मुख्य समाचार:

बाजार में पैसा लगाने का सही समय! लंबी अवधि में स्मालकैप-मिडकैप फंड कर सकते हैं आउटपरफॉर्म

कोरोना वायरस के चलते बिगड़े हुए सेंटीमेंट में बाजार में जिस तरह से बड़ा करेक्शन देखने को मिला है, अब बाजार तकरीबन बॉटम आउट हो चुका है

April 11, 2020 8:31 AM
Now is the best time to invest in stocks, equity mutual fund, smallcap funds, midcap funds, largecap funds, mutual fund investment tipsकोरोना वायरस के चलते बिगड़े हुए सेंटीमेंट में बाजार में जिस तरह से बड़ा करेक्शन देखने को मिला है, अब बाजार तकरीबन बॉटम आउट हो चुका है.

कोरोना वायरस के चलते बिगड़े हुए सेंटीमेंट में बाजार में जिस तरह से बड़ा करेक्शन देखने को मिला है, अब बाजार तकरीबन बॉटम आउट हो चुका है या उसके करीब है. अब बाजार इससे निकले की कोशिश में लगा हुआ है. इस बार सिर्फ मिड कैप या स्मालकैप शेयरों की पिटाई नहीं हुई है, गिरावट हर जगह और हर सेग्मेंट में रही है. हर इंडेक्स लाल निशान में दिख रहे हैं.

लेकिन ध्यान देने वाली बात यह है कि बाजार हमेशा आगे की ओर देखता है. ऐसे में लंबी अवधि के स्मार्ट इन्वेस्टर्स वहीं होते हैं, जो ऐसे ही मोड़ पर पैसा लगाने का तैयार रहते हैं. देखें तो बॉटम आउट हो चुके बाजार में पैसा लगाने का यह सही समय है. ऐसे में हमारी सलाह है कि निवेशक कम से कम 5 साल का लक्ष्य लेकर इक्विटी फंड में निवेश करके स्मार्ट मनी मूवर्स का हिस्सा बनें.

हालांकि यह जरूरी है कि अनुशासन के साथ निवेश करें, दीर्घकालिक लक्ष्य रखे, लक्ष्य पूरा न होते तक ऐसे संकट के समय धैर्य बनाए रखें. लंबी अवधि में किया गया निवेश ही सफलता की कुंजी है. यह अलग अलग स्कीम के रिटर्न चार्ट को देखकर आप भी अंदाजा लगा सकते हैं. कम से कम 5 साल के रिटर्न चार्ट को देखें तो ज्यादातर स्कीम में पॉजिटिव रिटर्न दिखेगा. लंबी अवधि में बाजार का जोखिम कवर हो जाता है.

बाजार में गिरावट की बड़ी वजह

• कोरोना वायरस का दुनियाभर में फैलना और उससे आर्थिक गतिविधियों को नुकसान.

• बाजार में यह सेंटीमेंट भी हावी रहा कि कोरोना वायरस का कोई इलाज नहीं है और अबतक कोई वेक्सीन या दवा नहीं खोजी गई.

• क्रूड की कीमतों में पिछले महीने तक 1 जनवरी के भाव से करीब 60 फीसदी तक की गिरावट आई, जिससे दुनियाभर के बाजारों में मंदी की आशंका बढ़ गई.

म्यूचुअल फंड में 3-5 साल के निवेश पर

• इक्विटी म्यूचुअल फंड लांग टर्म के लिहाज से रिटर्न देने में सबसे बेहतर साबित हो सकते हैं.

• 3 से 5 साल का लक्ष्य है तो स्मालकैप सेग्मेंट में रिटर्न मिडकैप और लॉर्जकैप की तुलना में ज्यादा हो सकता है.

• मार्केट वैल्युएशन कई साल के निचले स्तर पर है, ऐसे में यह निवेश का शानदार मौका है. आकर्षक हो चुके वैल्युएशन का फायदा निवेशकों को लंबे समय तक मिलेगा.

सुरक्षित निवेश के कुछ टिप्स

अमूमन देखा जाता है कि पैनिक के चलते निवेशक कई ऐसी गलतियां कर जहाते हें, जो वे सामान्य मार्केट कंडीशन में नहीं करते हैं. 2008 से तुलना करें तो कोरोना संकट ज्यादा परेशान करने वाला है. क्योंकि इसमें वेल्थ के साथ हेल्थ का भी इश्यू है. इसलिए पैनिक में आना सामान्य बात है. ऐसे में कुछ गलतियां करने से बचें.

• गलत समय पर गलत निर्णय से बचें. यह समय अपने निवेश को निकालकर नुकसान करने का समय नहीं है. बाजार गिरने से वैसे भी आप नुकसान में हैं. इसलिए धैर्य बनाकर बाजार के स्थिर होने का इंतजार करें.

• रिस्क और वोलैटिलिटी को मिक्स न करें. रिस्क तब ज्यादा होता है जब आप हाई वैल्युएशन पर निवेश करते हैं. अभी मार्केट का वैल्युएशन आकर्षक है. वोलैटिलिटी स्थाई नहीं है. इसलिए लंबी अवधि का सोचकर बाजार में पैसा लगाएं.

• अफवाहों के चक्कर में पड़कर निर्णय न लें. मंदी के समय अफवाहें हावी रहती हैं. बेसिक पर रहें. अच्छे सेक्टर के साथ साथ अच्छी स्कीम की पहचान करें और एक्सपर्ट की सलाह से निवेश करें.

(लेखक: जॉर्ज हेबर जोसेफ, CEO & CIO, ITI म्यूचुअल फंड)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. बाजार में पैसा लगाने का सही समय! लंबी अवधि में स्मालकैप-मिडकैप फंड कर सकते हैं आउटपरफॉर्म

Go to Top