मुख्य समाचार:
  1. कंजम्पशन थीम में सुस्ती से न घबराएं निवेशक, इन शेयरों में मिल सकता है अच्छा रिटर्न

कंजम्पशन थीम में सुस्ती से न घबराएं निवेशक, इन शेयरों में मिल सकता है अच्छा रिटर्न

Consumption Stocks: कंजम्पशन सेक्टर में अभी कुछ महीने रहेगा दबाव

April 9, 2019 7:57 AM
Consumption Sector, Consumption Stocks, कंजम्पशन सेक्टर, Slowdown In Consumption, Auto, FMCG, Consumer Durables, Invest In Stock market, Invest In Consumption StocksConsumption Stocks: कंजम्पशन सेक्टर में अभी कुछ महीने रहेगा दबाव

Consumption Stocks: पिछले कुछ महीनों से कंजम्पशन सेक्टर में सुस्ती देखी गई है. निु्टी पर कंजम्पशन इंडेक्स की बात करें तो पिछले 1 साल में -0.62 फीसदी रिटर्न मिला है. वहीं पिछले एक महीने में बाजार में रैली के बाद भी इंडेक्स का रिटर्न 1 फीसदी से कम है. ऑटोमोबाइल में सुस्ती का भी सेक्टर पर असर पड़ा है. सवाल उठता है कि निवेशकों को इस सेक्टर में क्या स्ट्रैटजी अपनानी चाहिए. एक्सपर्ट मान रहे हैं कि कंजम्पशन स्टोरी आगे सुस्त नहीं रहेगी. जनरल इलेक्शन के बाद ऑटो, एफएमसीजी, कंज्यूमर ड्यूरेबल में कई अच्छे शेयर हैं जो पिक करेंगे. ऐसे में निवेशक अच्छे शेयरों को पोर्टफोलियो में शामिल कर सकते हैं.

इन वजहों से रही है सुस्ती

#एंजेल ब्रोकिंग के AVP (इक्विटी रिसर्च) अमरजीत मौर्या का कहना है कि पिछले दिनों एनबीएफसी में इश्यू होने की वजह से फंडिंग पर असर पड़ा जो कंजम्पशन सेक्टर में सुस्ती का बड़ा कारण रहा है. इसकी वजह से ऑटोमोबाइल और कंज्यूमर ड्यूरेबल सेक्टर दोनों प्रभावित हुए.

#ऑटोमोबाइल की बात करें तो अक्टूबर के बाद से सेल्स अच्छी नहीं रही है. यहां तक कि फेस्टिव सीजन में भी आटो की डिमांड सुस्त रहने से इन्वेंट्री लगातार बढ़ गई. फिलहाल ऑटो कंपनियां अभी इन्वेंट्री क्लीयर करने में लगी हैं. उन्होंने अपना प्रोडक्शन भी घटा दिया है.

#इसी तरह से विंटर सीजन लंबा चल जाने की वजह से कंज्यूमर ड्यूरेबल सेक्टर पर भी असर देखा गया. एसी, कूलर जैसे प्रोडक्ट की डिमांड कम आई.

आगे तेजी आने की उम्मीद

एक्सपर्ट का कहना है कि हालांकि अभी कुछ महीने कंजम्पशन सेक्टर से जुड़ी दिक्कतें बनी रहेंगी, लेकिन लंबी अवधि में कंजम्पशन स्टोरी आगे बढ़ने की पूरी उम्मीद दिख रही है.

ट्रेड स्विफ्ट के रिसर्च हेड संदीप जैन का कहना है कि एनबीएफसी से जुड़े इश्यू धीरे धीरे कम हो रहे हैं. जैसे जैसे इश्यू कम होंगे फंडिंग की दिक्कत दूर होगी. वहीं गर्मियों के सीजन में एसी व अन्य कंज्यूमर ड्यूरेबल प्रोडक्ट की डिमांड बढ़ेगी.

ऑटो सेक्टर में भी कई नई लांचिंग आने वाली हैं, जिससे डिमांड एक बार फिर तेज हो सकती है. वहीं जो डिमांड रुकी हुई है, वह इलेक्शन के बाद सामने आएगी, जिससे सेक्टर में तेजी आएगी.

किन Consumption शेयरों में निवेश की सलाह

अमरजीत मौर्या ने बाटा इंडिया, ब्लू स्टार और सियाराम सिल्क मिल्स में 15 फीसदी अपसाइड का लक्ष्य रखकर निवेश की सलाह दी है.

ब्रोकरेज हाउस एंजेल ब्रोकिंग ने मारुति सुजुकी और महिंद्रा एंड महिंद्रा में निवेश की सलाह दी है. मारुति के लिए 8552 रुपये का लक्ष्य रखा है, यानी करंट प्राइस 7120 के लिहाज से इसमें 20 फीसदी रिटर्न मिल सकता है. वहीं, महिंद्रा एंड महिंद्रा के लिए 850 रुपये का लक्ष्य रखा है. करंट प्राइस 665 रुपये के लिहाज से इसमें 28 फीसदी रिटर्न मिल सकता है.

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने टाइटन कंपनी में 1300 रुपये का लक्ष्य दिया है. करंट प्राइस 1103 रुपये के लिहाज से शेयर में 18 फीसदी रिटर्न मिल सकता है.

ब्रोकरेज हाउस रिलायंस सिक्युरिटीज ने HUL के लिए 2000 रुपये का लक्ष्य दिया है. करंट प्राइस 1662 के लिहाज से शेयर में 20 फीसदी रिटर्न मिल सकता है.

(Discliamer: हमने यहां निवेश की सलाह नहीं दी है. यह जानकारी ब्रोकरेज हाउस और एक्सपर्ट की रिपोर्ट और बात चीत के आधार पर दी गई है. बाजार में जोखिम होते हैं, निवेश के पहले एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें.)

Go to Top