथ दें दूसरे ऑफर

Anarock के चैयरमैन अनुज पुरी ने कहा कि डेवलपर्स को इस बात पर फैसला लेना है कि वे अपने नहीं बिके हुए फ्लैट के साथ क्या करना चाहते हैं जो वे अपनी होल्डिंग कैपेसिटी और वित्तीय दबाव को देखते हुए तय कर सकते हैं. उन्होंने बताया कि मजबूत बैंलेंस शीट के साथ संगठित मजदूर द्वारा डिस्काउंट ऑफर किए जाने की कम उम्मीद है लेकिन जिनको जल्द लिक्विडिटी की जरूरत है, उन्हें अपने विकल्पों पर विचार करने की जरूरत है. इनमें कीमतों पर डिस्काउंट और दूसरे प्रोत्साहन शामिल हो सकते हैं.

ये नहीं बिकी हुई रेडी टू मूव इन यूनिट्स कुल अनसोल्ड 6.44 लाख से ज्यादा यूनिट्स का 12 फीसदी है. बाकी बचे 88 फीसदी निर्माण में हैं. पुरी ने यह भी सुझाव दिया कि पहली बार घर खरीदने वाले ग्राहकों को सख्त तौर से समझौते को लेकर बातचीत और रेडी टू मूव इन अपार्टमेंट्स पर बेहतर डील हासिल करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि होम लोन पर ब्याज दरें 7.15-7.8 फीसदी के कम स्तर पर हैं.

पुरी ने बताया कि लॉकडाउन की अवधि ने भारत के रियल एस्टेट बाजार में रैपिड टेक्नोलॉजी से उन्नति को शुरू किया है. उन्होंने कहा कि कुछ राज्य प्रॉपर्टी दस्तावेजों के लिए ई-रजिस्ट्रेशन शुरू करने पर भी अब विचार रहे हैं, जिससे पूरी वैल्यू चैन पूरी होगी. उनके मुताबिक यह जरूरी है क्योंकि साइट पर फिजिकल तौर पर आना लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी जल्द शुरू होने की उम्मीद नहीं है क्योंकि खरीदार और विक्रेताओं को चिंता बनी रहेगी.

क्या फ्रैंकलिन संकट से दूसरे म्यूचुअल फंड पर होगा असर, निवेशकों को क्या करना चाहिए?

मुंबई में सबसे बुरा हाल

डेटा के मुताबिक कोरोना से बहुत ज्यादा प्रभावित मुंबई मेट्रोपोलियन रीजन (MMR) में सबसे ज्यादा 19,200 घरों का रेडी स्टॉक है जिसकी बिक्री नहीं हुई और घरों की कीमत 26,150 करोड़ रुपये है. पुणे में दूसरा सबसे बड़ा न बिके घरों का स्टॉक है जिसमें करीब 16,000 यूनिट 11,400 रुपये करोड़ की कीमत के साथ हैं. दिल्ली-एनसीआर 15,600 यूनिट के साथ तीसरे नंबर पर आता है जिनकी कीमत 11,400 करोड़ रुपये से ज्यादा है.

(Input: PTI)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. दिल्ली-NCR, मुंबई समेत 7 शहरों में नहीं बिक रहे घर; डिस्काउंट का सहारा लें बिल्डर: रिपोर्ट

Go to Top