मुख्य समाचार:
  1. Modi 2.0: सिर्फ 5 दिनों में मिडकैप में 31% तक आई तेजी, आगे भी अच्छे रिटर्न की उम्मीद

Modi 2.0: सिर्फ 5 दिनों में मिडकैप में 31% तक आई तेजी, आगे भी अच्छे रिटर्न की उम्मीद

MidCap: आगे मिडकैप और स्मालकैप में मिल सकता है रिटर्न

May 27, 2019 7:52 AM
MidCap, SmallCap, Stock Market, Modi 2.0, Market Outperform, Invest In MidCap, Invest in stocks, मिडकैप, स्मालकैप, Sensex, Niftyआगे मिडकैप और स्मालकैप में मिल सकता है रिटर्न

MidCap: 19 मई को एग्जिट पोल में मोदी सरकार की वापसी के संकेत से लेकर 23 मई को मोदी सरकार की फिर वापसी के बीच बीता हफ्ता शेयर बाजार के लिए ऐतिहासिक रहा है. इस दौरान जहां सेंसेक्स ने पहली बार 40 हजार का स्तर (40125) पार कर लिया, वहीं निफ्टी भी 12041 के रिकॉर्ड हाई पर पहुंचा. इस दौरान मिडकैप ने भी आउटपरफॉर्म किया और करीब 4.5 फीसदी की रैली के साथ 14308 के स्तर से 14945 के स्तर पर पहुंच गया. एक्सपर्ट का कहना है कि आने वाले दिनों में काफी दिनों से अंडरपरफॉर्मर रहे मिडकैप में रैली की पूरी उम्मीद है. क्वालिटी मिडकैप शेयरों का चुनाव कर निवेशक अगले एक साल में अच्छा रिटर्न पा सकते हैं.

5 दिन में निवेशकों ने कमाए 6 लाख करोड़

19 मई को एग्जिट पाले के बाद से 24 मई तक सेंसेक्स में करीब 4 फीसदी या 1500 अंकों की रैली आई. इस दौरान सेंसेक्स ने 40125 का रिकॉर्ड हाई टच किया. वहीं निफ्टी में करीब 3.8 फीसदी रैली आई और यह 437 अंक बढ़कर 12041 के रिकॉर्ड स्तर तक पहुंच गया. इस दौरान शेयर बाजार में निवेशकों की दौलत में करीब 6.1 लाख करोड़ रुपये का इजाफा हुआ है. 17 मई को वीकली क्लोजिंग पर बाजार का वैल्युएशन 146.58 लाख करोड़ था जो 24 मई को 152.71 लाख करोड़ पर बंद हुआ. यानी 5 दिनों में निवेशकों ने 6.1 लाख करोड़ कमा लिए.

5 दिन: MidCap में 31% तक तेजी

इन 5 दिनों में मिडकैप शेयरों में 31 फीसदी तक रैली देखी गई है. अडानी इंटरप्राइजेज में 31 फीसदी, रिलायंस पावर में 27 फीसदी, रिलायंस कैपिटल में 19 फीसदी, बैंक आफ इंडिया में 19 फीसदी, पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस में 18 फीसदी, एनबीसीसी और अडानी पावर में 15 फीसदी, हाउसिंग एंड अर्बन डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड में 14 फीसदी, इंडियन बैंक में 13 फीसदी, रिलायंस निप्पॉन और केनरा बैंक में 12 फीसदी की तेजी रही है.

5 दिन: SmallCap में 42% तक तेजी

5 दिनों में स्मालकैप में 42 फीसदी तक तेजी रही है. रैमकी इंफ्रा में 42 फीसदी, अक्श आप्टिफाइबर में 39 फीसदी, गोकलदा एक्सपोर्ट में 35 फीसदी, अवध शुगर एंड एनर्जी में 33 फीसदी, बीएफ यूटिलिटीज में 30 फीसदी, वेल्सपन इंटरप्राइजेज में 30 फीसदी, टिमकेन इंडिया लिमिटेड में 29 फीसदी, TIL लिमिटेड में 28 फीसदी, बांबे रेयॉन फैशन लिमिटेड में 27 फीसदी, केईआई इंडस्ट्रीज में 27 फीसदी, बल्लारपुर इंडस्ट्रीज में 26 फीसदी और दिलीप बिल्डकॉन में 25 फीसदी तेजी रही है.

मिडकैप और स्मालकैप में निवेश की सलाह

एपिक रिसर्च के सीईओ नदीम मुस्तफा का कहना है कि पिछले हफ्ते बाजार ने रिकॉर्ड हाई बनाया, फिर हल्की प्रॉफिट बुकिंग देखने को मिली. हालांकि हफ्ते के अंत में बाजार रिकॉर्ड क्लोजिंग पर बंद हुआ. आगे कुछ दिनों की बात करें तो निफ्टी 12100—11500 के दायरे में रहेगा. 11500 के स्तर तक टूटने पर बाजार में एंट्री के नए मौके मिलेंगे. खासतौर से निवेशकों को मिडकैप और स्मालकैप सेग्मेंट से क्वालिटी शेयरों का चुनाव करना बेहतर रहेगा. सेक्टर की बात करें तो बैंक, फाइनेंशिसल और कंस्ट्रक्शन सेक्टर आउटपरफॉर्म कर सकते हैं.

ट्रेड स्विफ्ट के रिसर्च हेड संदीप जैन का कहना है कि आगे मैक्रो एन्वायरमेंट सुधरने और बाजार स्थिर होने पर मिडकैप और स्मालकैप में तेजी आएगी. हालांकि मिडकैप सेग्मेंट में सिर्फ गिरावट देखकर खरीददारी न करें. जिन कंपनियों का बिजनेस मजबूत है, उनमें निवेश कर सकते हैं. उनका कहना है कि स्टेबल सरकार आने के बाद बाजार में तेजी आएगी. हालिया तेजी में लॉर्जकैप ने आउटपरफॉर्म किया है. रैली साइकिल में अब मिडकैप की बारी है. हालांकि यह ध्यान रखना होगा कि वनसाइडेड रैली के बाद बाजार में कुछ प्रॉफिट बुकिंग हो सकती है, जहां खरीददारी के मौके बनेंगे.

VIX में गिरावट से स्टेबिलिटी के संकेत

निफ्टी पर VIX इंडेक्स में पिछले हफ्ते 41 फीसदी गिरावट रही और यह 28.08 से 16.55 के स्तर पर आ गया. एक्सपर्ट का मानना है कि विक्स में बड़ी गिरावट के बाद बाजार में कुछ स्टेबिलिटी के संकेत मिल रहे हैं. अगले कुछ दिनों में मार्केट आउटपरफॉर्म कर सकता है.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop