scorecardresearch

RBI Guidelines: बिना वजह कार्ड जारी नहीं कर सकेंगी कंपनियां, बिलिंग राशि का दोगुना भरना पड़ जाएगा जुर्माना

RBI Guidelines: कभी-कभी ऐसा होता है कि कंपनियां बिना आवेदन के क्रेडिट कार्ड जारी कर देती हैं या बिना स्पष्ट सहमति के मौजूदा कार्ड को अपग्रेड कर देती हैं. ऐसी गतिविधियों पर RBI सख्त हुआ है.

RBI Guidelines: बिना वजह कार्ड जारी नहीं कर सकेंगी कंपनियां, बिलिंग राशि का दोगुना भरना पड़ जाएगा जुर्माना
आरबीआई ने क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड पर मास्टर डायरेक्शंस में बिना आवेदन कार्ड जारी करने या अपग्रेड करने पर सख्ती से रोक लगा दिया है और ये निर्देश 1 जुलाई 2022 से प्रभावी हो जाएंगे.

RBI Guidelines: कभी-कभी ऐसा होता है कि कंपनियां बिना आवेदन के क्रेडिट कार्ड जारी कर देती हैं या बिना ग्राहकों की स्पष्ट सहमति के उनके मौजूदा कार्ड को अपग्रेड कर देती हैं. ऐसी गतिविधियों पर केंद्रीय बैंक RBI ने सख्त रुख अख्तियार किया है और कंपनियों/बैंकों को ऐसा करने से मना किया है और निर्देश दिया है कि ऐसा करने पर बिलिंग राशि का दोगुना उन्हें पेनाल्टी के तौर पर भरना पड़ेगा.

आरबीआई ने क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड पर मास्टर डायरेक्शंस में बिना आवेदन कार्ड जारी करने या अपग्रेड करने पर सख्ती से रोक लगा दिया है और ये निर्देश 1 जुलाई 2022 से प्रभावी हो जाएंगे. इसके अलावा आरबीआई ने कार्ड जारी करने वाली कंपनियों या थर्ड पार्टी एजेंट्स को बकाए की वसूली के लिए ग्राहकों को परेशान नहीं करने को कहा है.

Bank Jobs Alert: एचडीएफसी बैंक में 1 हजार नई नौकरियां! यूपी में 150 नए ब्रांच खोलने का ऐलान

आरबीआई ओम्बड्समैन तय करेगा मुआवजा

कार्ड जारी करने वाली कंपनी /बैंक अगर शिकायत दर्ज होने के बाद एक महीने के भीतर संतोषजनक जवाब नहीं देती हैं तो आरबीआई के मास्टर निर्देशों के मुताबिक जिस शख्स के नाम पर कार्ड जारी हुआ है, वे आरबीआई के ओम्बड्समैन के पास शिकायत कर सकते हैं. बिना आवेदन कार्ड जारी होने की स्थिति में आरबीआई ओम्बड्समैन स्कीम के प्रावधानों के तहत मुआवजे की रकम पर फैसला करेगा और इसका भुगतान कार्ड जारी करने वाली कंपनी करेगी. मुआवजा तय करते समय शिकायतकर्ता के समय, खर्च, हैरेसमेंट और मानसिक तनाव को आधार बनाया जाएगा.

Top Mileage CNG Cars under ₹10 Lakh: ये सीएनजी कारें देती हैं 30 किमी से अधिक माइलेज, पेट्रोल-डीजल की महंगाई से मिलेगी राहत

क्रेडिट कार्ड जारी करने के लिए बैंकों के लिए ये गाइडलाइंस जारी

आरबीआई के मास्टर निर्देशों के मुताबिक जिन कॉमर्शियल बैंकों का नेटवर्थ 100 करोड़ रुपये से अधिक है, वे क्रेडिट कार्ड कारोबार खुद स्वतंत्र रूप से या अन्य कार्ड जारी करने वाले बैंक या एनबीएफसी के साथ मिलकर शुरू कर सकते हैं. इसके अलावा क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों (RRBs) को भी अपने स्पांसर बैंक या अन्य बैंकों के साथ मिलकर क्रेडिट कार्ड जारी करने की मंजूरी दी गई है. एनबीएफसी बिना आरबीआई की पूर्व अनुमति के डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, चार्ज कार्ड या इस प्रकार के अन्य किसी प्रकार के उत्पाद को नहीं जारी कर सकेगा.

(Input: PTI)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

First published on: 21-04-2022 at 08:42:34 pm

TRENDING NOW

Business News