मुख्य समाचार:

1600 से ज्यादा भारतीय कंपनियों में लगा है चीन का 1 अरब डॉलर, राज्यसभा में सरकार का खुलासा

यह आंकड़ा मंगलवार को राज्यसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में दिया गया.

Updated: Sep 15, 2020 10:27 PM
Over 1600 Indian companies received USD 1 bln FDI from China during Apr 2016-Mar 2020: Government data, rajya sabha, parliament monsoon session

देश की 1,600 से भी अधिक भारतीय कंपनियों को अप्रैल 2016 से मार्च 2020 के दौरान चीन से एक अरब डॉलर का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) प्राप्त हुआ. सरकारी आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है. यह आंकड़ा मंगलवार को राज्यसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में दिया गया. सरकार से प्रश्न किया गया था कि क्या यह तथ्य है कि भारतीय कंपनियों, विशेष रूप से स्टार्ट-अप में चीनी एजेंसियों द्वारा बड़े पैमाने पर निवेश किया गया है.

आंकड़ों के अनुसार, 1,600 से अधिक कंपनियों ने अप्रैल 2016 से मार्च 2020 की अवधि के दौरान चीन से 102 करोड़ 2.5 लाख डॉलर (1.02 अरब डॉलर) का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) प्राप्त किया. ये कंपनियां 46 क्षेत्रों में थीं. इनमें से ऑटोमोबाइल उद्योग, पुस्तकों की छपाई (लिथो प्रिंटिंग उद्योग सहित), इलेक्ट्रॉनिक्स, सेवाओं और बिजली के उपकरणों की कंपनियों ने इस अवधि के दौरान चीन से 10 करोड़ डॉलर से अधिक का एफडीआई प्राप्त किया.

ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री में चीन से आया 17.2 करोड़ डॉलर

आंकड़ों से पता चलता है कि ऑटोमोबाइल उद्योग ने चीन से अधिकतम 17.2 करोड़ डॉलर का एफडीआई प्राप्त किया, जबकि सेवा क्षेत्र ने 13 करोड़ 96.5 लाख डॉलर का एफडीआई प्राप्त किया. निगमित मामलों के राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने लिखित जवाब में कहा कि कॉरपोरेट मामलों का मंत्रालय चीनी एजेंसियों द्वारा किए गए निवेश के बारे में जानकारी नहीं रखता है.

एक्सपोर्ट में लगातार 6ठें माह गिरावट, अगस्त में व्यापार घाटा कम होकर 6.77 अरब डॉलर

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. 1600 से ज्यादा भारतीय कंपनियों में लगा है चीन का 1 अरब डॉलर, राज्यसभा में सरकार का खुलासा

Go to Top