सर्वाधिक पढ़ी गईं

RIL ऑयल-टू-केमिकल बिजनेस के लिए बनाएगी अलग कंपनी, क्या है मुकेश अंबानी का प्लान

RIL O2C Business: मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) ने ऑयल-टू-केमिकल (O2C) कारोबार के डीमर्जर प्लान की रूपरेखा पेश की है.

Updated: Feb 23, 2021 11:46 AM
RIL O2C BusinessRIL O2C Business: मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) ने ऑयल-टू-केमिकल (O2C) कारोबार के डीमर्जर प्लान की रूपरेखा पेश की है.

RIL O2C Business: मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) ने ऑयल-टू-केमिकल (O2C) कारोबार के डीमर्जर प्लान की रूपरेखा पेश की है. रिलायंस इंडस्ट्रीज का ऑयल-टू-केमिकल बिजनेस के लिए एक अलग कंपनी बनाने का प्लान है. कंपनी को उम्मीद है कि अगले वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही तक उसके ऑयल-टू-केमिकल कारोबार को एक अलग यूनिट में पहुंचाने के लिए आवश्यक मंजूरी मिल जाएगी. इसमें पेट्रो केमिकल, गैस, फ्यूल रिटेलिंग जैसे कारोबार शामिल होंगे. साथ ही डीमर्जर से सउदी अरामको जैसे निवेशकों को लाने में मदद मिलेगी. कंपनी ने कहा डीमर्जर से O2C कारोबार में नए मौके तलाशने में मदद मिलेगी.

कंपनी ने मांगी मंजूरी

कंपनी ने शेयरहोल्डर्स और क्रेडिटर्स से इसके लिए मंजूरी मांगी है. रिलायंस के अनुसार उम्मीद है कि नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (NCLT) मुंबई और NCLT अहमदाबाद से FY22 की दूसरी तिमाही तक अप्रूवल ऑर्डर मिल जाएगा. आरआईएल ने एक्सचेंज में यह जानकारी दी है कि ऑयल टु केमिकल्स कारोबार के पुनर्गठन से उसे ओटुसी वैल्यू चेन में अवसरों का फायदा उठाने का मौका मिलेगा. साथ ही डेडिकेटेड मैनेजमेंट टीम इनवेस्टर कैपिटल के डेडिकेटेड पूल्स को आकर्षित करेगी.

100% कंट्रोल आरआईएल के पास

रिपोर्ट के अनुसार इस नई सब्सिडियरी को 10 साल के लिए लोन देगी. कंपनी द्वारा नई सब्सिडियरी को 2500 करोड़ डॉलर का लोन दिया जाएगा. इस लोन की रकम से सब्सिडियरी O2C कारोबार खरीदेगी. हालांकि कंपनी ने कहा कि इस नई सब्सिडियरी का 100 फीसदी कंट्रोल कंपनी के पास ही होगा. आरआईएल ने एक्सचेंज को दिए एक नोटिफिकेशन में कहा है कि रिऑर्गेनाइजेशन के बाद भी प्रमोटर ग्रुप के पास O2C कारोबार का 49.14 फीसदी हिस्सेदारी होगी और इस प्रक्रिया का कंपनी की हिस्सेदारी पर कोई परिणाम नहीं होगा.

शेयर में तेजी

आयल टु केमिकल बिजनेस के डीमर्जर प्लान के बाद आज आरआईएल के शेयरों में तेजी देखने को मिल रही है. आज शेयर करीब 2 फीसदी बढ़त के साथ 2053 रुपये के भाव पर पहुंच गया. इसके पहले सोमवार को शेयर 2008 रुपये के भाव पर बंद हुआ था.

शेयर पर ओवरवेट रेटिंग

ब्रोकरेज हाउस मॉर्गन स्टैनले ने RIL पर ओवरवेट रेटिंग दी है. शेयर के लिए लक्ष्य को 2252 रुपये तय किया है. रिपोर्ट के अनुसार इस प्लान से कंपनी ओटुसी कारोबार के मोनेटाइजेशन की ओर बढ़ रही है. इससे अगले इन्वेस्टमेंट साइकिल को लेकर क्लेरिटी आएगी. डीमर्जर से कंपनी के पास ग्रोथ वाले 4 कारोबार होंगे. कंपनी की डिजिटल, रिटेल, न्यू एनर्जी कारोबार से ग्रोथ बढ़ेगी. वहीं न्यू मटेरियल कारोबार से ग्रोथ को सपोर्ट मिलेगा. इसके साथ ही मार्केट को डिजिटल और रिटेल में वैल्यू दिख रहा है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. RIL ऑयल-टू-केमिकल बिजनेस के लिए बनाएगी अलग कंपनी, क्या है मुकेश अंबानी का प्लान

Go to Top