सर्वाधिक पढ़ी गईं

5 साल के निवेश पर 8% सालाना रिटर्न, 27 अक्टूबर से निवेश का मौका; मुथूट फाइनेंस NCD की डिटेल

Muthoot Finance NCD: फाइनेंस कंपनी मुथूट फाइनेंस लिमिटेड अपना नॉन कन्वर्टिबल डिबेंचर (NCD) ला रही है.

October 26, 2020 1:47 PM
financial planning, wealth creation, financial management, Automated Financial Assessments, Financial Health Check-up, Financial Strength AnalysisMost Indian professionals, across generations, enter the festive season concerned about their career progression while working remotely in the pandemic, the statement said.

Muthoot Finance NCD: अगर आप फिक्स्ड इन​कम इन्वेस्टमेंट का कोई बेहतर विकल्प खोज रहे हैं, आपके पास इस हफ्ते निवेश का अच्छा मौका है. फाइनेंस कंपनी मुथूट फाइनेंस लिमिटेड अपना नॉन कन्वर्टिबल डिबेंचर (NCD) ला रही है. यह एनसीडी निवेश के लिए 27 अक्टूबर यानी गुरूवार से खुल रहा है. इसमें 20 नवंबर तक निवेशक पैसा लगा सकते हैं. एनसीडी में 38 महीने से लेकर 60 महीने तक यानी 5 साल के लिए निवेश के 6 विकल्प हैं. जिनमें 8 फीसदी तक सालाना ब्याज मिलेगा. कंपनी का एनसीडी के जरिए 2000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है. देखते हैं एनसीडी की पूरी डिटेल…..

बैंक एफडी से ज्यादा फायदा

मुथूट फाइनेंस के NCD में निवेश के लिए 6 विकल्प हैं. इसमें 38 महीने से 60 महीने, यानी 5 साल के लिए निवेश किया जा सकता है. अलग अलग विकल्पों में 7.15 फीसदी से 8 फीसदी तक सालाना ब्याज मिल रहा है. इन प्लान पर मंथली, एनुअल और कम्यूलेटिव ब्याज लेने का विकल्प है. अमूमन ज्यादातर बैंक 5 साल की एफडी पर 5.75 फीसदी से 6.25 फीसदी ही ब्याज दे रहे हैं. ऐसे में इस एनसीडी में बैंक एफडी से करीब 2 फीसदी ज्यादा ब्याज मिल रहा है.

क्रेडिट रेटिंग

CRISIL: AA/Positive
ICRA: AA/Stable

रेटिंग से साफ ​है कि यह निवेश के कई दूसरे विकल्पों के मुकाबले सेफ विकल्प है.

कितना कर सकते हैं निवेश

NCD के एक बांड की फेस वैल्यू 1000 रुपये है और कम से कम 10 बांड में निवेश करना जरूरी है. यानी न्यूनतम 10 हजार रुपये आपको निवेश करना होगा. इसके बाद 1000 रुपये के मल्टीपल में निवेश हो सकता है. इस एनसीडी की लिस्टिंग शेयर बाजार में बीएसई पर कराई जाएगी. यह अलॉटमेंट पहले आओ और पहले पाओ के आधार पर किया जाएगा.

2000 करोड़ जुटाने की योजना

NCD के जरिए मुथूट फाइनेंस की योजना 2000 करोड़ रुपये जुटाने की है. इश्यू का बेस साइज 100 करोड़ रुपये है, जिसे 1900 करोड़ और ओवर सबस्क्रिप्सन का विकल्प होगा.

क्या है NCD?

अगर आप रेग्युलर इनकम चाहते हैं तो नॉन-कंवर्टिबल डिबेंचर (NCD) बेहतर विकल्प है, इसे रेग्युलर इनकम को ध्यान में रखकर ही लाया जाता है. NCD किसी कंपनी की ओर से जारी किए गए एक तरह के बॉन्ड होते हैं. इन पर ब्याज दरें तय होती हैं, जो कंवर्टिबल डिबेंचर के मुकाबले ज्यादा होती हैं. ये सिक्योर्ड या अनसिक्योर्ड हो सकते हैं. सिक्योर्ड का मतलब गारंटी की जरूरत से है, वहीं अनसिक्योर्ड में गारंटी की जरूरत नहीं होती है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. 5 साल के निवेश पर 8% सालाना रिटर्न, 27 अक्टूबर से निवेश का मौका; मुथूट फाइनेंस NCD की डिटेल

Go to Top