मुख्य समाचार:

सितंबर में म्यूचुअल फंड कंपनियों का एसेट बेस घटकर 22.06 लाख करोड़, अगस्त के मुकाबले 12.5% की गिरावट

इसकी अहम वजह लिक्विड फंड और आय योजनाओं से भारी मात्रा में निकासी होना है.

Published: October 8, 2018 7:50 PM
Mutual funds AUM drops 12.5% to Rs 22 lakh cr at Sep-end on massive outflowअगस्त अंत तक यह आंकड़ा 25.20 लाख करोड़ रुपये था. (IE)

म्यूचुअल फंड कंपनियों के एसेट बेस में सितंबर अंत तक 12.5% की गिरावट आई है. अब यह बेस घटकर 22 लाख करोड़ रुपये रह गया है. इसकी अहम वजह लिक्विड फंड और आय योजनाओं से भारी मात्रा में निकासी होना है. हालांकि, इस दौरान इक्विटी और इक्विटी से जुड़ी बचत योजनाओं में पूंजी प्रवाह में बढ़ोत्तरी दर्ज की गई.

एसोसिएशन आॅफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (Amfi) के आंकड़ों के अनुसार, क्षेत्र की 41 सक्रिय कंपनियों का एसेट बेस सितंबर अंत तक घटकर 22.06 लाख करोड़ रुपये पर आ गया. अगस्त अंत तक यह आंकड़ा 25.20 लाख करोड़ रुपये था.

2.11 लाख करोड़ रुपये लिक्विड फंड से निकले

मासिक आधार पर एसेट बेस में आई इस कमी की मुख्य वजह म्यूचुअल फंड योजनाओं से 2.3 लाख करोड़ रुपये की निकासी होना है. इसमें 2.11 लाख करोड़ रुपये लिक्विड फंड से निकाले गए. इसके अलावा निश्चित आय देने वाले डेट म्यूचुअल फंड से 32,504 करोड़ रुपये की निकासी हुई. गोल्ड एक्सचेंज ट्रेड फंड से भी 33 करोड़ रुपये की निकासी हुई है.

इक्विटी, इक्विटी से जुड़ी बचत जमा योजनाओं में 11,250 करोड़ का निवेश

हालांकि, सितंबर में इक्विटी और इक्विटी से जुड़ी बचत जमा योजनाओं में 11,250 करोड़ रुपये का निवेश आया. वहीं बैलेंस्ड फंड योजनाओं में भी 731 करोड़ रुपये का निवेश आया.

SIP में दर्ज की गई बढ़ोत्तरी
एम्फी के चीफ एग्जीक्यूटिव एनएस वेंकटेस ने कहा कि सिस्टेमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान्स एसआईपी में सितंबर में भी बढ़ोत्तरी देखी गई और इसके जरिए म्यूचुअल फंड्स में 7,727 करोड़ रुपये का फंड आया.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. सितंबर में म्यूचुअल फंड कंपनियों का एसेट बेस घटकर 22.06 लाख करोड़, अगस्त के मुकाबले 12.5% की गिरावट

Go to Top