मुख्य समाचार:

म्यूचुअल फंड निवेशक ध्यान दें! सिर्फ 1.5% के अंतर से 10 साल में 16% का नुकसान, समझें एक्सपेंस रेश्यो की गणित

म्यूचुअल फंड में पैसा लगाकर अच्छी कमाई करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको इस बात पर रिसर्च जरूरी है कि यह बाजार कैसे काम करता है.

Published: July 27, 2020 11:59 AM
Mutual Fund, Expense ratio, what is expense ration, Know calculation of expense ratio, how expense ratio can impact on your mutual fund return, maximum permissible expense ratio, mutual fund return, lowest expense ratio fundम्यूचुअल फंड में पैसा लगाकर अच्छी कमाई करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको इस बात पर रिसर्च जरूरी है कि यह बाजार कैसे काम करता है.

अगर आप भी म्यूचुअल फंड में पैसा लगाकर अच्छी कमाई करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको इस बात पर रिसर्च जरूरी है कि यह बाजार कैसे काम करता है. इसमें सबसे खास है एक्सपेंस रेश्यो. जैसे किसी भी कारोबार में किसी सर्विस के बदले आपको कुछ न कुछ चार्ज देना पड़ता है, उसी तरह से म्यूचुअल फंड में एक्सपेंस रेश्यो होता है, जो आपके इन्वेस्टमेंट पोर्टफोलियो को मैनेज करने के बदले में खर्च होता है. ऐसे में आपको यह समझना जरूरी है कि एक्सपेंस रेश्यो से आपके रिटर्न पर क्या असर होता है. यह आपके निवेश को किस तरह से प्रभावित कर सकता है.

एक्सपेंस रेश्यो यह दिखाता है कि किसी फंड में निवेश के बाद अपने पैसे को मैनेज करने के लिए आप फंड हाउस को हर साल कितना पेमेंट करते हैं. बदले आपने इसे ऐसे समझ सकते हैं कि मान लिया आपने किसी फंड में 10 हजार रुपये निवेश किया और फंड का एक्सपेंस रेश्यो 1.5 फीसदी है. ऐसे में आपको फंड हाउस को एक्सपेंस रेश्यो के रूप में 150 रुपये एक साल में भुगतान करना होगा. दूसरे तरह से देखा जाए तो मान लीजिए कि आपने उस फंड में 10 फीसदी सालाना रिटर्न हासिल किया है तोक आपका वास्तविक रिटर्न 8.5 फीसदी रह जाएगा.

कैसे होता है कैलकुलेट

एक्सपेंस रेश्यो = आपरेटिंग एक्सपेंस/एवरेज वैल्यू आफ फंड एसेट्स

1, 5, 10, 15 साल में रिटर्न पर कैसे असर

मान लीजिए कि आपने किसी फंड में 1 लाख रुपये निवेश किया है, जिस पर सालाना 12 फीसदी के हिसाब से रिटर्न मिल रहा है. उस फंड पर शून्य फीसदी से लेकर 2 फीसदी एक्सपेंस रेश्यो के आधार पर यहां 1, 5, 10, 15, 20 साल में कैलकुलेशन किया गया है.

साल          0%               0.5%             1%                 1.5%            2%

1            1,12,000       1,11,400      1,10,880      1,10,320      1,09,760
5            1,76,234       1,71,872      1,67,597       1,63,407      1,59,302
10          3,10,585       2,95,400    2,80,887     2,67,019      2,53,770
15          5,47,357        5,07,711     4,70,759      4,36,329      4,04,261

(नोट: यहां 0%, 0.5%, 1%, 1.5% और 2% एक्सपेंस रेश्यो पर 1 साल से 15 साल में रिटर्न रुपये में दिखाया गया है.)

किस स्कीम में कितना अधिकतम एक्सपेंस रेश्यो

इक्विटी ओरिएंटेड क्लोज एंडेड: 1.25%
इंडेक्स फंड/ETFs: 1.00%
फंड आफ फंड जो एक्टिवली मैनेज्ड इक्विटी ओरिएंटेड स्कीम में निवेश करते हैं: 2.25%
फंड आफ फंड जो लिक्विड, इंडेक्स फंड और ETF में निवेश करते हैं: 1.00%
फंड आफ फंड जो एक्टिवली मैनेज्ड अदर दैन इक्विटी ओरिएंटेड स्कीम में निवेश करते हैं: 2.00%

(Source: SEBI press release)

तय होता है कि फंड सस्ता या महंगा

मान लीजिए आपने निवेश के लिए कोई म्यूचुअल फंड चुना है, जिसका एक्सपेंस रेश्यो 1.8 फीसदी है. वहीं, आपने इसमें 20 हजार रुपये का निवेश किया है. इसका मतलब हुआ कि इस फंड के मैनेजमेंट के लिए आपको सालाना 360 रुपये चुकाने होंगे. इसी तरह से अगर इस फंड ने कुल 14 फीसदी रिटर्न दिया तो आपको 12.2 फीसदी रिटर्न असल में मिलेगा.

इसी के विपरीत अगर इसका एक्सपेंस रेश्यो 2.6 फीसदी होता तो आपको इसके मैनेजमेंट के लिए 520 रुपये सालाना फीस देनी होती और रिटर्न भी 11.4 फीसदी ही मिलता. सीधा है कि एक्सपेंस रेश्यो जितना ज्यादा होगा, आपका खर्च उतना ही ज्यादा बढ़ेगा.

नोट: हालांकि यहां यह बात ध्यान देने की होती है कि कम या ज्यादा एक्सपेंस रेश्यो से रिटर्न की गारंटी नहीं तय होती है. कई बार ज्यादा एक्सपेंस रेश्यो वाले फंड कम एक्सपेंस रेश्यो वाले फंड के मुकाबले ज्यादा रिटर्न देते हैं.

(source: www.paisabazaar.com/value research)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. म्यूचुअल फंड निवेशक ध्यान दें! सिर्फ 1.5% के अंतर से 10 साल में 16% का नुकसान, समझें एक्सपेंस रेश्यो की गणित

Go to Top