सर्वाधिक पढ़ी गईं

निफ्टी छू सकता है 20 हजार का लेवल, सेंसेक्स 66600 के पार, शेयर मार्केट को मिलेगा इनसे बेहतरीन सपोर्ट

Next Year Stock Market Target: अगले एक साल में एनएसई निफ्टी 20 हजार और बीएसई सेंसेक्स 66600 के लेवल को छू सकता है.

October 6, 2021 2:51 PM
Nifty headed for 20000 Sensex for 66600 in one year growth policies earnings to fuel rally says ICICI Directसरकार की प्रो-ग्रोथ नीतियां और कॉरपोरेट कंपनियों की मजबूत कमाई के दम पर अगले एक साल में मार्केट नई ऊंचाई पर पहुंच सकता है. (Image- Pixabay)

Sensex, Nifty 50 Eyes on New High in One Year: सरकार की प्रो-ग्रोथ नीतियां और कॉरपोरेट कंपनियों की मजबूत कमाई के दम पर अगले एक साल में मार्केट नई ऊंचाई पर पहुंच सकता है. ब्रोकरेज फर्म आईसीआईसीआई डायरेक्ट का अनुमान है कि अगले एक साल में एनएसई निफ्टी 20 हजार और बीएसई सेंसेक्स 66600 के लेवल को छू सकता है. इस कैलेंडर वर्ष 2021 की बात करें तो इस साल अब तक सेंसेक्स और निफ्टी में 25 फीसदी तक का उछाल आ चुका है.

ब्रोकरेज फर्म का मानना है कि स्टॉक मार्केट को निवेशकों द्वारा इक्विटी को एसेट माने जाने और बढ़ते डिजटलीकरण से फायदा मिला है. ब्रोकरेज फर्म ने बड़ी संख्या में नए डीमैट खाते जाने को भी मार्केट में तेजी की वजह बताया है. नीचे उन प्रमुख कारकों के बारे में बताया जा रहा है जिसके दम पर मार्केट नई ऊंचाइयों पर पहुंच सकता है.

How to Select Best ELSS Mutual Fund: ईएलएसएस चुनते समय एक जैसे ट्रैक रिकॉर्ड और एसेट एलोकेशन से हो रही उलझन! ऐसे कर सकते हैं सही फंड का चुनाव

ग्रोथ को बढ़ाने वाली नीतियां

घरेलू स्टॉक मार्केट को सरकारी नीतियों का सहारा मिलेगा. महामारी के दौरान सरकार ने कई सेक्टरों के लिए पीएलआई (प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव) योजनाओं की शुरुआत की. इसके तहत ऑटो सेक्टर में नई तकनीक को इस योजना को लाया गया. हाल ही में सरकार ने टेलीकॉम सेक्टर के लिए राहत पैकेज का ऐलान किया. इस प्रकार के ऐलान से मार्केट सेंटिमेंट को मजबूत करने में मदद मिलती है.

एसेट मोनेटाइजेशन

केंद्र सरकार की वित्तीय सेहत नेशनल एसेट मोनेटाइजेशन पाइपलाइन और बेहतर टैक्स कलेक्शन से मजबूत होने का अनुमान है. मोनेटाइजेशन स्कीम के तहत सरकार वित्त वर्ष 2022 से वित्त वर्ष 2025 तक 6 लाख करोड़ रुपये जुटा सकती है. जीएसटी कलेक्शन भी हर महीने 1 लाख करोड़ रुपये से अधिक हो रहा है. सरकार के पास पैसे अधिक होंमगे तो इसका इस्तेमाल पूंजीगत खर्चों व इंफ्रास्ट्रक्चर प्लान के लिए किया जा सकता है.

वैक्सीनेशन में तेजी

भारत में वैक्सीनेशन कार्यक्रम तेजी से चल रहा है और करीब 69 फीसदी एलिजिबिल लोगों को कम से कम कोरोना वैक्सीन की एक डोज लग चुकी है. एक अनुमान के मुताबिक इस साल के अंत तक करीब 200 करोड़ वैक्सीन डोज लग जाएगी. वैक्सीनेशन अधिक होने पर आर्थिक रिकवरी भी तेज होगी और इससे स्टॉक मार्केट भी नई ऊंचाइयों की तरफ बढ़ेगा.

रीयल एस्टेट में तेजी

कोरोना महामारी के चलते रीयल एस्टेट सेक्टर बुरी तरह प्रभावित हुआ था लेकिन सितंबर 2021 में इसमें शानदार तेजी दिखी और मुंबई जैसे शहरों में रिकॉर्ड संख्या में लोगों ने घरों की बुकिंग की. घरों की कीमतों में अब बढ़ोतरी हो रही है. रीयल एस्टेट सेक्टर में इस तेजी का स्टॉक मार्केट पर भी पॉजिटिव असर पड़ेगा.

Festive Offer: होंडा कार ने फेस्टिव ऑफर का किया ऐलान; City, Amaze और Jazz पर इतनी होगी बचत

स्टार्टअप की लिस्टिंग

ऑनलाइन फूड डिलीवरी प्लेटफॉर्म जोमैटो की बंपर लिस्टिंग के बाद अन्य भारतीय स्टार्टअप्स भी लिस्ट होने की तैयारी कर रहे हैं. पेटीएम के अलावा न्याका और ओयो ने आईपीओ के लिए बाजार नियामक सेबी के पास पेपर्स जमा कर दिए हैं.

कॉरपोरेट कंपनियों की कमाई में बढ़ोतरी

वित्त वर्ष 2019-21 में कॉरपोरेट की कमाई करीब 5 फीसदी की सीएजीआर (कंपाउंड एनुअल ग्रोथ रेट) से बढ़ रही थी. हालांकि ब्रोकरेज फर्म आईसीआईसीआई डायरेक्ट का अनुमान है कि अब स्थिति बेहतर हो रही है और वित्त वर्ष 2021 से वित्त वर्ष 2023 तक इनकी कमाई करीब 26 फीसदी के सीएजीआर से बढ़ सकती है. इससे मार्केट को सहारा मिलेगा.
(आर्टिकल: क्षितिज भार्गव)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. निफ्टी छू सकता है 20 हजार का लेवल, सेंसेक्स 66600 के पार, शेयर मार्केट को मिलेगा इनसे बेहतरीन सपोर्ट

Go to Top