RateGain IPO: रेटगेन के आईपीओ में पैसे लगाएं या नहीं? जानिए इस बारे में क्या है एक्सपर्ट्स की राय

RateGain IPO: दुनिया की बड़ी ड्रिस्ट्रीब्यूशन टेक्नोलॉजी कंपनियों में शुमार रेटगेन ट्रैवल टेक्नोलॉजीज का आईपीओ अगले दो दिनों में खुलने वाला है. 1336 करोड़ रुपये के आईपीओ में 7-9 नवंबर के बीच पैसे लगा सकेंगे.

RateGain Travel Technologies IPO DETAILS ISSE SIZE PRICE BAND KNOW HERE ABOUT EXPERT RATING
रेटगेन के 1336 करोड़ रुपये के आईपीओ के तहत 375 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी किए जाएंगे

RateGain Travel Technologies IPO: दुनिया की बड़ी ड्रिस्ट्रीब्यूशन टेक्नोलॉजी कंपनियों में शुमार रेटगेन ट्रैवल टेक्नोलॉजीज का आईपीओ अगले दो दिनों में खुलने वाला है. 1336 करोड़ रुपये के आईपीओ में 7-9 दिसंबर के बीच पैसे लगा सकेंगे. इस आईपीओ के तहत 375 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी किए जाएंगे. इसमें निवेश को लेकर मार्केट एक्सपर्ट्स का मानना है कि लांग टर्म में निवेशकों को यह शानदार रिटर्न दे सकता है. रेटगेन का कोई लिस्टेड पियर नहीं है और इसका वैल्यूएशन भी डिस्काउंट पर है. इसके अलावा तेजी से बढ़ते डिजिटाइजेशन के चलते रेटगेन की हाई ग्रोथ हो सकती है. ऐसे में एनालिस्ट्स ने इस आईपीओ को सब्सक्राइब की रेटिंग दी है.

पोस्टपेड ग्राहकों का भी महंगा हो सकता है मोबाइल बिल, Airtel और Vodafone Idea कर सकते हैं टैरिफ में बढ़ोतरी

मार्केट एक्सपर्ट ने दी सब्सक्राइब की रेटिंग

  • रेटगेन की तुलना के लिए कोई लिस्टेड पियर्स नहीं है लेकिन वैल्यूएशन को लेकर जोमैटो (Zomato) और पेटीएम (Paytm) जैसे यूनीकॉर्न की तुलना में यह 50 फीसदी डिस्काउंट पर है.
  • ब्रोकरेज फर्म रिलायंस सिक्योरिटीज के मुताबिक यह आईपीओ वित्त वर्ष 2021 के प्राइस टू सेल्स के मुकाबले 18.1 गुना और वित्त वर्ष 2022 के अनुमानित प्राइस टू सेल्स के मुकाबले 15.1 गुना भाव पर है जोकि मौजूदा भाव पर पेटीएम के मुकाबले 27.3 गुना और जोमैटो के मुकाबले 31.7 गुना डिस्काउंट पर है.
  • कोरोना के चलते हॉस्पिटैलिटी व ट्रैवल कंपनियों द्वारा ग्राहकों को जोड़ने की प्रक्रिया तेजी से डिजिटल हुई है और इसके चलते सॉफ्टवेयर व सर्विस मॉडल जैसी थर्ड पार्टी कंपनियों की ग्रोथ में तेजी दिख सकती है.
  • रेटगेन वैश्विक स्तर पर बड़ी ड्रिस्ट्रीब्यूशन टेक्नोलॉजी कंपनियों में से एक है. इसके साथ ही यह भारत में हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल इंडस्ट्री में सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर ऐज ए सर्विस कंपनी (SaaS) है.
  • थर्ड पार्टी ट्रैवल व हॉस्पिटैलिटी टेक्नोलॉजी अगले पांच साल में 10 फीसदी की सीएजीआर (कंपाउंड एनुअल ग्रोथ रेट) से बढ़ सकता है यानी कि लांग टर्म में रेटगेन के तेज ग्रोथ की संभावना है.
  • हाई ग्रोथ की संभावना को देखते हुए, कम प्रतिस्पर्धा और बेहतर वैल्यूएशन के चलते रिलायंस सिक्योरिटीज के एनालिस्ट्स ने निवेशकों को इस आईपीओ में लांग टर्म के लिए निवेश की सलाह दी है.

Stock Tips : शेयर मार्केट के उतार-चढ़ाव के दौर में इन दो शेयरों में हो सकता है मुनाफा, एक्सपर्ट्स से जानिए क्या है वजह?

RateGain Travel Technologies IPO से जुड़ी डिटेल्स

  • रेटगेन के 1336 करोड़ रुपये के आईपीओ में निवेशक 7-9 दिसंबर के बीच पैसे लगा सकते हैं.
  • इस आईपीओ के तहत 375 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी किए जाएंगे जबकि ऑफर फॉर सेल (OFS) के तहत करीब 2.26 करोड़ इक्विटी शेयरों की बिक्री होगी.
  • इस आईपीओ के तहत 1 रुपये की फेस वैल्यू वाले शेयरों के लिए 405-425 रुपये प्रति शेयर का प्राइस बैंड तय किया गया है.
  • इस आईपीओ के लिए 35 शेयरों का लॉट तय किया गया है यानी कि प्राइस बैंड के अपर प्राइस के मुताबिक निवेशकों को कम से कम 17875 रुपये का निवेश करना होगा.
  • आईपीओ के तहत कंपनी के कर्मी 40 रुपये के डिस्काउंट पर शेयरों की खरीदारी कर सकते हैं.
  • क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल इंवेस्टर्स (QIB) के लिए इश्यू का 75 फीसदी, नॉन-इंस्टीट्यूशनल इंवेस्टर्स (NII) के लिए 15 फीसदी हिस्सा और खुदरा निवेशकों के लिए 10 फीसदी हिस्सा आरक्षित किया गया है.
  • इसके शेयरों का अलॉटमेंट 14 दिसंबर को तय हो सकता है जबकि लिस्टिंग के लिए 17 दिसंबर का दिन तय किया गया है.
  • नए इश्यू से प्राप्त राशि का इस्तेमाल सिलिकॉन वैली बैंक की सहायक कंपनियों में से एक रेटगेन यूके द्वारा लिए गए कर्ज के भुगतान के लिए किया जाएगा. वहीं DHISCO के अधिग्रहण और रणनीतिक निवेश, अधिग्रहण और अकार्बनिक ग्रोथ के लिए भी इस फंड का इस्तेमाल किया जाएगा. इसके अलावा, फंड का इस्तेमाल टेक्नोलॉजी इनोवेशन, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और अन्य ऑर्गेनिक ग्रोथ इनिशिएटिव, डेटा सेंटर और सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों के लिए कुछ कैपिटल इक्विपमेंट की खरीद में भी किया जाएगा.

Aether Industries IPO: केमिकल कंपनी Aether Industries का जल्द आ सकता है IPO, अगले हफ्ते दाखिल किया जा सकता है ड्राफ्ट पेपर

कंपनी से जुड़ी डिटेल्स

  • यह दुनिया भर में बड़ी ड्रिस्ट्रीब्यूशन टेक्नोलॉजी कंपनियों में से एक है. इसके अलावा यह भारत में हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल इंडस्ट्री में सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर एज ए सर्विस कंपनी (SaaS) है.
  • कंपनी होटल, एयरलाइंस, ऑनलाइन ट्रैवल एजेंट (OTAs), मेटा-सर्च कंपनियों, वेकेशन रेंटल, पैकेज प्रोवाइडर, कार रेंटल, रेल, ट्रैवल मैनेजमेंट कंपनियों, क्रूज़ और फ़ेरी सहित हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल से संबंधित सेवाएं प्रदान करती है.
  • वित्तीय स्थिति की बात करें तो रेटगेन का शुद्ध मुनाफा (प्रॉफिट आफ्टर टैक्स) पिछले तीन वित्त वर्षों में लगातार बढ़ा है, वित्त वर्ष 2019 में कंपनी को 11.3 करोड़ रुपये का मुनाफा हासिल हुआ था जो अगले ही वित्त वर्ष बढ़कर 20.1 करोड़ रुपये हो गया और पिछले वित्त वर्ष 2021 में कंपनी को 28.6 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा हुआ था.
    (स्टोरी में दिए गए स्टॉक रिकमंडेशन संबंधित रिसर्च एनालिस्ट व ब्रोकरेज फर्म के हैं. फाइनेंशियल एक्सप्रेस ऑनलाइन इनकी कोई जिम्मेदारी नहीं लेता. पूंजी बाजार में निवेश जोखिमों के अधीन हैं. निवेश से पहले अपने सलाहकार से जरूर परामर्श कर लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

Financial Express Telegram Financial Express is now on Telegram. Click here to join our channel and stay updated with the latest Biz news and updates.

TRENDING NOW

Business News