सर्वाधिक पढ़ी गईं

Q3 में झुनझुनवाला ने कम की 9 स्टॉक्स में शेयरहोल्डिंग, सिर्फ 4 कंपनियों के शेयरों में आई गिरावट

तीसरी तिमाही में झुनझुनवाला ने नौ स्टॉक्स में अपनी होल्डिंग घटाया था जिसमें से सिर्फ चार ही स्टॉक्स में गिरावट रही.

March 6, 2021 5:11 PM
Rakesh Jhunjhunwala trimmed stake in these firms last quarter shares of some have since gainedराकेश झुनझुनवाला को भारत का वॉरेन बफे माना जाता है.

चालू वित्त वर्ष 2020-21 की तीसरी तिमाही अक्टूबर-दिसंबर 2020 में दिग्गज निवेशक Rakesh Jhunjhunwala ने अपने पोर्टफोलियो में शामिल नौ कंपनियों के कुछ शेयर्स की बिक्री की थी. उसके बाद इन स्टॉक्स में सिर्फ चार में गिरावट आई है और शेष पांच ने पॉजिटिव रिटर्न दिया है. झुनझुनवाला ने अपनी पसंदीदा कंपनी टाइटन के अलावा क्रिसिल, एपटेक, फेडरल बैंक, रैलीज इंडिया, फोर्टिस हेल्थकेयर, ऑटोलाइन इंडस्ट्रीज, एस्कॉर्ट्स और फर्स्टसोर्स सॉल्यूशंस में हिस्सेदारी कम किया था. इसमें से फोर्टिस हेल्थकेयर और क्रिसिल को छोड़कर शेष स्टॉक मार्च 2020 के निम्नतम भाव से लगभग दोगुनी ऊंचाई पर पहुंच गए हैं.

1 अप्रैल से नई कारों में डुएल एयरबैग होगा अनिवार्य, ड्राइवर के साथ साइड सीड के लिए भी जरूरी

इन स्टॉक्स में आया उछाल

  • राकेश झुनझुनवाला ने जिन नौ स्टॉक्स में अपनी हिस्सेदारी कम की है, उसमें सबसे अधिक उछाल एजुकेशन टेक्नोलॉजी फर्म एपटेक स्टॉक में रहा. एपटेक के शेयरों में इस साल 2021 में 39 फीसदी का उछाल आया है और इसके भाव इस समय 218 रुपये प्रति शेयर पहुंच गए हैं. झुनझुनवाला ने इस कंपनी में अपनी 0.17 फीसदी कम किया था और अब उनकी इस कंपनी में 23.84 फीसदी हिस्सेदारी है.
  • निजी सेक्टर के बैंक फेडरल बैंक में दिसंबर 2020 के अंत में झुनझुनवाला की 2.4 फीसदी हिस्सेदारी थी जो चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही जुलाई-सितंबर 2020 की तुलना में 0.30 फीसदी कम है. फेडरल बैंक के शेयरों में इस साल 29 फीसदी का उछाल आया है.
  • फोर्टिस हेल्थकेयर में झुनझुनवाला में अपनी हिस्सेदारी कम कर 2.18 फीसदी कर दिया है. पिछले साल 2020 में इस कंपनी के शेयर में 45 फीसदी का गेन हुआ है लेकिन दिसंबर 2020 के बाद से इस साल 2021 में इसमें 13.46 फीसदी का गेन्स हुआ.
  • पिछली तिमाही अक्टूबर-दिसंबर 2020 में झुनझुनवाला ने जिन दो स्टॉक्स में सबसे अधिक हिस्सेदारी कम की, वह फर्स्टसोर्स सॉल्यूशंस और एस्कॉर्ट्स थे. इस साल 2021 में एस्कॉर्ट्स के शेयर 2.8 फीसदी और फर्स्टसोर्स सॉल्यूशंस के शेयर 5.6 फीसदी मजबूत हुए हैं.

इन स्टॉक्स ने किया बिग बुल के फैसले का समर्थन

  • भारत के वारेन बफे कहे जाने वाले राकेश झुनझुनवाला ने कुछ स्टॉक्स में हिस्सेदारी कम की थी, उनके शेयर भाव में गिरावट आई है. झुनझुनवाला ने टाइटन कंपनी में 0.20 फीसदी हिस्सेदारी कम की थी और इस साल 2021 में इसके शेयर भाव 5.4 फीसदी टूट चुके हैं.
  • ऑटोलाइन इंडस्ट्रीज में झुनझुनवाला ने 0.55 फीसदी हिस्सेदारी कम की थी और अब उनके पास इस कंपनी के 5.64 फीसदी शेयर्स हैं. इस कंपनी के स्टॉक में इस साल 3.8 फीसदी की गिरावट आई है.
  • रैलीज इंडिया में झुनझुनवाला की हिस्सेदारी अब 10 फीसदी है और जब से उन्होंने इसमें अपनी हिस्सेदारी कम की है, इसके शेयर 3.16 फीसदी तक टूट चुके हैं.
  • झुनझुनवाला ने क्रिसिल में भी अपनी हिस्सेदारी कम किया था. क्रिसिल के शेयर इस साल 2021 में 1.33 फीसदी टूटे हैं.
    (झुनझुनवाला की शेयर होल्डिंग्स चालू वित्त वर्ष 2020-21 की तीसरी तिमाही अक्टूबर-दिसंबर 2020 के अंत में जारी रिपोर्ट के आधार पर दिया गया है.)

(Article: Kshitij Bhargava )

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Q3 में झुनझुनवाला ने कम की 9 स्टॉक्स में शेयरहोल्डिंग, सिर्फ 4 कंपनियों के शेयरों में आई गिरावट

Go to Top