RBI MPC: रेपो रेट में लगातार सातवीं बार कोई बदलाव नहीं, रिजर्व बैंक ने इंफ्लेशन और ग्रोथ अनुमानों में किया संशोधन

RBI MPC: आरबीआई ने रेपो रेट को 4 फीसदी और रिवर्स रेपो रेट को 3.5 फीसदी पर स्थिर रखा है. यह लगातार सातवीं बार है जब एमपीसी ने दरों में कोई बदलाव नहीं किया है.

rbi mpc august 2021 reserve bank of india monetary policy committee repo rate shaktikanta das inflation

RBI MPC: केंद्रीय बैंक आरबीआई ने यथास्थिति बनाए रखा (status quo) और रेपो रेट की दरों में कोई बदलाव नहीं करने का फैसला किया है. आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने रेपो रेट को 4 फीसदी और रिवर्स रेपो रेट को 3.5 फीसदी पर स्थिर रखा है. यह लगातार सातवीं बार है जब एमपीसी ने दरों में कोई बदलाव नहीं किया है. एमपीसी ने ग्रोथ को सहारा देने के लिए लंबे समय तक उदार रवैया बनाए रखने और रेपो रेट को अपरिवर्तित रखने का फैसला किया है. आरबीई ने चालू वित्त वर्ष में सीपीआई (कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स) इंफ्लेशन का आकलन संशोधित कर 5.1 फीसदी से बढ़ाकर 5.7 फीसदी कर दिया है.

आरबीआई गवर्नर ने कहा कि मई में इंफ्लेशन में बढ़ोतरी चौंकाने वाला रहा. एग्रीगेट डिमांड में सुधार हो रहा है लेकिन अंडरलाइंग परिस्थितियां अभी भी कमजोर हैं. दास के मुताबिक तेल कीमतों में उतार-चढ़ाव से सीपीआई को कम करने में मदद मिलेगी. केंद्रीय बैंक ने अप्रैल-जून तिमाही के लिए जीडीपी ग्रोथ का अनुमान संशोधित कर 21.4 फीसदी, जुलाई-सितंबर 2021 के लिए 7.3 फीसदी, अक्टूबर-दिसंबर 2021 के लिए 6.3 फीसदी और जनवरी-मार्च 2022 के लिए 6.1 फीसदी का अनुमान लगाया है.

New IPO: आईपीओ की झमाझम बारिश, निवेशकों के पास चार कंपनियों में पैसे लगाने का आज आखिरी मौका

तीसरी लहर लेकर सतर्क रहने की जरूरत

दास के मुताबिक अधिकतर सेक्टरों में मांग और आपूर्ति में संतुलन बनाए रखने के लिए अभी भी बहुत कदम उठाने की जरूरत है. कोरोना महामारी की तीसरी लहर आने की आशंका को लेकर बाजार में हलचल है लेकिन आरबीआई गवर्नर दास के मुताबिक जून 2021 के मुताबिक देश इस समय बेहतर स्थिति में है लेकिन महामारी की तीसरी लहर को लेकर सतर्क रहने की जरूरत है.

पिछली एमपीसी में रेपो रेट को 4% पर रखा गया स्थिर

मई 2021 में इंफ्लेशन बढ़कर 6.3 फीसदी पर पहुंच गई. हालांकि अगले ही महीने जून में इसमें कुछ गिरावट रही और यह लुढ़ककर 6.26 फीसदी रह गई. पिछली नीतिगत बैठक में आरबीआई ने कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स (सीपीआई) को वित्त वर्ष 2021-22 के लिए 5.1 फीसदी पर प्रोजेक्ट किया था. इस प्रोजेक्शन के तहत जुलाई-सितंबर के लिए सीपीआई 5.4 फीसदी का अनुमान लगाया गया था. जून 2021 में आरबीआई ने अपनी पिछली एमपीसी में ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया था. रेपो रेट को 4 फीसदी और रिवर्स रेपो रेट को 3.35 फीसदी पर स्थिर रखा गया था.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

Financial Express Telegram Financial Express is now on Telegram. Click here to join our channel and stay updated with the latest Biz news and updates.

TRENDING NOW

Business News