मुख्य समाचार:
  1. जीएसटी के अंतर्गत नहीं लागू होगा वन टैक्स वन नेशन

जीएसटी के अंतर्गत नहीं लागू होगा वन टैक्स वन नेशन

नए अप्रत्यक्ष कर शासन जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) के तहत कुछ विकसित अर्थव्यवस्था वाले देशों में लागू एकल स्लैब कराधान जैसी संरचना को लागू नहीं किया जाएगा।

January 3, 2018 11:44 AM
gst, one nation one tax, goods and service tax, arun jaitley, how to file gst, nearest gst centre भारतीय अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था में 5, 12, 18 और 28 फीसदी के चार कर स्लैब हैं।

नए अप्रत्यक्ष कर शासन जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) के तहत कुछ विकसित अर्थव्यवस्था वाले देशों में लागू एकल स्लैब कराधान जैसी संरचना को लागू नहीं किया जाएगा। सरकार ने मंगलवार को संसद को यह जानकारी दी। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने प्रश्नकाल के दौरान राज्यसभा में कहा कि सभी वस्तुओं पर समान कर की दर लागू करने वाले देशों में ऐसे देश शामिल हैं, जहां पूरी आबादी गरीबी रेखा से ऊपर है।

उन्होंने कहा, “भारत में, खाद्य पदार्थों को शून्य या न्यूनतम स्लैब में रखा गया है, जबकि लक्जरी वस्तुओं को अधिक कर लगाया गया है।” वित्त मंत्री ने हालांकि कहा कि जीएसटी के चार स्लैब दर ढांचे के भीतर वस्तुओं पर करों की दरों को तर्कसंगत बनाने की प्रक्रिया जारी रहेगी।भारतीय अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था में 5, 12, 18 और 28 फीसदी के चार कर स्लैब हैं।

सर्वोच्च संघीय संस्था जीएसटी परिषद ने नवम्बर में 1,200 से अधिक वस्तुओं में से केवल 50 फीसदी वस्तुओं की ही 28 फीसदी से ज्यादा कर के अंतर्गत रखा है। जिन वस्तुओं पर 28 फीसदी कर लगाया गया है, वे लक्जरी वस्तुएं हैं या फिर सिगरेट-शराब जैसी वस्तुए हैं। जेटली ने राज्यसभा को यह भी बताया कि जीएसटी परिषद ने जीएसटी नेटवर्क के अध्यक्ष ए.बी. पांडे के संयोजन में एक समिति का गठन किया है, जो रिटर्न दाखिल करने से संबंधित मुद्दों पर विचार करेगी और अनुपालन भार कम करने पर सुझाव देगी। उन्होंने कहा, “समिति जीएसटी में रिटर्न दाखिल करने की प्रक्रिया में बदलाव की सिफारिश करेगी।”

Go to Top