मुख्य समाचार:

RIL right issue: आज से खुल गया 53,125 करोड़ रुपये का राइट इश्यू, क्या निवेश करना चाहिए?

RIL का 53,125 करोड़ रुपये का राइट इश्यू शेयरधारकों के लिए 3 जून को बंद होगा.

May 20, 2020 2:41 PM
mukesh ambani led ril rights issue, ril rights issue how to subscribe, ril rights issue apply onlineRIL का 53,125 करोड़ रुपये का राइट इश्यू शेयरधारकों के लिए 3 जून को बंद होगा. (Reuters)

RIL’s 53,125 crore right issue: मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) के 53,125 करोड़ रुपये का राइट इश्यू आज से खुल गया. कंपनी के शेयर धारक 3 जून तक इसे सब्सक्राइब कर सकेंगे. इसके तहत शेयरधारकों को प्रत्येक 15 शेयर पर एक शेयर की पेशकश की जाएगी. आरआईएल ने शेयर खरीदने के लिए सिर्फ 25 फीसदी राशि का भुगतान करना होगा, जबकि शेष राशि अगले साल मई और नवंबर में दो किस्तों में देनी होगी. कंपनी का इश्यू शेयरधारकों के लिए 20 मई को खुलेगा और 3 जून को बंद होगा. बाजार के एक्सपर्ट रिलायंस इंडस्ट्रीज के राइट इश्यू को निवेशकों के लिए एक अवसर के रूप में देख रहे हैं.

राइट इश्यू के लिए एक्स डेट 13 मई निर्धारित की गई है. इसका अर्थ है कि जिन निवेशकों ने आरआईएल के शेयर 13 मई से पहले खरीद होंगे और 14 मई तक उन्हें रखा होगा, वे ही राइट इश्यू के लिए अप्लाई कर सकते हैं.

RIL Right Issue के लिए शेयर भाव

RIL के राइट इश्यू के तहत 1,257 रुपये के भाव पर शेयर बेचने का फैसला किया है. बुधवार को रिलायंस के शेयर की कीमत 1425.75 रुपये प्रति शेयर पर चल रही है. आरआईएल ने बताया कि निवेशकों को 1,257 रुपये प्रति शेयर के भाव में से शेयर लेते समय सिर्फ 25 फीसदी राशि का भुगतान करना होगा. इतनी ही राशि का भुगतान अगले साल मई 2021 में करना होगा और शेष 50 फीसदी का भुगतान नवंबर 2021 में किया जाएगा.

Right Issue: कितने शेयर का प्रस्ताव

आरआईएल ने अपने बयान में कहा कि उसे 42,26,26,894 शेयरों का प्रस्तावित राइट्स इश्यू लाने के लिए बीएसई और एनएसई से अनुमति मिली है. कंपनी का तीन दशकों में यह पहला राइट इश्यू है. आरआईएल के 15 शेयरों पर एक शेयर राइट इश्यू के तहत दिया जाएगा.
बता दें, किसी इश्यू के लिए योग्य शेयरधारकों का निर्धारण करने के लिए कंपनी पहले रिकॉर्ड डेट तय करती है. आरआईएल के राइट्स इश्यू के लिए यह 14 मई 2020 है. यानी 14 मई को जिस निवेशक के पास आरआईएल का शेयर होगा, वह इस राइट्स इश्यू के लिए योग्य माना जाएगा. अगर आपने इसके पहले शेयर बेच दिए तो आपको राइट्स इश्यू में हिस्सा लेने को नहीं मिलेगा.

निवेशकों के लिए अच्छा मौका

प्रभुदास लीलाधर के CEO PMS, अजय बोडके का कहना है कि निवेशकों को राइट इश्यू में भाग लेना चाहिए. कंपनी का मौजूदा डिजिटल, टेलिकॉम और रिटेल बिजनेस तेजी से ग्रोथ कर रहा है और आने वाले दिनों में और बेहतर ग्रोथ की उम्मीद है. ऐसे में राइट्स इश्यू में हिस्सा लेकर शेयरधारक ग्रोथ का फायदा उठा सकते हैं. उनका कहना है कि आरआईएल का यह कदम मिड टर्म से लांग टर्म के लिए विभिन्न व्यवसायों की संभावनाओं के लिए प्रमोटर्स के विश्वास को दर्शाता है. इससे अल्पसंख्यक शेयरधारकों का भरोसा कंपनी के प्रति बढ़ेगा.

RIL 1991 में लाई थी कन्वर्टेबल डिबेंचर

मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज ने इससे पहले 1991 में पब्लिक से फंड जुटाया था. उस समय कन्वर्टेबल डिबेंचर जारी किए गए थे. डिबेंचर 55 रुपये प्रति पर इक्विटी शेयर में कन्वर्ट हुए थे. मुंबेश अंबानी ने पिछले साल अगस्त में 2021 तक कंपनी के कर्ज मुक्त करने का प्लान पेश किया था. इस योजना के तहत आरआईए अपने सभी ​कारोबार में स्ट्रैटजिक पार्टनरशिप पर काम कर रही है.मार्च तिमाही के आखिर तक आरआईएल पर 3,36,294 करोड़ कर्ज और कैश इन हैंड 1,75,259 करोड़ था. इस तरह कंपनी ने नेट कर्ज 1,61,035 करोड़ रुपये है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. RIL right issue: आज से खुल गया 53,125 करोड़ रुपये का राइट इश्यू, क्या निवेश करना चाहिए?

Go to Top