सर्वाधिक पढ़ी गईं

25 साल पहले इस कंपनी में लगाया होता 1 रुपया, तो आज मिलता 800 गुना रिटर्न 

अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी ने कहा कि 2050 तक भारत दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होगा. 

September 28, 2020 5:35 PM
Re 1 invested in Adani Enterprises has yielded 800-times return says Gautam Adaniअडाणी समूह पोर्ट से लेकर हवाईअड्डे, एनर्जी डिस्ट्रीब्यूशन और एग्री कमोडिटी तक के क्षेत्रों में काम करता है.

ढाई दशक पहले अडाणी एंटरप्राइजेज (Adani Enterprise) में किए गए निवेश पर अब रिटर्न 800 गुना हो चुका है. अडाणी समूह के प्रमुख गौतम अडाणी ने सोमवार को यह बात कही. उन्होंने कहा कि इस दौरान उनका इंफ्रास्ट्रक्चर समूह अब कई ‘प्लेटफॉर्म का इंटीग्रेटेड प्लेटफॉर्म’ बन चुका है. ‘जेपी मॉर्गन इंडिया शिखर सम्मेलन-भविष्य पर ध्यान’ को संबोधित करते हुए अडाणी ने कहा कि उनकी कंपनी पोर्ट से लेकर हवाईअड्डे और एनर्जी डिस्ट्रीब्यूशन तक के क्षेत्रों में काम करती है.

समूह के इस मॉडल ने शेयर बाजार की प्रमुख छह कंपनियों को खड़ा किया. इसने हजारों लोगों को नौकरी दी और शेयरधारकों के लिए अभूतपूर्व मूल्य का निर्माण किया. अडाणी ने कहा, ‘‘अडाणी एंटरप्राइजेज ने 1994 में अपना पहला आईपीओ (आरंभिक सार्वजनिक निर्गम) पेश किया था और उस समय कंपनी किए गए एक रुपये के निवेश पर अब 800 गुना रिटर्न है.’’

कॉलेज की पढ़ाई बीच में ही छोड़ देने वाले 58 वर्षीय अडाणी ने कमोडिटी के व्यापार से अपना कारोबार शुरू किया था. अब अडाणी समूह देश की सबसे बड़ी पोर्ट मैनेजमेंट कंपनी है. साथ ही देश की सबसे बड़ी एयरपोर्ट आपरेटर कंपनी बनने की ओर अग्रसर है. कंपनी गैस डिस्ट्रीब्यूशन, रिन्यूएबल एनर्जी, माइनिंग, डिफेंस और एग्री कमोडिटी में भी कारोबार करती है.

EMI मोरेटोरियम: ब्याज पर ब्याज भरने से मिलेगी राहत? 2-3 दिन में सरकार ले सकती है फैसला

2050 तक भारत होगा दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था

गौतम अडाणी ने जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) में गिरावट के बारे में संकीर्ण सोचों को खारिज करते हुए कहा कि देश की बुनियाद मजबूत है और भारत 2050 तक दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होगा. व्यापार अवसरों के मामले में देश दुनिया के अन्य समकक्ष देशों के मुकाबले बेहतर स्थिति में है. इस समिट में अडाणी समूह के चेयरमैन ने कहा कि आत्म निर्भर भारत कार्यक्रम पासा पलटने वाला साबित होगा.

उन्होंने कहा, ‘‘जीडीपी गणित के प्रशंसकों के लिये कुछ आंकाड़ों पर गौर करते हैं. वर्ष 1990 में वैश्विक जीडीपी 38,000 अरब डॉलर था. आज 30 साल बाद यह आंकड़ा 90,000 अरब डॉलर है. अगले तीस साल में यानी 2050 में जीडीपी 1,70,000 अरब डॉलर हो जाने का अनुमान है. उस समय तक भारत दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होगा.’’ देश की आर्थिक वृद्धि दर में चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-जून तिमाही में 23.9 प्रतिशत की गिरावट आयी है. इसकी एक प्रमुख वजह महामारी और लॉकडाउन है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. 25 साल पहले इस कंपनी में लगाया होता 1 रुपया, तो आज मिलता 800 गुना रिटर्न 

Go to Top