मुख्य समाचार:
  1. इन 3 वजहों से मेटल सेक्टर में दिख रही है रिकवरी, मिड टर्म में ये शेयर दे सकते हैं बेहतर रिटर्न

इन 3 वजहों से मेटल सेक्टर में दिख रही है रिकवरी, मिड टर्म में ये शेयर दे सकते हैं बेहतर रिटर्न

एक्सपर्ट आने वाले दिनों में मेटल की डिमांड बढ़ने की उम्मीद जता रहे हैं.

December 7, 2018 6:56 AM
Metal Sector Outlook, Trade war, Slow Demand, China New Year, Mines Close, Metal Supply Shortage Concern, NALCO, HINDALCO, Coa India, JSW Steelएक्सपर्ट आने वाले दिनों में मेटल की डिमांड बढ़ने की उम्मीद जता रहे हैं. (Reuters)

ट्रेड वार और ग्लोबल स्लोडाउन के चलते मेटल शेयरों में लगातार गिरावट है. नवंबर में टॉप लूजर्स सेक्टर रहने के बाद दिसंबर में भी दबाव दिख रहा है. पिछले ट्रेडिंग सेशन में इंट्राडे के दौरान इंडेक्स करीब 2.5 फीसदी गिरावट के साथ 17 महीनों के लो पर पहुंच गया, इस दौरान कुछ शेयर भी अपने 52 हफ्तों के लो पर आ गए. हालांकि एक्सपर्ट आने वाले दिनों में डिमांड बढ़ने की उम्मीद जता रहे हैं. इसके पीछे जनवरी मिडडे से चाइना न्यू ईयर शुरू होने को भी वजह बता रहे हैं.

1 माह में 10% टूटा इंडेक्स

पिछले एक माह की बात करें तो निफ्टी मेटल इंडेक्स में 10 फीसदी से ज्यादा गिरावट आई है. इस दौरान मेटल शेयरों में 20 फीसदी तक गिरासवट दर्ज हुई. सबसे ज्यादा गिरावट SAIL में 20%, NMDC में 19.25%, जिंदल स्टील में 18.40%, JSW स्टील में 13.47%, वेदांता में 12.20% और NALCO में 11.07% रही है.कोल इंडिया और हिंदुस्तान कॉपर में भी करीब 9% गिरावट रही है.

मेटल सेक्टर में गिरावट के ये रहे हैं कारण 

ट्रेड वार और ग्रोथ अनसर्टेनिटी की वजह से दुनियाभर में मेटल की डिमांड कमजोर रही है. कोटक इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज के मुताबिक चीन में रीयल एस्टेट सेक्टर में मंदी की वजह से स्टील की डिमांड सुस्त रही. चीन में रीयल एस्टेट सेक्टर में देश के कुल कंजम्पशन का 40 फीसदी स्टील इस्तेमाल होता है. ब्रोकरेज हाउस मॉर्गन स्टैनली के अनुसार इंडियन स्टील कंपनीज का वैल्युएशन हाई होने की वजह से भी करेक्शन देखने को मिला है.

इन वजहों से बेहतर दिख रहा है आउटलुक    

चाइना न्यू ईयर

केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर अजय केडिया के मुताबिक चाइना न्यू ईयर 20 जनवरी से शुरू हो रहा है, जिस दौरान वहां 20 दिनों की छुट्टियां शुरू हो जाएंगी. चीन में न्यू ईयर के पहले पुराने सभी ऑर्डर पूरे करने का ट्रेंड होता है. ऐसे में जनवरी के पहले हफ्ते से डिसपैच एक्टिविटी शुरू हो जाती है. इस वजह से बॉइंग बढ़ने से मेटल की कीमतों को बड़ा सपोर्ट मिल सकता है.

एन्वायरनमेंट इश्यू 

मेटल के सबसे बड़े प्रोड्यूसर देशों में शामिल चीन सहित कुछ देशों में पल्यूशन बढ़ने के चलते उन यूनिट को बंद किया जा रहा है, जिसे लेकर एन्वायरनमेंट कंसर्न है. कई ऐसी यूनिट 2 से 3 माह के लिए बंद हुई हैं. कुछ बड़े मेटल प्रोड्यूसर देशों में दिसंबर शुरू होने के साथ ही कुछ दिनों के लिए प्रोडक्शन बंद हो जाता है. इससे आने वाले दिनों में कॉपर, जिंक और निकल जैसे मेटल की डिमांड के हिसाब से सप्लाई घट सकती है. जिससे कीमतों को सपोर्ट मिलेगा.

गिरावट के बाद वाजिब वैल्युएशन

गिरावट के बाद भी मेटल सेक्टर में कुछ बेहतर शेयरों का वैल्युएशन बेहतर दिख रहा है. ऐसे में गिरावट के बाद खरीददारी देखी जा सकती है.

किन शेयरों में निवेश की सलाह

अजय केडिया ने NALCO में 6 महीने के लिए 20 फीसदी ग्रोथ के साथ निवेश की सलाह दी है. वहीं, हिंडाल्को में अगले 6 महीने में करीब 18 फीसदी ग्रोथ के साथ निवेश की सलाह दी है.

ब्रोकरेज हाउस सेंट्रम ने भी हिंडाल्को में 340 रुपये का लक्ष्य दिया है. शेयर का करंट प्राइस 218 रुपये है.

कोल इंडिया में ब्रोकरेज हाउस प्रभुदास लीलाधर ने 330 रुपये का लक्ष्य दिया है. शेयर का करंट प्राइस 240 रुपये है.

NMDC में ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने 175 रुपये का लक्ष्य रखा है शेयर का करंट प्राइस 92 रुपये है.

JSW स्टील में ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने 444 रुपये का लक्ष्य रखा है शेयर का करंट प्राइस 305 रुपये है.

(नोट-निवेश की सलाह एक्सपर्ट्स व ब्रोकरेज हाउस के द्वारा दी गई हैं. कृपया अपने स्तर पर या अपने एक्सपर्ट्स के जरिए किसी भी तरह की सलाह की जांच कर लें. मार्केट में निवेश के अपने जोखिम हैं, इसलिए सतर्कता जरूरी है.)

Go to Top