सर्वाधिक पढ़ी गईं

Sensex इस साल छू सकता है 61000 का स्तर; निवेशक कहां लगाएं पैसा, किन सेक्टर से रहें दूर?

Morgan Stanley on Sensex: ब्रोकरेज फर्म मॉर्गन स्टैनले की रिपोर्ट के अनुसार इस साल दिसंबर तक सेंसेक्स 61000 के स्तर तक पहुंच सकता है.

Updated: May 19, 2021 3:32 PM
Morgan Stanley on SensexThe exchange had brought down its annual listing fee on the BSE SME platform by 25 per cent earlier last month for listed and upcoming firms on the platform.

Morgan Stanley on Sensex: शेयर बाजार में पैसा लगाने वालों के लिए अच्छी खबर है. ब्रोकरेज फर्म मॉर्गन स्टैनले भारतीय बाजार के आउटलुक को लेकर बेहद पॉजिटिव नजर आ रहा है. मॉर्गन स्टैनले की रिपोर्ट के अनुसार इस साल दिसंबर तक सेंसेक्स अपने सभी रिकॉर्ड तोड़कर 61000 के स्तर तक पहुंच सकता है. रिपोर्ट के अनुसार घरेलू शेयर बाजार ने कोरोना की दूसरी लहर के बीच जिस तरह का प्रदर्शन किया है, उससे 2021 की दूसरी छमाही में पॉजिटिव रिटर्न देखने को मिल सकता है. ब्रोकरेज के अनुसार बुलिश केस में यह दिसंबर के अंत में यह 61,000 अंक तक पहुंच सकता है.

शेयर बाजार फिर पकड़ेगा रफ्तार

ब्रोकरेज फर्म मॉर्गन स्टैनले का कहना है कि साल 2021 का दूसरी छमाही में शेयर बाजार फिर से रफ्तार पकड़ेगा. इस समय सेंसेक्स 50 हजार के स्तर पर ट्रेड कर रहा है. इसका मतलब है कि अगले छह महीनों में इसमें करीब 20 फीसदी की तेजी आएगी. मॉर्गन स्टैनले की रिपोर्ट के मुताबिक, इस साल के अंत तक हर हाल में सेंसेक्स 55 हजार के आंकड़े को पार करेगा. हालांकि सब कुछ ठीक रहा तो बुलिश केस में यह 61 हजार के स्तर को भी छू सकता है. कंपनियों के बेहतर नतीजे और अच्छी वैल्युएशन के कारण इमर्जिंग मार्केट में भारत का प्रदर्शन सबसे शानदार होगा.

जून तिमाही के नतीजों में आ सकती है कमजोरी

ब्रोकरेज की रिपोर्ट में कहा गया है कि अप्रैल-जून तिमाही में कंपनियों के रिजल्ट में थोड़ी गिरावट देखने को मिल सकती है. ऐसा कोरोना की दूसरी लहर की वजह से होगा. हालांकि बाजार और निवेशक अब लांग टर्म के नजरिए से देख रहे हैं. बाजार पर कोरोना की दूसरी लहर का ज्यादा असर नहीं होगा क्योंकि बाजार को अब अच्छे से समझ में आ गया है कि मौजूदा गिरावट अस्थाई है और आने वाले दिनों में तेजी आएगी. रिपोर्ट में कहा गया है कि मैक्रो इकोनॉमिक फंडामेंटल और अर्निंग मोमेंटम पर बाजार की नजर होगी. बाजार अब लिक्विडिटी और वैल्युएशन को ज्यादा तवज्जो नहीं देगा.

कहां लगाएं पैसे, किनसे रहें दूर

ब्रोकरेज फर्म का कहना है कि निवेशकों को लार्जकैप की जगह अपने पोर्टफोलियो में मिडकैप शेयर पर फोकस करना चाहिए. हालांकि जो स्मॉल कैप शेयर के निवेशक हैं उन्हें लार्ज कैप शेयर पर फोकस करना चाहिए. इसके अलावा निवेशकों को कंज्यूमर, इंडस्ट्रियल, फाइनेंशियल और यूटिलिटीज शेयरों में पैसा लगाना चाहिए. वहीं consumer disretionaries, फाइनेंशियल, यूटिलिटीज और इंडस्ट्रियल शेयर पर फोकस करें. इसके अलावा उन्हें आईटी, फार्मा, टेलिकॉम और एनर्जी कंपनियों के शेयरों से निकलने की सलाह दी गई है. फाइनेंशियल स्टॉक्स को लेकर उसका कहना है कि रिजर्व बैंक लंबे समय से रेट कट नहीं किया है. ऐसे में आने वाले दिनों में रेट कट की पूरी संभावना है.

(Disclaimer: ये जानकारी मॉर्गन स्टैनले की रिपोर्ट के आधार पर दी गई है. शेयर बाजार के जोखिम को देखते हुए निवेश के पहले एक्सपर्ट की राय जरूर लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Sensex इस साल छू सकता है 61000 का स्तर; निवेशक कहां लगाएं पैसा, किन सेक्टर से रहें दूर?

Go to Top