सर्वाधिक पढ़ी गईं

Paras Defence and Space IPO: पारस डिफेंस का आईपीओ 304 गुना सब्सक्राइब, ग्रे मार्केट में जबरदस्त प्रीमियम पर भाव, जानिए निवेश पर एक्सपर्ट की राय

Paras Defence and Space IPO: पारस डिफेंस एंड स्पेस टेक्नोलॉजीज आईपीओ को सब्सक्राइब करने का आज आखिरी दिन था और यह आईपीओ 304 गुना सब्सक्राइब हो हुआ है.

Updated: Sep 23, 2021 5:23 PM
Paras Defence IPO subscribed 220 times so far on last day grey market premium soars should you invest KNOW HERE IN DETAILS

Paras Defence and Space Technologies IPO: पारस डिफेंस एंड स्पेस टेक्नोलॉजीज आईपीओ को सब्सक्राइब करने का आज आखिरी दिन था और यह आईपीओ 304.26 गुना सब्सक्राइब हो हुआ. प्राइमरी मार्केट की बात करें तो इसके शेयरों में जबरदस्त तेजी दिख रही है और यह आईपीओ प्राइस के मुकाबले 255 रुपये यानी 146 फीसदी प्रीमियम पर ट्रेड हो रहा है. इस आईपीओ के लिए 165-175 रुपये प्रति शेयर का प्राइस बैंड तय किया गया है.

इश्यू के तहत क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बॉयर्स (QIB) के लिए आरक्षित हिस्सा 169.65 गुना सब्सक्राइब हुआ है जबकि नॉन-इंस्टीट्यूनल इंवेस्टर्स के लिए आरक्षित हिस्सा (NII) 927.70 गुना सब्सक्राइब हुआ है. खुदरा निवेशकों के लिए आरक्षित हिस्सा 112.81 गुना सब्सक्राइब हुआ है.

Jhujhunwala Portfolio: राकेश झुनझुनवाला की कंपनी ने इस स्टॉक से 10 दिनों में कमाए 70 करोड़; अपने पोर्टफोलियो में रखें यह शेयर या नहीं, जानिए एक्सपर्ट की राय

निवेश को लेकर एक्सपर्ट की ये है राय

  • आईपीओ के जरिए जुटाए गए पैसों से पारस डिफेंस एंड स्पेस टेक्नोलॉजी की योजना अपनी उत्पादन क्षमता और वैश्विक स्तर पर अपनी मौजूदगी बढ़ाना है. एनालिस्ट्स का मानना है कि कंपनी का फोकस नई खोज और विकास पर बना रहेगा जो प्रतिस्पर्धी बने रहने के लिए जरूरी है. इसके अलावा कंपनी की योजना अपने प्रॉडक्ट्स औऱ सॉल्यूशंस को आरएंडडी व विदेशी तकनीकी कंपनियों के साथ साझेदारी के जरिए अधिक डाइवर्सिफाई करने की है.
  • रेलिगेयर ब्रोकिंग के एनालिस्ट्स के मुताबिक पिछले तीन वित्त वर्ष में कंपनी का वित्तीय प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा. पारस डिफेंस एंड स्पेस के सामने सबसे बड़ा रिस्क सरकार द्वारा डिफेंस व स्पेस बजट के आवंटन में कटौती है और इसका 60 फीसदी रेवेन्यू महज कस्टमर्स से आता है.

Stock Tips: इन दो स्टॉक्स में एक महीने में 18% मुनाफे का गोल्डेन चांस, निफ्टी एक बार फिर छू सकता है रिकॉर्ड ऊंचाई

  • रिलायंस सिक्योरिटीज के एनालिस्ट्स के मुताबिक पारस डिफेंस का आईपीओ का वैल्यूएशन 43x F21 अर्निग्ंस पर है जोकि आकर्षक नहीं दिख रहा है. कंपनी के मुताबिक तुलना के लिए उसका कोई पियर्स नहीं है, अन्य डिफेंस कंपनियां जैसे कि हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स (HAL) और भारत डायनेमिक्स हेल्दी कैश फ्लो जेनेरेट करने के बावजूद डिस्काउंट पर ट्रेड हो रही हैं. एनालिस्ट्स के मुताबिक भारत में डिफेंस सेक्टर में आत्मनिर्भर भारत और मेक इन इंडिया के चलते बेहतर ग्रोथ की संभावना है. इसके अलावा पारस डिफेंस एंड स्पेस टेक्नोलॉजी के कुछ प्रॉडक्ट्स ऐसे हैं जिसे मिनिस्ट्री ऑफ डिफेंस के डिपार्टमेंट ऑफ मिलिट्री अफेयर्स द्वारा 101 वस्तुओं की सूची में शामिल किया गया है जिसके आयात पर प्रतिबंध लगा हुआ हैय इससे कंपनी के ऑर्डर बुक में बढ़ोतरी होगी.
    (आर्टिकल: सुरभि जैन)
    (स्टोरी में दिए गए स्टॉक रिकमंडेशन संबंधित रिसर्च एनालिस्ट व ब्रोकरेज फर्म के हैं. फाइनेंशियल एक्सप्रेस ऑनलाइन इनकी कोई जिम्मेदारी नहीं लेता. पूंजी बाजार में निवेश जोखिमों के अधीन हैं. निवेश से पहले अपने सलाहकार से जरूर परामर्श कर लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Paras Defence and Space IPO: पारस डिफेंस का आईपीओ 304 गुना सब्सक्राइब, ग्रे मार्केट में जबरदस्त प्रीमियम पर भाव, जानिए निवेश पर एक्सपर्ट की राय
Tags:IPO

Go to Top