सर्वाधिक पढ़ी गईं
  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. RBI MPC Live: आरबीआई ने लगातार आठवीं बार दरों में नहीं किया बदलाव, IMPS से पैसे भेजने की लिमिट में बढ़ोतरी

RBI MPC Live: आरबीआई ने लगातार आठवीं बार दरों में नहीं किया बदलाव, IMPS से पैसे भेजने की लिमिट में बढ़ोतरी

RBI MPC: आरबीआई एमपीसी (मॉनिटरी पॉलिसी कमेटी) ने इकोनॉमिक रिकवरी को सहारा देने के लिए दरों में कोई बदलाव नहीं किया है.

By: | Updated: October 8, 2021 1:08:58 pm
rbi-mpc-october-live-repo-rate-shaktikanta-das-reserve-bank-monetary-policy-interest-rates-liquidity-inflation-growthरिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास की अगुआई वाली छह सदस्यीय मौद्रिक नीति समिति की तीन दिन की बैठक के रिजल्ट आज आएंगे.

RBI MPC: केंद्रीय बैंक आरबीआई ने आज 8 अक्टूबर मौद्रिक नीतियों का ऐलान किया. आरबीआई एमपीसी (मॉनिटरी पॉलिसी कमेटी) ने इकोनॉमिक रिकवरी को सहारा देने के लिए दरों में कोई बदलाव नहीं किया है. चालू वित्त वर्ष 2021-22 की दूसरी तिमाही में मौद्रिक समीक्षा नीति की बैठक 6 अक्टूबर को शुरू हुई थी और आज दरों को अपरिवर्तित रखने का ऐलान किया गया. मार्केट एक्सपर्ट्स का पहले से अनुमान था कि कमोडिटी के बढ़ते भाव को देखते हुए महंगाई दर पर नियंत्रण रखने के लिए आरबीआई लगातार 8वीं बार ब्याज दरों में बदलाव नहीं करने का फैसला ले सकता है. इसके अलावा आरबीआई ने आईएमपीएस के जरिए पैसे भेजने की लिमिट को 2 लाख रुपये को बढ़ाकर 5 लाख रुपये कर दिया है.

इससे पहले आखिरी बार आरबीआई ने पिछले साल मई 2020 में रेपो रेट में बदलाव किया था. मई 2020 में आरबीआई ने रेपो रेट में 40 बीपीएस (0.40 फीसदी) की कटौती की थी जिसके बाद रेपो रेट घटकर 4 फीसदी रह गया. बता दें कि आरबीआई अगर रेट बढ़ाता है तो आम लोगों के लिए कर्ज जुटाना महंगा होता है क्योंकि बैंक भी कर्ज की दरों में बढ़ोतरी कर सकते हैं.

Read More

Live Blog

RBI MPC Live in Hindi:

Highlights

    13:08 (IST)08 Oct 2021
    SLTRO की बढ़ी डेडलाइन

    आरबीआई ने स्माल फाइनेंस बैंकों (SFBs) के लिए स्पेशल लांग-टर्म रेपो ऑपरेशंस (SLTRO) की अवधि को 31 दिसंबर 2021 तक बढ़ा दिया है. पहले यह 31 अक्टूबर थी. इससे पहले SLTRO की सुविधा को मई में शुरू किया गया था जिसके तहत 10 हजार करोड़ रुपये का लोन रेपो रेट पर एसएफबी को हासिल करने की सुविधा दी गई. यह फैसिलिटी तीन साल के लिए है और इसके तहत प्रति बॉरोअर 10 लाख रुपये तक का लोन लिया जा सकता है.

    11:28 (IST)08 Oct 2021
    एनबीएफसी ग्राहकों के लिए आंतरिक ओम्बड्समैन स्कीम लाने का फैसला

    आरबीआई ने एनबीएफसी के ग्राहकों की शिकायतों के निपटारे के लिए आंतरिक ओम्बड्समैन स्कीम लाने का फैसला किया है.

    11:11 (IST)08 Oct 2021
    ऑफलाइन खुदरा डिजिटल पेमेंट के लिए फ्रेमवर्क प्रस्तावित

    आरबीआई ने देश भर में ऑफलाइन माध्यम से खुदरा डिजिटल पेमेंट का फ्रेमवर्क लाने का प्रस्ताव रखा है.

    11:09 (IST)08 Oct 2021
    आईएमपीएस की लिमिट में बढ़ेती

    आरबीआई ने आईएमपीएस के जरिए पैसे भेजने की लिमिट को 2 लाख रुपये को बढ़ाकर 5 लाख रुपये का ऐलान किया है.

    10:28 (IST)08 Oct 2021
    वित्त वर्ष 2022 में महंगाई के बढ़ने की दर का अनुमान 5.3 फीसदी

    केंद्रीय बैंक के मुताबिक चालू वित्त वर्ष में सीपीआई (कंज्यूमर प्राइस इंफ्लेशन) 5.3 फीसदी रह सकती है. दूसरी तिमाही जुलाई-सितंबर 2021 में महंगाई के बढ़ने की दर 5.1 फीसदी, तीसरी तिमाही 4.5 फीसदी और चौथी तिमाही 5.8 फीसदी रह सकती है.

    10:25 (IST)08 Oct 2021
    वित्त वर्ष 2022 में 9.5 फीसदी की जीडीपी ग्रोथ का अनुमान

    आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि केंद्रीय बैंक चालू वित्त वर्ष में 9.5 फीसदी की जीडीपी ग्रोथ को लेकर सकारात्मक है.

    10:08 (IST)08 Oct 2021
    दरों में कोई बदलाव नहीं

    आरबीआई एमपीसी (मॉनिटरी पॉलिसी कमेटी) ने इकोनॉमिक रिकवरी को सहारा देने के लिए दरों में कोई बदलाव नहीं किया है. 

    10:06 (IST)08 Oct 2021
    आरबीआई गवर्नर का संबोधन शुरू
    https://platform.twitter.com/widgets.js
    08:48 (IST)08 Oct 2021
    रेपो रेट और रिवर्स रेट की मौजूदा दरें

    अभी रेपो रेट 4 फीसदी और रिवर्स रेपो रेट 3.35 फीसदी है.

    08:47 (IST)08 Oct 2021
    दरें बढ़ती हैं तो आम आदमी के लिए कर्ज जुटाना महंगा

    आरबीआई अगर रेट बढ़ाता है तो आम लोगों के लिए कर्ज जुटाना महंगा हो सकता है क्योंकि बैंक भी कर्ज की दरों में बढ़ोतरी कर सकते हैं.

    08:47 (IST)08 Oct 2021
    आखिरी बार मई 2020 में दरों में हुआ था बदलाव

    इससे पहले आखिरी बार आरबीआई ने पिछले साल मई 2020 में रेपो रेट में बदलाव किया था. मई 2020 में आरबीआई ने रेपो रेट में 40 बीपीएस (0.40 फीसदी) की कटौती की थी जिसके बाद रेपो रेट घटकर 4 फीसदी रह गया.

    08:46 (IST)08 Oct 2021
    दरों में बदलाव के नहीं दिख रहे आसार

    केंद्रीय बैंक आरबीआई की मौद्रिक नीतियों का ऐलान आज 8 अक्टूबर को होना है. चालू वित्त वर्ष 2021-22 की दूसरी तिमाही में मौद्रिक समीक्षा नीति की बैठक 6 अक्टूबर को शुरू हुई थी और आज दरों को बढ़ाने या घटाने का ऐलान होगा. हालांकि मार्केट एक्सपर्ट्स का मानना है कि कमोडिटी के बढ़ते भाव को देखते हुए महंगाई दर पर नियंत्रण रखने के लिए आरबीआई लगातार 8वीं बार ब्याज दरों में बदलाव नहीं करने का फैसला ले सकता है.

    RBI MPC Live in Hindi:
    Tags:RBIRBI Monetary Policy ReviewRBI Rate CutShaktikanta Das
    Next Stories
    1IPL 2022 New team : अहमदाबाद और लखनऊ की दो नई टीमें IPL में लेंगी हिस्सा, बीसीसीआई को मिले 12 हजार करोड़ रुपये
    2Festive Season Shopping : फेस्टिव सीजन में शॉपिंग के लिए चाहिए पैसे? क्रेडिट कार्ड, पर्सनल लोन और BNPL में कौन है आपके लिए बेस्ट, जानिए क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स
    3Upcoming IPO : ESAF स्मॉल फाइनेंस बैंक और सफायर फूड्स समेत 7 कंपनियों को मिली SEBI की मंजूरी, क्या निवेशकों को मालामाल करेंगे ये नए शेयर

    Go to Top