सर्वाधिक पढ़ी गईं

2018 में म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री का एसेट बेस 1.24 लाख करोड़ रु बढ़ा, SIP और रिटेल इन्वेस्टर्स रहे वजह

दिसंबर 2017 अंत में एसेट्स का  आंकड़ा 22.37 लाख करोड़ रुपये था, जो दिसंबर 2018 के अंत में बढ़कर 23.61 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया.

Updated: Jan 06, 2019 1:15 PM
MFs add Rs 1.24 lakh cr to asset base in 2018 on SIP flows, strong retail participationयह लगातार छठा साल है, जब म्यूचुअल फंड उद्योग के मैनेजमेंट के तहत एसेट्स (AUM) में वृद्धि हुई है.

SIP निवेश में लगातार तेजी और उथल-पुथल भरे बाजार के बाद भी रिटेल इन्वेस्टर्स की मजबूत भागीदारी से वर्ष 2018 में म्यूचुअल फंडों के मैनेजमेंट के तहत एसेट्स 1.24 लाख करोड़ रुपये बढ़ गए.

एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (Amfi) के ताजा आंकड़ों के अनुसार, म्यूचुअल फंड उद्योग द्वारा मैनेज किए जाने वाले एसेट्स दिसंबर, 2018 के अंत तक साल भर पहले के मुकाबले 5.54 फीसदी यानी 1.24 लाख करोड़ रुपये बढ़ गए. दिसंबर 2017 अंत में एसेट्स का  आंकड़ा 22.37 लाख करोड़ रुपये था, जो दिसंबर 2018 के अंत में बढ़कर 23.61 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया.

लगतार छठे साल हुई है वृद्धि

यह लगातार छठा साल है, जब म्यूचुअल फंड उद्योग के मैनेजमेंट के तहत एसेट्स (AUM) में वृद्धि हुई है. हालांकि, 2017 से तुलना करें तो 2018 में वृद्धि की गति सुस्त पड़ी है. वर्ष 2017 में AUM 32 फीसदी यानी 5.4 लाख करोड़ रुपये बढ़े थे.

क्या कहते हैं एक्सपर्ट

क्वांटम म्यूचुअल फंड के मैनेजिंग डायरेक्टर व सीईओ जिम्मी पटेल ने 2018 में म्यूचुअल फंडों की संपत्ति में तेजी का श्रेय रिटेल इन्वेस्टर्स की मजबूत भागीदारी को दिया. उन्होंने कहा कि निवेशकों को शिक्षित बनाने के सेबी के प्रयासों और Amfi इन इंडिया के ‘म्यूचुअल फंड सही है’ अभियान ने भी इसमें मदद की. म्यूचुअल फंडों का मानना है कि नए साल में भी AUM में वृद्धि का रुख जारी रहेगा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. 2018 में म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री का एसेट बेस 1.24 लाख करोड़ रु बढ़ा, SIP और रिटेल इन्वेस्टर्स रहे वजह

Go to Top