सर्वाधिक पढ़ी गईं

Nifty Target: इस साल 17400 तक पहुंच सकता है निफ्टी, 2004-2007 की बुल रैली फिर होगी रिपीट?

Nifty 50 Outlook: इस हफ्ते लगातार चार कारोबारी दिन निफ्टी रिकॉर्ड ऊंचाई पर बंद हुआ है और आज 5 अगस्त को निफ्टी ने इंट्रा-डे में 16300 का नया लेवल भी पार किया था.

Updated: Aug 05, 2021 3:43 PM
Nifty target 17400 by December current rally a repeat of 2004-07 bull runआर्थिक अनिश्चितता और वोलैटिलिटी में गिरावट के चलते पिछले साल नवंबर 2020 से अब तक स्मालकैप और मिडकैप स्टॉक्स से इस साल निवेशकों को तगड़ा रिटर्न मिलने वाला है.

Nifty Outlook: इस हफ्ते लगातार चार कारोबारी दिन निफ्टी रिकॉर्ड ऊंचाई पर बंद हुआ है और आज 5 अगस्त को निफ्टी ने इंट्रा-डे में 16300 का नया लेवल भी पार किया था. अब इस साल के अंत की बात करें तो NSE Nifty 50 दिसंबर 2021 में 17400 के लेवल तक पहुंच सकता है. घरेलू ब्रोकरेज फर्म के मुताबिक वोलेटिलिटी तेजी से कम हो रही है जिससे निफ्टी में बुल रन के मजबूत संकेत मिल रहे हैं. जुलाई 2021 में India VIX (यह नियर टर्म में एक्सपेक्टेड वोलेटिलिटी को दर्शाता है) गिरकर 13 पर रह गया जो लांग टर्म औसत 22 से काफी कम है. इससे मार्केट में सीमित गिरावट के साथ आगे तेजी बने रहने के संकेत मिल रहे हैं.

डोमेस्टिक रिसर्च फर्म एक्सिस सिक्योरिटीज के मुताबिक अगर वीआईएक्स (वोलैटिलिटी इंडेक्स में आगे भी गिरावट होती है तो इससे मार्केट में और तेजी आएगी. आर्थिक अनिश्चितता और वोलैटिलिटी में गिरावट के चलते पिछले साल नवंबर 2020 से अब तक स्मालकैप और मिडकैप स्टॉक्स से इस साल निवेशकों को तगड़ा रिटर्न मिलने वाला है.

Stock Tips: निफ्टी में तेजी के आसार, इन दो स्टॉक्स में करें निवेश, एक महीने में पा सकते हैं 11% का मुनाफा

10 बार निफ्टी में आया है Bull Phase

इससे पहले निफ्टी इंडेक्स में 10 बार बुल का दौर आया है. बुल फेज के हर दौर में 27 महीने की औसतन अवधि में 144 फीसदी का रिटर्न मिला है.

  • सबसे पहला बुल फेज 1990-1992 में आया था जब 22 महीने में 350 फीसदी का रिटर्न मिला था.
  • दूसरा फेज- 1993-1994- 18 महीने में 104 फीसदी का रिटर्न
  • तीसरा फेज- 1997-1998- 20 महीनों में 17 फीसदी का रिटर्न
  • चौथा फेज- 1998-2000- 15 महीनों में 113 फीसदी रिटर्न
  • पांचवा फेज- 2001-2004- 28 महीनों में 127 फीसदी का रिटर्न
  • छठा फेज- 2004-2008- 44 महीनों में 314 फीसदी का रिटर्न
  • सातवां फेज- 2009-2010- 20 महीनों में 141 फीसदी का रिटर्न
  • आठवां फेज- 2012-2015- 92 फीसदी रिटर्न
  • नवां फेज- 2016-2020- 48 महीनों में 72 फीसदी रिटर्न
  • दसवां फेज- वर्तमान- इस फेज में 16 महीनों में 107 फीसदी का रिटर्न मिल चुका है.

Bharti Airtel बना सेंसेक्स का टॉप गेनर,मुनाफावसूली कर लें या बनें रहें- जानिए क्या है नामी ब्रोकरेज फर्मों की राय

लार्जकैप्स की तुलना में मिडकैप्स अधिक आकर्षक

वैल्यूएशन के आधार पर लार्जकैप्स की तुलना में मिडकैप्स स्टॉक्स अधिक आकर्षक दिख रहे हैं. डोमेस्टिक ब्रोकरेज फर्म के मुताबिक 2017 के बुल फेज में लार्जकैप्स की तुलना में मिडकैप्स 45 फीसदी प्रीमियम पर ट्रेड हो रहे थे. एक्सिस सिक्योरिटीज के मुताबिक इस समय आईपीओ की बारिश हो रही है यानी कि अधिक संख्या में आईपीओ इशू आ रहे हैं और उन्हें सफलता भी मिल रही है. जिससे मिडकैप व स्मालकैप स्टॉक्स के प्रति लोगों के आकर्षण का संकेत मिलता है. जोमैटो की मार्केट में बंपर लिस्टिंग से अगली पीढ़ी के बिजनस मॉडल को लेकर निवेशकों की रिस्क लेने की मजबूत क्षमता का अंदाजा लगता है.
(आर्टिकल: सुरभि जैन)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Nifty Target: इस साल 17400 तक पहुंच सकता है निफ्टी, 2004-2007 की बुल रैली फिर होगी रिपीट?

Go to Top