सर्वाधिक पढ़ी गईं

राकेश झुनझुनवाला ने बुल मार्केट आने पर जताया भरोसा, इन सेक्टर्स को होगा सबसे ज्यादा फायदा

अरबपति निवेशक राकेश झुनझुनवाला का मानना है कि भारत बड़े सुधारों के मामले में काम कर रहा है और इसके साथ अब घरेलू बाजार में बुल मार्केट आने वाला है.

Updated: Sep 19, 2020 7:53 PM
rakesh jhunjhunwala, titan, titan companyTitan Company stock is currently trading at 47x FY23E earnings, which leaves little room for further upsides in the near‐term

अरबपति निवेशक राकेश झुनझुनवाला का मानना है कि भारत बड़े सुधारों के मामले में काम कर रहा है और इसके साथ अब घरेलू बाजार में बुल मार्केट आने वाला है. एनडीटीवी के साथ अपने इंटरव्यू में झुनझुनवाला ने कहा कि मैक्रो इंडिकेटर और मार्केट मूवमेंट से बुल मार्केट का संकेत मिलता है जहां उनका मानना है कि फार्मास्युटिकल, इंफ्रास्ट्रक्चर और आईटी सेक्टर को सबसे ज्यादा फायदा होगा. झुनझुनवाला ने पहले कहा था कि कोरोना वायरस भारत के लिए सुधार लाने का एक मौका है. इसके साथ उन्होंने कहा था कि भारत को अपनी इज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग में सुधार लाने की भी जरूरत है.

भारत ने पिछले कुछ सालों में कई सुधार किए: झुनझुनवाला

झुनझुनवाला ने कहा कि भारत ने पिछले कुछ सालों में कई सुधार किए हैं जिससे कॉरपोरेट की दुनिया में बहुत कुशलता लाने में मदद मिली है. उन्होंने कहा कि यह बुल मार्केट का पैदा होना है जहां आपके पास एक बदलता देश है, ग्रोथ में बड़ी गिरावट है और सभी लोग वृद्धि से घबराए हुए हैं. ब्रॉकरेज और रिसर्च फर्म मोतीलाल ओस्वाल की हाल ही में आई रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिकी घरों की इक्विटी एसेट्स को सबसे ज्यादा पहुंच है. उनकी वित्तीय बैलेंस शीट में यह 45 फीसदी पर है जबकि भारतीय घरों में केवल 14 फीसदी है.

IPO: केमकॉन स्पेशियलिटी केमिकल्स का आईपीओ 21 सितंबर को खुलेगा, प्राइस बैंड 338-340 रुपये

दुनिया में आ सकती है डिजिटल क्रांति: झुनझुनवाला

महामारी के बाद की दुनिया में राकेश झुनझुनवाला ने कहा कि दुनिया कोरोना वायरस महामारी से जूझ रही है, एक डिजिटल क्रांति आ सकती है जहां उनका मानना है कि भारत को सबसे अधिक फायदा हो सकता है. राकेश झुनझुनवाला का सबसे बड़ा दांव फार्मास्युटिकल पर है और उन्होंने इस बात को दोहराया कि भारत का फार्मास्युटिकल सेक्टर कोरोना वायरस के बाद की दुनिया में विश्व का नेता बन सकता है.

इस साल की शुरुआत में राकेश झुनझुनवाला ने कहा था कि भारत को महामारी द्वारा आए हर अवसर का फायदा लाने के लिए सुधारों पर काम करने की जरूरत है. कृषि सुधारों की बात करते हुए बड़े निवेशक ने कहा कि सुधारों से जुड़ी बातों से पता चलता है कि भारत में सुधार लाना कितना मुश्किल है. उन्होंने इसकी तुलना 1991 के सुधारों से की थी. भारत में जिन सुधारों की जरूरत है, उनमें उन्होंने सावर्जनिक क्षेत्र की इकाइयों को बेचना, इज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग में सुधार और भूमि और श्रम कानूनों में सुधार की जरूरत को जोड़ा था.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. राकेश झुनझुनवाला ने बुल मार्केट आने पर जताया भरोसा, इन सेक्टर्स को होगा सबसे ज्यादा फायदा

Go to Top