सर्वाधिक पढ़ी गईं

MobiKwik के डेटा लीक पर RBI सख्त, जांच के दिए आदेश; केस साबित होने पर इतना लग सकता है जुर्माना

केंद्रीय बैंक RBI ने डिजिटल पेमेंट्स कंपनी MobiKwik को उन आरोपों की जांच का आदेश दिया है जिसके मुताबिक मोबीक्विक के 11 करोड़ यूजर्स का डेटा सार्वजनिक हो गया.

April 1, 2021 7:53 PM
RBI orders MobiKwik to probe alleged data leak and may fine minimum 5 lakh rupee fineकेंद्रीय बैंक के पास डेटा लीक जैसे मामले में किसी पेमेंट सिस्टम प्रोवाइडर पर न्यूनतम 5 लाख रुपये का जुर्माना लगाने की शक्ति है.

केंद्रीय बैंक RBI ने डिजिटल पेमेंट्स कंपनी MobiKwik को उन आरोपों की जांच का आदेश दिया है जिसके मुताबिक मोबीक्विक के 11 करोड़ यूजर्स का डेटा सार्वजनिक हो गया. केंद्रीय बैंक ने इसके साथ ही डिजिटल पेमेंट्स कंपनी को चेतावनी भी दी है कि अगर कोई गलती पाई जाती है तो उस पर जुर्माना लगाया जाएगा. इस पूरे मामले से परिचित सूत्रों ने आरबीआई के इस आदेश के बारे में जानकारी दी है. मोबीक्विक में अमेरिकी कंपनी Sequoia Capital और भारतीय कंपनी बजाज फाइनेंस की हिस्सेदारी है. इस हफ्ते डिजिटिल पेमेंट कंपनी मोबीक्विक को उस समय आलोचनाओं का सामना करना पड़ा जब अधिकतर ग्राहकों और डिजिटल राइट एक्टिविस्ट्स ने डेटा लीक को कंपनी के डेटाबेस से जोड़ा को कंपनी ने इससे इनकार कर दिया. केंद्रीय बैंक के पास ऐसे मामले में किसी पेमेंट सिस्टम प्रोवाइडर पर न्यूनतम 5 लाख रुपये का जुर्माना लगाने की शक्ति है.
आरबीआई कंपनी के शुरुआती प्रतिक्रिया से सहमत नहीं हुआ है और कहा कि जल्द से जल्द इसे लेकर कार्रवाई करे. इसके अलावा कंपनी को उस समय विरोध का सामना करना पड़ा जब उसने डेटा लीक के बारे में सबसे पहले जानकारी देने वाले सिक्योरिटी रिसर्चर के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की धमकी दी.

मुंबई के सांताक्रूज में रिलायंस सेंटर अब Yes Bank के पास, अनिल अंबानी की कंपनी RInfra ने इस वजह से किया यह सौदा

एक्सटर्नल ऑडिटर मामले की करेगी जांच

इस हफ्ते कुछ यूजर्स ने शिकायत की उनकी क्रेडिट कार्ड जैसी अहम जानकारियां एक लीक्ड ऑनलाइन डेटाबेस पर दिख रही जो कथित रूप से मोबिक्विक से जुड़ी हुई है. हालांकि कंपनी ने उसके डेटा बेस से किसी भी प्रकार से लीक से इनकार किया है. आरबीआई ने मोबीक्विक को एक चेतावनी गी है और आदेश दिया है कि इसकी फोरेंसिक ऑडिट के लिए किसी एक्सटर्नल ऑडिटर को रखा जाएगा. स्रोत से मिली जानकारी के मुताबिक अगर लीक की पुष्टि होती है तो आरबीआई जुर्माना भी लगा सकता है.

मोबीक्विक के 12 करोड़ से अधिक यूजर्स

मोबीक्विक ने इससे पहले कहा था कि यूजर्स ने अपना डेटा कई प्लेटफॉर्म पर अपलोड किया है और ऐसा कहना अनुचित है कि लीक्ड इंफोर्मेशन उसके प्लेटफॉर्म से एक्सेस किया गया था. कंपनी ने कहा कि वह यूजर्स की प्राइवेसी और सिक्योरिटी को बहुत गंभीरता से लेती है. मोबीक्विक के 12 करोड़ से अधिक यूजर्स हैं और भारतीय बाजार में उसकी कंपटीटर पेटीएम और गूगल पे जैसी कंपनियां हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. MobiKwik के डेटा लीक पर RBI सख्त, जांच के दिए आदेश; केस साबित होने पर इतना लग सकता है जुर्माना

Go to Top