सर्वाधिक पढ़ी गईं

RCom के एसेट खरीदने के और नजदीक पहुंची Reliance Jio, 23,000 करोड़ रु की समाधान योजना को मंजूरी

इसमें से 5,500 करोड़ रुपये चीन के बैंकों को मिलेंगे. इससे उनको अपना करीब 55 फीसदी मूलधन मिल जाएगा.

Updated: Mar 05, 2020 8:15 PM
RCom insolvency, Lenders approve Rs 23,000 cr resolution plan; Reliance Jio inches closer to buying Anil Ambani firm’s assetsImage: Reuters

बैंकों ने रिलायंस कम्युनिकेशन (RCom) के लिए 23,000 करोड़ रुपये की समाधान योजना को मंजूरी दे दी है. इसमें से 5,500 करोड़ रुपये चीन के बैंकों को मिलेंगे. इससे उनको अपना करीब 55 फीसदी मूलधन मिल जाएगा. इसमें चीन के वे बैंक भी शामिल हैं, जिन्हें कंपनी के प्रवर्तक अनिल अंबानी ने कथित तौर पर व्यक्तिगत गारंटी दी है.

ऋणदाताओं की समिति के एक सूत्र ने कहा कि आरकॉम कर्जदाताओं की समिति ने रिलायंस कम्युनिकेशन, रिलायंस टेलीकॉम (आरटीएल) और रिलायंस इंफ्राटेल (आरईटीएल) पर बकाया कर्जों के निपटान की योजना को चार मार्च को सर्वसम्मति से स्वीकृति दी. सभी 38 बैंकों ने तय समाधान योजना के पक्ष में मत दिया.

कर्जदाताओं ने अगस्त में इन कंपनियों पर कुल बकाए के रूप में कुल करीब 49,000 करोड़ रुपये का दावा किया था. कर्जदाताओं की समिति की 13 जनवरी 2019 को हुई बैठक में रिलायंस जियो और यूवी एसेट रिकंस्ट्रक्शन कंपनी लि. आरकॉम की संपत्ति के लिए सर्वाधिक बोली लगाने वाली कंपनियां रहीं.

चीनी बैंकों का है सर्वाधिक कर्ज

अनुबंध के तहत पहले चुकाई जा चुकी धन/सम्पत्ति को गैर कानूनी गतिविधि के सामने आने पर वापस लेने के और कथित क्लॉबैक अनुबंध पर गौर करने की इस समाधान योजना के तहत कर्जदाताओं की 23,000 करोड़ रुपये की राशि निकलेगी. इसमें एक बड़ा हिस्सा चीनी बैंकों के बकाए के भुगतान में किया जाएगा. चीनी बैंक सबसे बड़े कर्जदाता हैं. उन्हें 5,500 करोड़ रुपये मिलेगा और उनका मूल कर्ज घटकर 4,500 करोड़ रुपये पर आ जाएगा. अनिल अंबानी की कथित व्यक्तिगत गारंटी के मामले में चीनी बैंकों को 1,800 करोड़ रुपये (25 करोड़ डॉलर) मिलेंगे और उनका कर्ज 55 फीसदी घटकर 30 करोड़ डॉलर (2,200 करोड़ रुपये) रह जाएगा.

SBI और LIC बनेंगे YES बैंक के संकटमोचक! 490 करोड़ में खरीद सकते हैं हिस्सेदारी

टावर और फाइबर एसेट होंगे Jio के

सूत्रों के अनुसार, इस समाधान योजना के तहत रिलायंस इंफ्राटेल लि. की टावर और फाइबर संपत्तियां 4,700 करोड़ रुपये में रिलायंस जियो को सौंपी जाएंगी. इसी तरह आरकॉम और रिलायंस टेलीकॉम (स्पेक्ट्रम) की संपत्तियों को यूवी एसेट रिकंस्ट्रक्शन कंपनी लि. (यूवीएआरसी) 14,000 कराड़ रुपये में अधिग्रहीत करेगी.

इन तीन चीनी बैंकों ने कोर्ट का किया है रुख

चीनी बैंकों…इंडस्ट्रियल एंड कर्मिशयल बैंक ऑफ चाइना लि., चाइना डेवलपमेंट बैंक और निर्यात-आयात बैंक ऑफ चाइना…ने बकाए की वसूली को लेकर अंबानी को ब्रिटेन की अदालत में घसीटा है. सूत्रों ने कहा कि इस मामले में बैंकों की ओर से दिया गया कुल गारंटीशुदा मूल कर्ज करीब 33,000 करोड़ रुपये है. योजना के तहत आरकॉम के 38 कर्जदाताओं के कुल 33,000 करोड़ रुपये के मूल बकाए में से 70 फीसदी से अधिक की वसूली हो जाएगी.

Input: PTI

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. RCom के एसेट खरीदने के और नजदीक पहुंची Reliance Jio, 23,000 करोड़ रु की समाधान योजना को मंजूरी

Go to Top