मुख्य समाचार:
  1. IMF का NPA पर अलर्ट! कहा- सरकारी बैंकों में कैपिटल इनफ्लो मजबूत करने की जरूरत

IMF का NPA पर अलर्ट! कहा- सरकारी बैंकों में कैपिटल इनफ्लो मजबूत करने की जरूरत

भारत में एनपीए का स्तर अभी भी काफी अधिक है. इसे देखते हुए कुछ बैंकों खासकर सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के पूंजीकरण के स्तर को मजबूत करना चाहिए.

April 11, 2019 3:44 PM
imf, npa, banking sector, nps problme in indian banking, indian banking system, imf suggested india, government bank in india, एनपीए, एनपीए समस्या, NPA Problemएनपीए की पहचान और उनके समाधान की पहल एनपीए को साफ करने की प्रक्रिया का अहम हिस्सा है.

भारत में गैर-निष्पादित कर्ज (NPA) यानी फंसे कर्ज के ऊंचे स्तर को देखते हुए अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने कहा कि भारत को कुछ बैंक खासकर सरकारी बैंकों में पूंजीकरण के स्तर को मजबूत करने की जरूरत है. आईएमएफ की मौद्रिक एंव पूंजी बाजार विभाग की प्रमुख एना इलियाना ने बुधवार को कहा बैंकों में पूंजीकरण के स्तर को मजबूत करना भारत के लिए वित्तीय क्षेत्र आकलन कार्यक्रम (FSAP) की सिफारिशों में एक है.

NPA का स्तर अभी भी काफी अधिक: IMF

आईएमएफ की अधिकारी ने कहा, ” भारत में एनपीए का स्तर अभी भी काफी अधिक है. इसे देखते हुए कुछ बैंकों खासकर सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के पूंजीकरण के स्तर को मजबूत करना चाहिए. भारत ने बैंकों में पूंजी बफर को बढ़ाने और सरकारी बैंकों में कामकाज को बेहतर बनाने के लिए भी कुछ कदम उठाए थे. इनका कुछ सकारात्मक असर हुआ है.”

NPA का स्तर ऊंचा बना रहेगा

भारतीय बैंकिंग प्रणाली से जुड़े एक सवाल के जवाब में आईएमएफ के मौद्रिक एवं पूंजी बाजार विभाग के निदेशक और वित्तीय सलाहकार टोबिस एड्रियन ने कहा कि भारत में एनपीए का स्तर ऊंचा बना रहेगा. उन्होंने कहा , ” इस मोर्चे पर कुछ सुधार हुआ है लेकिन हम भारत में एनपीए को कम करने में और प्रगति का स्वागत करेंगे.” उन्होंने कहा कि एनपीए की पहचान और उनके समाधान के लिए संस्थागत तंत्र वास्तव में बैंकिग प्रणाली से फंसे कर्ज को साफ करने की प्रक्रिया का अहम हिस्सा है और अधिकारियों को इसी दिशा में काम करना जारी रखना चाहिए.

Go to Top