सर्वाधिक पढ़ी गईं

मुकेश अंबानी ब्रुकफील्ड को बेच सकेंगे ईस्ट वेस्ट पाइपलाइन , पेट्रोलियम नियामक ने लगाई मुहर

यह जानकारी PNGRB के चेयरमैन दिनेश सर्राफ ने दी.

October 28, 2018 3:24 PM
Oil regulator approves sale of mukesh Ambani's pipeline to Brookfieldयह भारत में ऊर्जा क्षेत्र में ब्रुकफील्ड का पहला निवेश है. हालांकि, अधिग्रहण के मूल्य की जानकारी नहीं दी गयी है. (Reuters)

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस नियामक बोर्ड (PNGRB) ने अरबपति कारोबारी मुकेश अंबानी को घाटे में चल रही ईस्ट-वेस्ट प्राकृतिक गैस पाइपलाइन को कनाडा की कंपनी ब्रुकफील्ड को बेचने की मंजूरी दे दी है. यह जानकारी पीएनजीआरबी के चेयरमैन दिनेश सर्राफ ने दी.

उन्होंने बताया कि ईस्ट वेस्ट पाइपलाइन लिमिटेड की बिक्री को मंजूरी दी गयी है. यह भारत में ऊर्जा क्षेत्र में ब्रुकफील्ड का पहला निवेश है. हालांकि, अधिग्रहण के मूल्य की जानकारी नहीं दी गयी है.

10 साल पहले हुई थी शुरू

बता दें कि अंबानी की रिलायंस गैस ट्रांसपोर्टेशन इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड ने एक दशक यानी 10 साल पहले 1,400 किलोमीटर लंबी पाइपलाइन का निर्माण किया था. यह पाइपलाइन आंध्र तट पर काकीनाड़ा को गुजरात के भड़ूच से जोड़ती है. अब इस कंपनी का नाम बदलकर ईस्ट-वेस्ट पाइपलाइन लिमिटेड रखा गया है.

क्षमता से 5 फीसदी कम पर कर रही काम

पाइपलाइन की क्षमता प्रतिदिन आठ करोड़ घनमीटर प्राकृतिक गैस परिवहन की है. वर्तमान में यह पाइपलाइन अपनी क्षमता के पांच फीसदी से कम पर काम कर रही है क्योंकि रिलायंस इंडस्ट्रीज के केजी-डी6 ब्लॉक का उत्पादन उम्मीद से पहले घट गया है.

सौदे को CCI से सितंबर में मिली थी मंजूरी

भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (CCI) ने सितंबर में इस सौदे को मंजूरी दी थी. ब्रुकफील्ड बुनियादी ढांचा निवेश न्यास (आईआईटी) को प्रायोजित कर रही है. इसका नाम इंडिया इंफ्रास्ट्रक्चर ट्रस्ट है. पेट्रोलियम नियामक ने कुछ सप्ताह पहले ही इसे मंजूरी दी थी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. मुकेश अंबानी ब्रुकफील्ड को बेच सकेंगे ईस्ट वेस्ट पाइपलाइन , पेट्रोलियम नियामक ने लगाई मुहर

Go to Top