सर्वाधिक पढ़ी गईं

शेयर बाजार में तेजी के बावजूद म्यूचुअल फंड्स निकाल रहे हैं पैसे; लगातार 8वें महीने की बिकवाली

Mutual Fund Industry: फरवरी माह में म्यूचुअल फंड ने लगातार 8वें महीने बाजार से पैसे निकाले हैं.

Updated: Mar 09, 2021 3:22 PM
Mutual Fund, Mutual Fund Equity, mutual fund industry inflow and outflow updates, AUM of mutual fund industry, largecap, multicap, midcap, flexi funds, debt funds, elss, ETFs, amfi, mutual fund industryफ्लेक्सी कैप कैटेगरी से सबसे ज्यादा निकासी की गई है.

Mutual Fund Industry: शेयर बाजार में दिवाली के पहले शुरू हुई रैली जारी है. फरवरी में शेयर बाजार ने 52516.76 का आलटाइम हाई बनाया. लेकिन दूसरी ओर फरवरी माह में इक्विटी म्यूचुअल फंड्स ने लगातार 8वें महीने बाजार से पैसे निकाले हैं. फरवरी में म्यूचुअल फंड ने इक्विटी से 10,468 करोड़ रुपये की बिकवाली की. फ्लेक्सी कैप कैटेगरी से सबसे ज्यादा निकासी की गई है. म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री का सभी कैटेगरी में ओवरआल आउटफ्लो 1,843 करोड़ रुपये रहा है. हालांकि, इसके बाद भी एसेट अंडर मैनेजमेंट बढ़ गया है.

फ्लेक्सी कैप फंड से सबसे ज्यादा निकासी

फरवरी में फ्लेक्सी कैप फंड से सबसे ज्यादा निकासी हुई है. इस कैटेगरी से म्यूचुअल फंड ने 10,430.90 करोड़ रुपये निकाल लिए. जबकि कांट्रा फंड से 1,378.51 करोड़ रुपये निकाले गए. लॉर्जकैप में भी 1000 करोड़ का आउटफ्लो देखा गया है. जबकि मल्टीकैप सेग्मेंट में 4,077.94 करोड़ का निवेश आया है.

इक्विटी से कब कितना निकाला

म्यूचुअल फंड ने जनवरी में शेयर बाजार से 9,253 करोड़ रुपये निकाल लिए. वहीं दिसंबर में इक्विटी से 10,147 करोड़ रुपये निकाले थे. नवंबर महीने में इक्विटी म्यूचुअल फंड से 12,917 करोड़ रुपये और अक्टूबर में 2,725 करोड़ रुपये का आउट फ्लो देखा गया था. सितंबर में म्यूचुअल फंड ने इक्विटी से 734 करोड़, अगस्त में 4,000 करोड़ और जुलाई में 2,480 करोड़ रुपये निकाले थे. जबकि जून में इस सेग्मेंट में 240.55 करोड़ रुपये का इनफ्लो देखा गया था.

शेयर बाजार से क्यों निकाल रहे हैं पैसे

असल में शेयर बाजार में लगातार रैली जारी है. नवंबर 2020 के बाद से ही बाजार में आए दिन नए रिकॉर्ड बन रहे हैं. इस तेजी में कई शेयर अपने रिकॉर्ड हाई या 1 साल के हाई पर हैं. ऐसे में मुनाफा वसूली भी शेयर बाजार से पैसे निकालने की एक वजह है. दूसरा बाजार के रिकॉर्ड वैल्युएशन को देखते हुए फंड हाउस सतर्क हैं. आगे करेक्शन की आशंका बढ़ी है. इसलिए जिन शेयरों में उन्हें मुनाफा मिल गया है, उसे बेचा जा रहा है. हालांकि लिक्विडिटी की कमी न होने के चलते बाजार में रैली कायम है और म्यूचुअल फंड की बिकवाली का असर नहीं है.

डेट म्यूचुअल फंड में आया निवेश

फरवरी की बात करें तो डेट सेग्मेंट में कुछ इनफ्लो हुआ है. फरवरी में डेट सेग्मेंट में 1735 करोड़ रुपये का नेट निवेश आया है. जबकि जनवरी में इस सेग्मेंट से म्यूचुअल फंड ने 33,409 करोड़ रुपये निकाल लिए थे.

AUM बढ़कर 31.64 लाख करोड़

ELSS कैटेगरी की बात करें फरवरी में इससे 10,468 करोड़ रुपये ​निकाले गए. जबकि जनवरी में इससे म्यूचुअल फंड ने 9,253 करोड़ रुपये निकाले थे. गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETFs) में फरवरी में 491 करोड़ रुपये निवेश आया, जो जनवरी में 625 करोड़ रुपये था. फरवरी में म्यूचुअल फंड का AUM बढ़कर 31.64 लाख करोड़ हो गया, जो जनवरी में 30.5 लाख करोड़ था.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. शेयर बाजार में तेजी के बावजूद म्यूचुअल फंड्स निकाल रहे हैं पैसे; लगातार 8वें महीने की बिकवाली

Go to Top