सर्वाधिक पढ़ी गईं

FY21 की तीसरी तिमाही में पॉजिटिव रहेगी GDP ग्रोथ, उम्मीद से तेज है रिकवरी: RBI बुलेटिन

कोरोना महामारी के कारण अर्थव्यवस्था में आई गिरावट में उम्मीद के विपरीत अधिक तेजी से रिकवरी हो रही है.

December 24, 2020 5:46 PM
rbi said in an article Indian economy recovering fast growth to turn positive in Q3आरबीआई बुलेटिन के मुताबिक जीडीपी ग्रोथ को बढ़ाने के पीछे दो कारकों की भूमिका सबसे अधिक महत्वपूर्ण रही.

कोरोना महामारी के कारण अर्थव्यवस्था में आई गिरावट में उम्मीद के विपरीत अधिक तेजी से रिकवरी हो रही है. इस तरह से इकोनॉमिक ग्रोथ चालू वित्त वर्ष 2020-21 की तीसरी तिमाही में पॉजिटिव जोन में आ जाएगा. हालांकि यह ग्रोथ 0.1 फीसदी ही रहेगी लेकिन पॉजिटिव ग्रोथ उत्साहजनक है. यह संभावना केंद्रीय बैंक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के  एक ऑर्टिकल ‘स्टेट ऑफ इकोनॉमी’ में दर्शाया गया है.
आरबीआई बुलेटिन के मुताबिक इकोनॉमिक रिकवरी के उम्मीद से अधिक रिकवरी के कई संकेत दिख रहे हैं. बुलेटिन में ‘स्टेट ऑफ इकोनॉमी’ ऑर्टिकल आरबीआई के ऑफिशियल्स द्वारा लिखा गया है. ऑर्टिकल में स्पष्ट कर दिया गया है कि ये लेखक के अपने विचार हैं और इसे आरबीआई का विचार नहीं समझा जाना चाहिए.

यह भी पढे़ं- राकेश झुनझुनवाला के इन पसंदीदा शेयरों में डूबे पैसे; लगाया है दांव तो चेक कर लें रिटर्न

पहली तिमाही की GDP में रिकॉर्ड गिरावट

कोरोना महामारी ने भारतीय अर्थव्यवस्था को बहुत बुरी तरह से प्रभावित किया था. चालू वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में जीडीपी में 23.9 फीसदी की दर से सिकुड़न रही जबकि दूसरी तिमाही में इकोनॉमिक रिकवरी की कोशिशों का प्रभाव दिखा और इकोनॉमी में 7.5 फीसदी की दर से सिकुड़न रही. आरबीआई बुलेटिन के मुताबिक तीसरी तिमाही में जीडीपी ग्रोथ पॉजिटिव हो जाएगी. हालांकि यह बहुत मामूली लगभग 0.1 फीसदी की ग्रोथ रहेगी लेकिन इकोनॉमिक रिकवरी पॉजिटिव ग्रोथ उत्साहजनक है.

दो कारकों ने बढ़ाई इकोनॉमिक रफ्तार

आरबीआई बुलेटिन के मुताबिक जीडीपी ग्रोथ को बढ़ाने के पीछे दो कारकों की भूमिका सबसे अधिक महत्वपूर्ण रही. सितंबर के मध्य से कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी आई है और अब इंवेस्टमेंट और कंजम्प्शन डिमांड तेजी से बढ़ रहा है. इसके अलावा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के जरिए कंजम्प्शन एक्सपेंडिचर से फोकस आत्मनिर्भर भारत के जरिए इंवेस्टमेंट एक्सपेंडिचर की तरफ शिफ्ट हुआ है यानी कि महामारी के समय में खपत बढ़ी थी लेकिन अब निवेश में भी तेजी आई है. आरबीआई बुलेटिन के मुताबिक लोगों के बीच कोरोना महामारी की दूसरी लहर के प्रति भय नहीं रहा, इस वजह से मैक्रोइकोनॉमिक पॉलिसीज के लिए बेहतर माहौल बना और इकोनॉमी तेजी से सामान्य हो रही है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. FY21 की तीसरी तिमाही में पॉजिटिव रहेगी GDP ग्रोथ, उम्मीद से तेज है रिकवरी: RBI बुलेटिन
Tags:RBI

Go to Top