मुख्य समाचार:

कर्ज देने वालों के सहयोग के लिए जेट एयरवेज के पूर्व प्रमुख ने लिए कड़े फैसले

जेट के पूर्व प्रमुख का कहना है कि उन्होंने भारतीय कर्जदाताओं के समूह को सहयोग देने के लिये पूरी ईमानदारी के साथ कुछ कड़े फैसले लिये.

April 3, 2019 9:54 PM
 jet airways crisis, jet airways, naresh goyal, जेट एयरवेज, जेट एयरवेज संकट, नरेश गोयल, jet airways chairman, jet airways planes, suresh prabhuजेट एयरवेज के मामले में दखल से सरकार का इनकार

Jet Airways के संस्थापक और पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल ने बुधवार को कहा कि उन्होंने एयरलाइन को समय पर पूंजी उपलब्ध कराने के लिये कर्जदाताओं द्वारा रखी गई हर तरह के नियम, शर्त को स्वीकार किया. एयरलाइन के भविष्य को लेकर बढ़ती चिंता के बीच गोयल ने कहा कि उन्होंने भारतीय कर्जदाताओं के समूह को सहयोग देने के लिये पूरी ईमानदारी के साथ कुछ कड़े फैसले लिये.

गोयल का यह बयान ऐसे समय आया है जब एयरलाइन ने यह खुलासा किया है कि पट्टा किराया नहीं देने की वजह से उसके 15 और विमान खड़े कर दिये गये हैं. कर्ज संकट से जूझ रही इस एयरलाइन के कर्ज समाधान को आगे बढ़ाते हुये इसके कर्जदाता कंपनी का नियंत्रण अपने हाथ में लेंगे और इसमें 1,500 करोड़ रुपये का कोष डालेंगे.

Jet Airways के 28 विमान परिचालन में

नागर विमानन सचिव प्रदीप सिंह खरोला ने बुधवार को जानकारी दी कि जेट एयरवेज के अभी 28 विमान परिचालन में हैं. इनमें से 15 विमान घरेलू मार्गों पर सेवाएं दे रहे हैं. इससे पहले खरोला ने दिन में सूचना दी थी कि कंपनी के 15 से भी कम विमान उड़ान भर रहे हैं. जेट एयरवेज ने मंगलवार को जानकारी दी थी कि पट्टे पर लिए विमानों का किराया नहीं चुकाए जाने के चलते उसने 15 और विमानों को खड़ा कर दिया है. हालांकि जेट एयरवेज की ऋण समाधान योजना के तहत उसे कर्ज देने वाले बैंक उसमें हिस्सेदारी लेने को तैयार हैं. कंपनी के बेड़े में करीब 119 विमान थे लेकिन विमान की पट्टे पर लिए जाने की किस्तें नहीं चुकाने के कारण कंपनी को हालिया समय में अधिकांश विमान खड़े करने पड़े हैं.

जेट एयरवेज के मामले में दखल से सरकार का इनकार

नागर विमानन मंत्री सुरेश प्रभु ने जेट एयरवेज को बाहर निकालने के लिए किए जा रहे प्रयासों में हस्तक्षेप करने से इनकार कर दिया है. उन्होंने कहा कि सरकार को विमानन कंपनी की मदद करने के लिए किसी तरह के सौदे नहीं करने चाहिए. ऋण समाधान योजना के तहत बैंक जेट एयरवेज का नियंत्रण अपने हाथों में लेने की तैयारी कर रहे हैं. प्रभु ने कहा कि बैंक सीधे तौर पर हितधारक हैं और कंपनी के वाणिज्यिक मामले से निपट रहे हैं और इन मामलों में नागर विमानन मंत्रालय हस्ताक्षेप नहीं करेगा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. कर्ज देने वालों के सहयोग के लिए जेट एयरवेज के पूर्व प्रमुख ने लिए कड़े फैसले

Go to Top